Hindi News »Business» PNB To Close Most Operations In Brady House Branch In Mumbai

पीएनबी मुंबई स्थित ब्रेडी हाउस ब्रांच को बंद कर सकता है, यहीं से हुआ था 13,000 करोड़ का घोटाला

बड़े ग्राहकों के खाते दूसरी शाखाओं में ट्रांसफर करना शुरू।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jul 03, 2018, 06:37 PM IST

पीएनबी मुंबई स्थित ब्रेडी हाउस ब्रांच को बंद कर सकता है, यहीं से हुआ था 13,000 करोड़ का घोटाला

मुंबई. पंजाब नेशनल बैंक मुंबई स्थित ब्रेडी हाउस शाखा से चल रहे ज्यादातर ऑपरेशंस को बंद करेगी। सभी बड़े ग्राहकों के खाते दूसरी शाखा में ट्रांसफर किए जाएंगे। सूत्रों के मुताबिक इसकी शुरुआत हो चुकी है और कुछ कर्मचारियों को भी ट्रांसफर किया जा रहा है। रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार ब्रेडी हाउस ब्रांच में सिर्फ छोटे रिटेल ऑपरेशंस रखे जाएंगे। बताया जा रहा है कि इस शाखा को बाद में बंद भी किया जा सकता है। ऐसा करने की वजह नीरव मोदी का घोटाला है जो ब्रेडी हाउस शाखा से ही हुआ था। 13,000 करोड़ से ज्यादा के घोटाले का खुलासा इस साल जनवरी में हुआ था। इसके बाद से अब तक पीएनबी की मार्केट वैल्यू घटकर आधी से भी कम रह गई है। पंजाब नेशनल बैंक की ब्रेडी हाउस शाखा के कुछ कर्मचारियों ने डायमंड कारोबारी नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चौकसी को फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स जारी किए। 2011 से 2017 के बीच ये घोटाला हुआ।

नीरव मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी: पीएनबी घोटाले में नीरव मोदी के खिलाफ इंटरपोल ने सोमवार को रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर दिया। इंटरपोल अपने सदस्य देशों की अपील पर किसी भगोड़े अपराधी के खिलाफ ये नोटिस जारी करता है। इसके जरिए वो अपने 192 सदस्य देशों को जानकारी देता है कि आरोपी उनके वहां देखा जाए तो उसे गिरफ्तार कर लिया जाए या हिरासत में ले लिया जाए जिससे प्रत्यर्पण की कार्रवाई शुरू की जा सके। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इंटरपोल से नीरव मोदी के खिलाफ नोटिस जारी करने की अपील की थी। पीएनबी घोटाले में ईडी मनी लॉन्ड्रिंग की जांच कर रहा है। न्यूज एजेंसी के मुताबिक नीरव के भाई निशाल और उसकी कंपनी के अधिकारी सुभाष परब के खिलाफ भी रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया है। नीरव मोदी फिलहाल ब्रिटेन में है। वहां की सरकार ने जून में भारत को इसकी जानकारी दी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×