Hindi News »Business» Petrol, Diesel GST With Vat

अगर पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया गया तो 28% टैक्स के साथ वैट भी वसूल सकते हैं राज्य

वैट के मामले में अंडमान निकोबार द्वीप समूह सबसे पीछे हैं, जहां पेट्रोल-डीजल पर 6% बिक्रीकर वसूला जाता है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 20, 2018, 06:35 PM IST

अगर पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया गया तो 28% टैक्स के साथ वैट भी वसूल सकते हैं राज्य

- पेट्रोल पर केंद्र सरकार 19.48 रुपए और डीजल पर 15.33 रुपए/लीटर एक्साइज ड्यूटी लगाती है
- पेट्रोल पर कुल 45% से 50% और डीजल पर 35% से 40% टैक्स वसूला जा रहा है

- जीएसटी के साथ 27% वैट भी लग जाए तो दिल्ली में 11 रुपए सस्ता हो सकता है पेट्रोल

नई दिल्ली. सरकार ने संकेत दिए हैं कि अगर पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया गया तो 28% टैक्स स्लैब के साथ राज्य इस पर लोकल सेल्स टैक्स या वैट भी लगा सकते हैं। पेट्रोल-डीजल पर नया कर ढांचा भी मौजूदा व्यवस्था की तरह ही होगा, जिसमें केंद्र सरकार एक्साइज ड्यूटी और राज्य सरकारें वैट लगाती हैं।
सरकार के एक अधिकारी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि पेट्रोल और डीजल पर दुनिया में कहीं भी प्योर जीएसटी नहीं लगता। भारत में भी यह जीएसटी और वैट का कॉम्बिनेशन ही होगा। पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी में शामिल करने की टाइमिंग राजनीतिक तौर पर अहम होगी, जिसका फैसला केंद्र और राज्यों दोनों को मिलकर लेना होगा।

जीएसटी और वैट, दोनों क्यों लगेगा : अधिकारी ने बताया कि केंद्र के पास राज्यों के राजस्व नुकसान की भरपाई करने के लिए फंड नहीं है। लिहाजा, पेट्रोल-डीजल के मामले में रास्ता यही है कि जीएसटी का 28% का पीक रेट लगाया जाए और इसके साथ ही राज्यों को भी वैट लगाने दिया जाए। इस प्रक्रिया में इस बात का ध्यान जरूर रखा जाएगा कि जीएसटी और वैट लगने के बाद उपभोक्ताओं के लिए पेट्रोल-डीजल के रेट मौजूदा दरों से ज्यादा न हो जाएं।

अभी : 76.27 रुपए के पेट्रोल में 46% टैक्स
रिफाइनिंग के बाद डीलर को बेचे गए पेट्रोल की कीमत
: 36.96 रुपए प्रति लीटर
डीलर कमीशन : 3.62 रुपए
एक्साइज ड्यूटी : 19.48 रुपए
दिल्ली में 27% वैट : 16.21 रुपए
कुल टैक्स (एक्साइज+वैट) : 35.69 रुपए
आम लोगों को मिलने वाले पेट्रोल का रेट: 76.27 रुपए
(आंकड़े दिल्ली के और 20 जून की स्थिति के मुताबिक)

अगर जीएसटी और वैट लगा, तब भी दिल्ली में 11 रुपए तक सस्ता हो सकता है पेट्रोल
रिफाइनिंग के बाद डीलर को बेचे गए पेट्रोल की कीमत
: 36.96 रुपए प्रति लीटर
डीलर कमीशन : 3.62 रुपए
28% का अधिकतम जीएसटी : 10.34 रुपए
दिल्ली में 27% वैट : 13.74 रुपए
कुल टैक्स (जीएसटी+वैट) : 24.08 रुपए
इस स्थिति में आम लोगों को मिलने वाले पेट्रोल का रेट : 64.66 रुपए

अगर सिर्फ जीएसटी लगाया जाए और वैट न लगे तो पेट्रोल का रेट : 50.92 रुपए

पेट्रोल पर 19.48 रुपए/लीटर एक्साइज वसूलता है केंद्र : केंद्र सरकार अभी पेट्रोल पर 19.48 रुपए और डीजल पर 15.33 रुपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी वसूलती है। मुंबई में पेट्रोल पर सबसे ज्यादा 39.12% वैट वसूला जाता है, जबकि तेलंगाना में डीजल पर सबसे ज्यादा 26% वैट वसूला जाता है। दिल्ली पेट्रोल पर 27% और डीजल पर 17.24% वैट वसूलता है। इस प्रकार पेट्रोल पर कुल 45% से 50% और डीजल पर 35% से 40% टैक्स वसूला जाता है। राज्यों द्वारा वसूले जाने वाले वैट के मामले में अंडमान निकोबार द्वीप समूह सबसे पीछे है, जहां दोनों फ्यूल्स पर 6% सेल्स टैक्स वसूला जाता है।

जीएसटी के बाद खास नहीं बदलीं कीमतें : सरकार का मानना है कि पेट्रोल और डीजल पर मौजूदा टैक्स पहले ही पीक रेट से ज्यादा हो चुका है। अगर नई व्यवस्था में जीएसटी 28% से कम रहेगा और वैट नहीं लगेगा तो इससे केंद्र और राज्यों दोनों को भारी नुकसान होगा। 2014-15 में पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज से केंद्र सरकार को 99,184 करोड़ रुपए की कमाई हुई थी। 2017-18 में यह कमाई बढ़कर 2,29,019 करोड़ रुपए हो गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×