कंदरौर पुल की हालत पर लोगों की नाराजगी, विपक्ष के तेवरों से हरकत में आई सरकार

Hamirpur News - शिमला-हमीरपुर नेशनल हाईवे पर कंदरौर पुल की दयनीय हालत की वजह से लोगों में बढ़ रही नाराजगी के साथ ही विपक्ष के तेवरों...

Jan 16, 2020, 07:20 AM IST
Hamirpur News - people39s displeasure over the condition of kandorur bridge the government swung into action by opposition
शिमला-हमीरपुर नेशनल हाईवे पर कंदरौर पुल की दयनीय हालत की वजह से लोगों में बढ़ रही नाराजगी के साथ ही विपक्ष के तेवरों ने सरकार को हरकत में आने पर मजबूर कर दिया है। युकां ने पुल का मरम्मत कार्य एक सप्ताह के भीतर शुरू न होने की स्थिति में आंदोलन की चेतावनी दी है। इस अल्टीमेटम के बुधवार को सदर के विधायक सुभाष ठाकुर ने एनएचएआई और पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों के साथ पुल का जायजा लेकर उन्हें आवश्यक दिशा- निर्देश दिए। उन्होंने पुल की रिपेयर में देरी का कारण 3 बार आॅनलाइन टेंडर काॅल करने के बावजूद ठेकेदारों द्वारा अप्लाई न करना भी बताया।

टारिंग उखड़ने से पुल पर है गड्ढों की भरमार: साठ के दशक में भाखड़ा बांध के निर्माण के बाद निर्मित कंदरौर में सतलुज पर निर्मित पुल की लंबे अरसे से मरम्मत नहीं हो पाई है। किसी समय एशिया में सबसे ऊंचा पुल होने का रिकाॅर्ड अपने नाम करने वाले इस पुल से छलांग लगाकर खुदकुशी के मामले लगातार सामने आने पर उन्हें रोकने के लिए दोनों ओर रेलिंग पर ऊंची जाली तो लगा दी गई है, लेकिन पुल की रिपेयर की ओर ध्यान नहीं दिया गया। टारिंग उखड़ने से पुल पर जगह-जगह गड्ढे बन गए हैं। उबड़-खाबड़ पुल पर जहां दोपहिया वाहनों के अनियंत्रित होकर दुर्घटनाग्रस्त होने का खतरा रहता है, वहीं चौपहिया वाहन भी हिचकोले खाते हुए चलते हैं। इससे उनके कलपुर्जे अक्सर टूटते रहते हैं। इतना ही नहीं, बारिश होने पर पानी की निकासी के अभाव में कंदरौर पुल किसी तालाब की तरह नजर आता है। इससे राहगीरों को उसे पार करना मुश्किल हो जाता है।

इस मौके पर लोनिवि के एक्सईएन वीएन पराशर, एनएचएआई के साइट इंजीनियर अजय और राकेश ठाकुर, रामकृष्ण, सदाराम, कैप्टन जिंदू राम, लेखराम, जितेंद्र आदि भी मौजूद थे।

पुल के निरीक्षण के दौरान अधिकारियों को दिशा-निर्देश देते सुभाष ठाकुर।

युकां ने दी थी आंदोलन की चेतावनी...कंदरौर पुल की हालत सुधारने की मांग विभिन्न संगठनों की ओर से लंबे अरसे से उठाई जा रही है। यहां तक कि प्रशासन को कई बार ज्ञापन भी सौंपे जा चुके हैं। मंगलवार को युवा कांग्रेस ने पुल की रिपेयर के लिए एक सप्ताह का अल्टीमेटम दिया है। युकां ने दो टूक चेतावनी दी है कि तय समय के भीतर पुल का रिपेयर वर्क शुरू न होने की स्थिति में लोगों को साथ लेकर आंदोलन किया जाएगा। इसके तहत मंत्रियों, विधायकों और अफसरों के वाहन पुल से नहीं गुजरने दिए जाएंगे। अब इसे अल्टीमेटम का असर कहें या महज इत्तेफाक, लेकिन दूसरे ही दिन सदर के विधायक सुभाष ठाकुर अधिकारियों के साथ पुल का निरीक्षण करने कंदरौर पहुंच गए।

पानी की निकासी की तुरंत करें व्यवस्था...सुभाष ठाकुर ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कंदरौर पुल पर एकत्रित होने वाले पानी की निकासी के लिए तुरंत व्यवस्था की जाए। साथ ही पुल पर मैस्टिक एसफाल्ट बिछाने के लिए एस्टीमेट बनाकर उसे भी तुरंत प्रभाव से उच्चाधिकारियों को भेजा जाए। उन्होंने कहा कि वाहन चालकों और राहगीरों की समस्या के समाधान की दृष्टि से कंदरौर पुल की टारिंग व गड्ढों की रिपेयर के लिए 16 लाख रुपये मंजूर करवाए गए हैं। इसके लिए 3 बार आॅनलाइन टेंडर काॅल किए गए, लेकिन किसी भी ठेकेदार ने अप्लाई नहीं किया। अब चौथी बार फिर से रिपेयर वर्क के लिए टेंडर काॅल किए गए हैं। यह काम जल्द करके पुल की हालत सुधार दी जाएगी।

X
Hamirpur News - people39s displeasure over the condition of kandorur bridge the government swung into action by opposition
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना