अधिकारियों के िबना िवकास की राह भूला पिंजौर नगर निगम क्षेत्र

Panchkula Bhaskar News - नगरपालिका भंग होने के बाद 2010 में हरियाणा सरकार ने पिंजौर, कालका नगरपालिकाओं समेत करीब 27 पचांयतों को पचंकूला के साथ...

Sep 14, 2019, 07:36 AM IST
Pinjore News - pinjore municipal corporation area forgotten the path of development without officials
नगरपालिका भंग होने के बाद 2010 में हरियाणा सरकार ने पिंजौर, कालका नगरपालिकाओं समेत करीब 27 पचांयतों को पचंकूला के साथ मिलाकर नगर निगम बनाया था। नगर निगम को बने हुए 9 वर्ष हो चुके हैं फिर भी पिंजौर, कालका नगर निगम क्षेत्र में विकास कार्य नगरपालिका स्तर के भी नहीं हो पाए हैं, नगर निगम तो दूर की बात है। आज भी निगम क्षेत्र में रहने वाले लोग सुविधाओं से वंचित हैं, आज भी कई जगह लोगाें को नगर निगम क्षेत्र में रहने के बावजूद पक्की सड़कें, स्ट्रीट लाइट्स आदि भी नसीब नहीं हो पाई। निगम क्षेत्र में काम प्रभावित होने का कारण नगर निगम में स्टाफ की कमी है। निगम कार्यालय में मिली जानकारी के अनुसार कार्यालय में जिन पर जिम्मेवारी है वो अधिकारी ही परमानेंट नहीं है, बल्कि उनकी जगह पर या तो अतिरिक्त कार्यभार दिया हुआ है या फिर अभी तक उनकी जगह पर किसी को भेजा ही नहीं गया। आरोप है कि कार्यालय में जो अधिकारी हैं वो सीट से ज्यादातर गायब ही रहते हंै। पिंजौर नगर निगम कार्यालय के अंतर्गत वार्ड 3, 4, 5 और 6 आते हैं इन चारों वार्डों में हजारों घर है। वार्डों में प्रभावित हो रहे काम निगम कार्यालय में स्टाफ की कमी के कारण है। पिंजौर निगम कार्यालय में जेडटीओ की पोस्ट है, परन्तु करीब एक वर्ष से ज्यादा हो गया अभी तक जेेडटीओ ही नहीं है। जिस कारण कालका निगम कार्यालय के जेडटीओ को यहां का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा हुआ है, परन्तु कालका के जेडटीओ पिंजौर में कम ही आते हैं। इसके अलावा पिछले करीब 3 माह से पिंजौर निगम कार्यालय में एमई भी नहीं है। बिल्डिंग इंस्पेक्टर का भी तबादला हो गया। अभी गत माह को ही बराड़ा के बीआई को यहां का अतिरिक्त कार्यभार दिया गया। वो भी सप्ताह में केवल दो दिन के लिए ही आते हैं। नगर निगम में सीवल काम के लिए दो जेई हैं वो भी सीट पर कम ही दिखाई देते हैं। ऐसे में पिंजौर कार्यालय में काम प्रभावित हो रहे हैं।

गुस्साए लोग बोले- जो स्टाफ है वह भी कुर्सी पर नजर नहीं आता

गलियों और नालियों की कोई भी सुध नहीं ले रहा, क्षेत्र में बढ़ रही एन्क्रोचमेंट

पिंजौर में उक्त अधिकारियों के न होने से टूटी हुई गलियों व नालियों की कोई भी सुध नहीं ले रहा। इसके अलावा नगर निगम की सरकारी जमीन पर कुछ लोगों द्वारा धड़ल्ले से अतिक्रमण किया जा रहा है। गलियों के रास्ते में ही इतने ज्यादा कब्जे हो गए हैं कि लोगों का निकलना भी मुश्किल हो रहा है। लोगों को जन्म व मृत्यु प्रमाणपत्र समेत कई अन्य कामों के लिए परेशान होना पड़ रहा है।

Pinjore News - pinjore municipal corporation area forgotten the path of development without officials
X
Pinjore News - pinjore municipal corporation area forgotten the path of development without officials
Pinjore News - pinjore municipal corporation area forgotten the path of development without officials
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना