यूनिवर्सिटी में 11 वर्ष से अस्तित्व में नहीं आया प्रमोशन रेगुलेशन

News - राज्य के विश्वविद्यालयों में वर्ष 2008 के बाद यूनिवर्सिटी शिक्षकों का नया प्रमोशन रेगुलेशन आज तक अस्तित्व में नहीं...

Nov 11, 2019, 07:26 AM IST
राज्य के विश्वविद्यालयों में वर्ष 2008 के बाद यूनिवर्सिटी शिक्षकों का नया प्रमोशन रेगुलेशन आज तक अस्तित्व में नहीं आया है। रांची विवि पीजी शिक्षक संघ के महासचिव डॉ. एलके कुंदन ने कहा कि यह स्थिति तब है तब है यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) द्वारा समय पर शिक्षकों का प्रमोशन रेगुलेशन जारी किया गया है। इस रेगुलेशन के अनुरूप नियम बनाने में भी सरकार विफल रही है। इससे वर्ष 1993, 1996 और 2008 में नियुक्त शिक्षकों का समय पर प्रमोशन नहीं पा रहा है। डॉ. कुंदन ने कहा कि प्रमोशन नहीं मिलने के चलते शिक्षक अपमानित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यूजीसी प्रमोशन रेगुलेशन 2008 के अनुसार रीडर से प्रोफेसर पद प्रमोशन के लिए तीन आईएसएसएन नंबर युक्त जर्नल में रिसर्च पेपर प्रकाशित होना चाहिए था। अब 2019 के यूजीसी प्रमोशन रेगुलेशन के अनुसार प्रोफेसर पद पर प्रमोशन के लिए 10 रिसर्च पेपर का होना जरुरी है, यूजीसी लिस्टेड जर्नल में प्रकाशित हो। शिक्षकों को 2008 के यूजीसी प्रमोशन रेगुलेशन के अनुसार तैयारी पूरी कर ली थी। लेकिन प्रमोशन रेगुलेशन अस्तित्व में नहीं आने के चलते प्रोन्नति नहीं मिल सकी। नए अर्हता को पूरा करने में शिक्षकों को काफी समय लग जाएगा। ऐसी स्थिति में जिन शिक्षकों को प्रमोशन ड्यू है, उन्हें नए नियम से प्रमोशन देना नैसर्गिक न्याय के विरुद्ध होगा। शिक्षकों को पहले के रेगुलेशन से प्रमोशन देने की मांग की है। ताकि शिक्षकों का न्याय मिल सके।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना