रोजाना घर के बाहर खड़े होकर पोस्टमैन के आने का इंतजार करती थी डॉगी, शख्स को भी था उससे बेहद प्यार

डॉगी की मौत के बाद पोस्टमैन ने पूरी की उसकी आखिरी ख्वाहिश, वायरल हो रही स्टोरी

dainikbhaskar.com

Apr 17, 2019, 07:38 PM IST
Postman fulfills the final wish of a Dog on his route who passed away

टेक्सास. अमेरिका में रहने वाली एक फैमिली के पास जर्मन शेफर्ड प्रजाति का पालतू डॉगी था, हाल ही में जिसकी मौत हो गई। इसके बाद उसकी याद में उस फैमिली ने ऐसा कुछ किया, जिसे जानकर लोग इमोशनल हो रहे हैं। उस फैमिली ने एक पोस्टमैन को एक चिट्ठी के साथ एक बैग दिया, जिसमें डॉगी की ओर से उसकी आखिरी ख्वाहिश बताई गई थी। ये पोस्टमैन उस मोहल्ले में रोजाना आता था, और वहां रहने वाले सभी डॉगीज के खाने के लिए कुछ ना कुछ लाता था। इसी वजह से उस फैमली के डॉगी को भी पोस्टमैन से काफी लगाव हो गया था और वो रोज उसका इंतजार करता था। इस स्टोरी को पोस्टमैन की बेटी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया।

रोजाना पोस्टमैन का इंतजार करता थी ग्रेचेन...

- ये स्टोरी अमेरिका के टेक्सास में रहने वाली सिमिनोस फैमिली, उनके जर्मन शेफर्ड ब्रीड के डॉगी ग्रेचेन और एक पोस्टमैन फर्नांडो बारबोजा की है। ग्रेचेन की मौत इस साल 13 मार्च को हो गई थी। सिमिनोस फैमिली ने ग्रेचेन को साल 2013 में गोद लिया था। उसके बाद से ही वो इस फैमिली में एक मेंबर की तरह थी।
- सिमिनोस फैमिली के मुताबिक ग्रेचिन की यूं तो किसी से ज्यादा पटती नहीं थी, लेकिन वो मोहल्ले में रोजाना आने वाले एक पोस्टमैन फर्नांडो बारबोजा को काफी पसंद करती थी। क्योंकि बारबोजा हमेशा अपने साथ एक बैग लेकर चलता था, जिसमें वो डॉगीज के खाने के लिए कुछ ना कुछ रखता था।
- इस बारे में बारबोजा का कहना है कि जब भी मैं डाक देने के लिए किसी के घर जाता हूं तो वहां मिलने वाले डॉगी को भी मैं कुछ खाने का सामान जरूर देता हूं। क्योंकि मेरा मानना है कि वो भी उसी फैमिली के सदस्य हैं। अपने इसी नियम की वजह से ग्रेचेन से भी बारबोजा की दोस्ती हो गई।
- पोस्टमैन के अलावा ग्रेचेन की दोस्ती किसी अन्य बाहरी शख्स से नहीं थी। ये बात सिमिनोस फैमिली को भी अच्छे से पता थी। ग्रेचेन, पोस्टमैन को इतना पसंद करती थी कि रोजाना उसके मोहल्ले में आने का इंतजार करती थी। यहां तक कि वो उसके ट्रक की आवाज भी पहचानती थी।
- बारबोजा के ट्रक की आवाज सुनते ही वो उछलने लग जाती, क्योंकि उसे पता रहता था कि जल्द ही उसे उसकी ट्रीट मिलने वाली है। हालांकि उसकी मौत के बारे में पता चलने पर पोस्टमैन को काफी झटका लगा।

फैमिली ने पोस्टमैन को इस तरह बताई आखिरी इच्छा

- पोस्टमैन ने बताया कि उस दिन जब मैं ग्रेचेन के घर के बाहर पहुंचा तो वहां एक बड़ा सा पार्सल रखा हुआ था, जिसके अंदर डॉगीज के खाने का ढेर सारा सामान रखा हुआ था। साथ ही उस पर एक लेटर भी रखा था, जो कि ग्रेचेन की फैमिली ने मेरे लिए रखा था।
- पोस्टमैन को मिले मैसेज में लिखा था, 'कल ग्रेचेन की मौत हो गई। मरने से पहले उसने आपके लिए मुझसे कहा था कि क्या आप अपने रास्ते में मिलने वाले डॉगीज को उसकी ये सारी चीजें बांट सकते हैं, जिन्हें वो कभी उनके साथ शेयर नहीं कर सकी। आपको घर आता देखकर उसे हमेशा खुशी होती थी, साथ ही आपसे ट्रीट पाकर भी वो बेहद खुश होती थी। आपका धन्यवाद'
- इसके बाद बारबोजा रास्ते में मिलने वाले डॉगीज को रोजाना उस बैग में से ग्रेचेन की ओर से ट्रीट देने लगा। पोस्टमैन के मुताबिक वो जब भी ऐसा करता है तो डॉगीज को ये भी बताता है कि ये ग्रेचेन की ओर से गिफ्ट है। इस छोटे से कदम ने ग्रेचेन के परिवार और उसके प्यारे दोस्त बारबोजा को उसके जाने के दुख को भुलाने में काफी मदद की।
- बारबोजा पोस्टमैन का ये भी कहना है कि जब भी वो सिमिनोस परिवार के घर के पास से गुजरता है तो उसे ग्रेचेन की बहुत याद आ जाती है, लेकिन अब वो वहां उसका इंतजार करता हुआ नहीं मिलता। लेकिन वो उसके दिल में हमेशा रहेगा।

पोस्टमैन की बेटी की शेयर की पोस्ट...



Postman fulfills the final wish of a Dog on his route who passed away
Postman fulfills the final wish of a Dog on his route who passed away
X
Postman fulfills the final wish of a Dog on his route who passed away
Postman fulfills the final wish of a Dog on his route who passed away
Postman fulfills the final wish of a Dog on his route who passed away
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना