पुणे: गणेश विसर्जन के दौरान एंबुलेंस आती देख हजारों भक्तों ने रास्ता दिया

News - फोटो स्कैन करें और वीडियो देखें पुणे | महाराष्ट्र में पुणे के लक्ष्मी रोड पर गुरुवार को गणेश प्रतिमा की विसर्जन...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:27 AM IST
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
फोटो स्कैन करें और वीडियो देखें

पुणे | महाराष्ट्र में पुणे के लक्ष्मी रोड पर गुरुवार को गणेश प्रतिमा की विसर्जन यात्रा निकाली गई। इसमें हजारों भक्त शामिल हुए। इस दौरान सड़क पर किसी भी वाहन के निकलने की जगह नहीं थी। इस बीच लोगों को एंबुलेंस के सायरन की आवाज सुनाई दी। इस दौरान एंबुलेंस आगे बढ़ती गई और लोग रास्ते से हटते गए। इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है। जिसकी सोशल मीडिया पर खूब तारीफ हो रही है।

उन्नाव दुष्कर्म मामला: एम्स में लगी काेर्ट में पीड़िता के बयान पूरे हुए

उन्नाव दुष्कर्म मामला: एम्स में लगी काेर्ट में पीड़िता के बयान पूरे हुए

एजेंसी|नई दिल्ली. उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता ने एम्स में लगाई गई अस्थायी काेर्ट में अपना बयान दर्ज कराया और इसके साथ ही बयान दर्ज कराने की प्रक्रिया शुक्रवार को पूरी हो गई। पीड़िता ने भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सेंगर पर 2017 में दुष्कर्म करने का अाराेप लगाया था। उस समय वह नाबालिग थी। सुनवाई के संबंध में एक वकील ने बताया कि व्हील चेयर पर पहुंची पीड़िता ने जयप्रकाश नारायण एपेक्स ट्रॉमा सेंटर के सम्मेलन कक्ष में ‘बंद कमरे’ में हुई सुनवाई के दौरान जिला जज धर्मेश शर्मा के सामने गवाही दी। इससे पहले गुरुवार काे व्ह स्ट्रेचर पर अाई थी।

एजेंसी|नई दिल्ली. उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता ने एम्स में लगाई गई अस्थायी काेर्ट में अपना बयान दर्ज कराया और इसके साथ ही बयान दर्ज कराने की प्रक्रिया शुक्रवार को पूरी हो गई। पीड़िता ने भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सेंगर पर 2017 में दुष्कर्म करने का अाराेप लगाया था। उस समय वह नाबालिग थी। सुनवाई के संबंध में एक वकील ने बताया कि व्हील चेयर पर पहुंची पीड़िता ने जयप्रकाश नारायण एपेक्स ट्रॉमा सेंटर के सम्मेलन कक्ष में ‘बंद कमरे’ में हुई सुनवाई के दौरान जिला जज धर्मेश शर्मा के सामने गवाही दी। इससे पहले गुरुवार काे व्ह स्ट्रेचर पर अाई थी।

राम सिया... सीरियल में तथ्याें से छेड़छाड़ का अाराेप, कलर चैनल से जवाब मांगा

राम सिया... सीरियल में तथ्याें से छेड़छाड़ का अाराेप, कलर चैनल से जवाब मांगा

नई दिल्ली| सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने कलर चैनल को ‘राम सिया के लव कुश’ को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है और चैनल से 15 दिन के अंदर जवाब देने अाैर पेश होने के लिए कहा है। इस नोटिस में लिखा है, ‘शो में दिखाया जाता है कि भगवान श्रीराम लव और कुश से मिलने के लिए महर्षि वाल्मीकि के आश्रम जाते हैं, जोकि सच नहीं है। राम लव और कुश से अश्वमेध के दौरान मिले थे, जब दोनों ने राम द्वारा छोड़ा गया अश्वमेध यज्ञ का घोड़ा पकड़ लिया था।’ वाल्मीकि समुदाय इसपर प्रतिबंध लगाने की मांग कर रहा है।

