Hindi News »Business» PSU Garden Reach Shipbuilders IPO Gets Sebi Go Ahead

गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स के आईपीओ को सेबी की मंजूरी, सरकार 17.5% हिस्सेदारी घटाएगी

आईडीबीआई कैपिटल मार्केट एंड सिक्योरिटीज, यस सिक्योरिटीज (इंडिया) मर्चेंट बैंकर होंगे

DainikBhaskar.com | Last Modified - May 28, 2018, 06:09 PM IST

  • गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स के आईपीओ को सेबी की मंजूरी, सरकार 17.5% हिस्सेदारी घटाएगी
    +1और स्लाइड देखें
    गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स आईपीओ के लिए 2.4 करोड़ शेयर जारी करेगी।- फाइल

    नई दिल्ली. सरकारी कंपनी गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स को आईपीओ के लिए सेबी की मंजूरी मिल गई है। कंपनी ने 26 मई को कागजात दाखिल किए थे। इनीशियल पब्लिक ऑफर के लिए आईडीबीआई कैपिटल मार्केट एंड सिक्योरिटीज और यस सिक्योरिटीज (इंडिया) मर्चेंट बैंकर होंगे। बीएसई और एनएसई पर कंपनी लिस्ट होगी।

    सरकार 17.5% हिस्सा घटाएगी

    आईपीओ के जरिए सरकार अपनी 17.5% हिस्सेदारी बेचेगी। पब्लिक सेक्टर कंपनियों की वैल्यू बढ़ाने के लिए सरकार आईपीओ ला रही है।

    विनिवेश से 80,000 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य
    सरकारी कंपनियों में अपना हिस्सा बेचकर सरकार ने चालू वित्त वर्ष में 80,000 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य तय किया है। इसी महीने रेल विकास निगम के आईपीओ को भी सेबी की मंजूरी मिली है। इंडियन रिन्यूबल एनर्जी डवलपमेंट एजेंसी लिमिटेड और राइट्स लिमिटेड को फरवरी में ही मंजूरी मिल चुकी है। इस साल सरकार हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स और भारत डायनामिक्स लिमिटेड में भी अपनी हिस्सेदारी कम कर चुकी है।

  • गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स के आईपीओ को सेबी की मंजूरी, सरकार 17.5% हिस्सेदारी घटाएगी
    +1और स्लाइड देखें
    चालू वित्त वर्ष में विनिवेश से सरकार का 80,000 जुटाने का लक्ष्य।- फाइल
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: PSU Garden Reach Shipbuilders IPO Gets Sebi Go Ahead
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×