नई दिल्ली| सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने कलर चैनल को ‘राम सिया के लव कुश’ को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है और चैनल से 15 दिन के अंदर जवाब देने अाैर पेश होने के लिए कहा है। इस नोटिस में लिखा है, ‘शो में दिखाया जाता है कि भगवान श्रीराम लव और कुश से मिलने के लिए महर्षि वाल्मीकि के आश्रम जाते हैं, जोकि सच नहीं है। राम लव और कुश से अश्वमेध के दौरान मिले थे, जब दोनों ने राम द्वारा छोड़ा गया अश्वमेध यज्ञ का घोड़ा पकड़ लिया था।’ वाल्मीकि समुदाय इसपर प्रतिबंध लगाने की मांग कर रहा है।

भीमा-काेरेगांव हिंसा : गौतम नवलखा की एफअाईअार रद्द करने की मांग ठुकराई

एजेंसी|मुंबई.बाॅम्बे हाईकाेर्ट ने महाराष्ट्र में भीमा-काेरेगांव हिंसा से जुड़े मामले में नागरिक अधिकार कार्यकर्ता गाैतम नवलखा के खिलाफ दर्ज एफअाईअार काे रद्द करने की मांग ठुकरा दी है। हाईकाेर्ट के जस्टिस रंजीत माेरे अाैर भारती डांगरे की पीठ ने शुक्रवार काे नवलखा की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि प्रथमदृष्टया काेर्ट यह मानता है कि मामले की विस्तृत जांच कर सच सामने लाने की जरूरत है। उन्हाेंने कहा कि हिंसा का यह मामला कोरेगांव-भीमा तक सीमित नहीं है। इसके कई और पहलू हैं। इसलिए हम मानते हैं कि जांच की जरूरत है। इससे पहले हाईकाेर्ट ने नवलखा के वकील युग चाैधरी की यह दलील खारिज कर दी कि नवलखा नक्सलियाें से बातचीत के लिए सरकार की अाेर मध्यस्थ थे।

तमिलनाडु: नौकरी मांगने पहुंचे 12 दिव्यांग, डीएम ने कलेक्ट्रेट परिसर में ही खुलवा दिया ‘कैफे एबल’

यहां के सभी कर्मचारी दिव्यांग, डीएम भी यहीं मीटिंग करते हैं

एजेंसी | थूथुकुडी

तमिलनाडु के थूथुकुडी जिला परिसर इन दिनों चर्चा में है। वजह- कलेक्ट्रेट परिसर में खुला ‘कैफे एबल’। इसे 12 दिव्यांग जनों की टीम संचालित करती है। इसके खुलने की कहानी भी दिलचस्प है। दरअसल, पिछले दिनों 12 दिव्यांग कलेक्टर संदीप नंदूरी के पास नौकरी मांगने पहुंचे। दिव्यांगों से बातचीत के दौरान डीएम उनसे प्रभावित हुए और उन्हें कलेक्ट्रेट परिसर में ही कैफे खुलवाने का प्रस्ताव दिया और वे मान गए। सभी दिव्यांग आराम से काम कर सकें, इसलिए उन्हें 45 दिन की होटल मैनेजमेंट की ट्रेनिंग भी दिलवाई गई। अब यहां 12 दिव्यांग काम कर रहे हैं। इनमें से 11 लोकोमोटर दिव्यांग हैं। यानी उनके पैर चलने-फिरने की हालत में नहीं हैं। जबकि एक सदस्य को सुनाई नहीं देता। अब डीएम संदीप नंदूरी अक्सर यहीं अपनी मीटिंग करते हैं। साथ ही खाना भी खाते हैं।

चीन में रेलवे ट्रैक बनाने के लिए केबल ब्रिज का 248 मीटर लंबा और 18 हजार टन वजनी हिस्सा घुमाया गया

ब्रिज

सभी को सरकारी नौकरियां देना संभव नहीं: डीएम डीएम संदीप नंदूरी बताते हैं- ‘मुझे अक्सर दिव्यांग जनों से नौकरियों के लिए याचिकाएं मिलती थीं। लेकिन सभी को सरकारी नौकरी देना संभव नहीं है। इसलिए हमने एक कैफे खोलने के विचार के साथ उन्हें अपना उद्यम चलाने में सक्षम बनाने का फैसला किया। कैफे की एक दिन की कमाई 10 हजार रु. है। कैफे की कमाई बैंक में जमा होती है। फिर वहां से दिव्यांगों को वेतन दिया जाता है।

रेलवे लाइन

बीजिंग | तस्वीर चीन में हुबेई प्रांत के वुहान शहर की है। यहां यांग्सी नदी के पास बने केबल ब्रिज का 248 मीटर लंबा और 18 हजार टन वजनी हिस्सा घुमाया गया है। ताकि ब्रिज के नीचे से बन रही रेलवे लाइन का काम आसानी से हो सके। यह ब्रिज करीब दो किमी लंबा है। ब्रिज के जिस हिस्से को घुमाया गया, वह 46 मीटर चौड़ा है। इंजीनियर्स ने बताया कि यह डबल डेक सस्पेंशन ब्रिज है। यह यांग्सी नदी के किनारे बसे दो बड़े इलाकों को जोड़ता है। रेलवे लाइन बनने के बाद ब्रिज के इस हिस्से को सस्पेंशन की मदद से और ऊंचा उठाया जाएगा। ताकि भविष्य में ट्रेनों के गुजरने से किसी प्रकार की परेशानी न हो। इंजीनियर्स के मुताबिक, रोबोटिक मशीनों के जरिए ब्रिज को घुमाने में 6 दिन लगे।

तेलंगाना: 24 घंटे की नौकरी की वजह से दुल्हन नहीं मिल रही, कॉन्स्टेबल का इस्तीफा

हैदराबाद | तेलंगाना में हैदराबाद के चारमीनार पुलिस स्टेशन में तैनात 29 साल के कॉन्स्टेबल सिद्दांथी प्रताप ने इस्तीफा दे दिया। कारण कुछ दिन पहले लड़की वालों ने शादी का प्रस्ताव नौकरी की लंबी अवधि के कारण ठुकरा दिया था। कमिश्नर को लिखे पत्र में कॉन्स्टेबल ने इस्तीफे की वजह 24 घंटे की नौकरी, कोई साप्ताहिक अवकाश नहीं होना और नाम मात्र के प्रमोशन को बताया है। पत्र में सिद्दांथी ने लिखा- ‘पुलिस की नौकरी बहुत कठिन है। यह किसी से छिपा नहीं है। इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन के बाद मैंने 2014 में पुलिस की नौकरी ज्वाइन की थी। पांच साल में मुझे कोई प्रमोशन नहीं मिला। मैंने देखा विभाग में एसआई, एएसआई से ऊपरी की रैंक के अधिकारियों को ही जल्दी प्रमोशन और दूसरे लाभ मिलते हैं। कॉन्स्टेबल के रूप में नौकरी ज्वाइन करने वाले कई लोग 30-40 साल बाद इसी पोस्ट से रिटायर हो गए। इस वजह से मैं यह नौकरी करना नहीं चाहता।’

गूगल अर्थ की मदद से 22 साल पहले लापता शख्स के अवशेष का पता चला| वॉशिंगटन | अमेरिका के फ्लोरिडा में 1997 में लापता हुए एक व्यक्ति के अवशेषों को गूगल अर्थ की मदद से डूबती हुई कार से खोज निकाला। लेक वर्थ में रहने वाले एक व्यक्ति ने 28 अगस्त को यह खोज की। वह मैपिंग कार्यक्रम पर अपने पड़ोस की कुछ उपग्रह की छवियों को देख रहा था।

चंद्रयान-2: विक्रम लैंडर के ऊपर से 17 सितंबर को गुजरेगा नासा का ऑर्बिटर, तस्वीरें भी भेज सकता है

इसरो विक्रम लैंडर से संपर्क करने की कोशिश में जुटा है

एजेंसी | वॉशिंगटन/नई दिल्ली

भारत के चंद्रयान-2 मिशन के तहत चंद्रमा पर गए विक्रम लैंडर का पता लगाने में अब अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा भी मदद करेगी। दरअसल, नासा का ऑर्बिटर 17 सितंबर को चंद्रमा की उस जगह के ऊपर से उड़ान भरेगा, जहां विक्रम लैंडर गिरा है। ऑर्बिटर विक्रम की तस्वीरें भी भेज सकता है। इससे विक्रम लैंडर की स्थिति और स्पष्ट हो सकती है। साथ ही उससे संपर्क करने में सफलता भी मिल सकती है। हालांकि, विक्रम लैंडर के बारे में इसरो भी पता लगा चुका है और उससे संपर्क करने की लगातार कोशिशें भी की जा रही हैं। उल्लेखनीय है कि विक्रम लैंडर के चंद्रमा की सतह पर पहुंचने से करीब 2.1 किमी पहले ही उससे संपर्क टूट गया था। स्पेस फ्लाइट नाउ ने नासा के ऑर्बिटर के प्रोजेक्ट साइंटिस्ट नोआह पेत्रो के हवाले से लिखा है- ऑर्बिटर द्वारा जारी की जाने वाली तस्वीरों से इसरो को विक्रम लैंडर की स्थिति का विश्लेषण करने में मदद मिलेगी।

ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने वाली उम्र दराज महिला

महिला ने 75 की उम्र में लाइसेंस लिया ताकि बहन को अस्पताल ले जा सके

एजेंसी | सिडनी

ऑस्ट्रेलिया में पिलबरा के हेडलैंड में रहने वाली विन्नी सैंपी ने अपनी बहन को अस्पताल ले जाने के लिए 75 साल की उम्र में ड्राइविंग लाइसेंस बनवाया है। उन्हें लाइसेंस दिलवाने में गैर लाभकारी संस्था ब्लडवुड ट्री एसोसिएशन ने उनकी मदद की। संस्था ने सोशल मीडिया पर लिखा- ‘लाइसेंस हासिल करने के बाद अब विन्नी अपनी बड़ी बहन को रेगुलर चेकअप के लिए डॉक्टर के पास, शॉपिंग कराने और बीच पर ले जाने में सक्षम हैं। इस उम्र में वह किसी से न तो लिफ्ट मांगती हैं और न ही टैक्सी लेती हैं। उन्होंने 75 की उम्र तक कभी कंम्प्यूटर इस्तेमाल नहीं किया। लेकिन लाइसेंस का टेस्ट कंप्यूटर से ही दिया। हालांकि, जिस दिन उनका ड्राइविंग टेस्ट था, वह काफी नर्वस थीं, लेकिन कुछ देर चैटिंग करने के बाद सामान्य हो गईं।’ ब्लडवुड ट्री एसोसिएशन की ड्राइविंग निर्देशक तान्या होममैन ने कहा- लाइसेंस लेने वालों में विन्नी सबसे उम्र दराज कैंडिडेट हैं।

विक्रम लैंडर के असफल होने के कारणों की जांच करेगा इसरो

इसरो विक्रम लैंडर के असफल होने के कारणों की जांच करेगा। स्पेस एजेंसी इस बात का पता लगाने की कोशिश करेगी कि मिशन में क्या गलत हुआ। इसरो के एक वरिष्ठ सेवानिवृत्त अधिकारी ने यह जानकारी दी। उधर, लगभग एक हफ्ते का समय बीत जाने के बाद मिशन चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम से फिर से संपर्क स्थापित करने की उम्मीदें धुंधली पड़ती जा रही हैं। इसराे विक्रम से संपर्क करने की आखिरी कोशिश में लगा हुआ है। रोवर का जीवनकाल एक चंद्र दिवस यानी कि धरती के 14 दिन के बराबर है। सात सितंबर की घटना के बाद से लगभग एक सप्ताह निकल चुका है, अब इसरो के पास मात्र एक सप्ताह शेष बचा है।

New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
X
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
New Delhi News - pune thousands of devotees gave way after seeing ambulance coming during ganesh immersion
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना