पार्ट टाइम जॉब कर पुष्पिता ने पिता को किया सपोर्ट, बनीं जिला टॉपर

Purnia News - सुनने में मात्र एक कल्पना सा लगता है, लेकिन कल्पनाएं भी सही होती हैं। ऐसा ही कुछ किया है शहर के खुश्कीबाग निवासी...

Mar 27, 2020, 08:05 AM IST
Purnia News - pushpita supported father by working part time became district topper

सुनने में मात्र एक कल्पना सा लगता है, लेकिन कल्पनाएं भी सही होती हैं। ऐसा ही कुछ किया है शहर के खुश्कीबाग निवासी गौतम कुमार पॉल की बेटी ने। गौतम कुमार पॉल की बेटी पुष्पिता पॉल ने आर्ट्स में विषय में 462 नंबर लाया। यह नंबर पुष्पिता ने पार्ट टाईम जॉब करते हुए लाया है, और वो जिला टॉपर बनी है।

पुष्पिता ने बताया कि घर की माली हालत ठीक नहीं है। पिता साइकिल पर कपड़े का फेरी लगाकर परिवार का पेट पालते हैं। मुझे पढ़ाई के साथ निजी स्कूल में जॉब भी करना पड़ा। ताकि मेरी पढ़ाई का खर्चा खुद मैं निकाल सकूं। इससे मेरी पढ़ाई पर कोई फर्क नहीं पड़े इसके लिए मैं रात में पढ़ाई करती थी। दोनों काम को दो भाग में बांटा। दिन में स्कूल में पढ़ाना और फिर देर रात खुद की पढ़ाई करना। पूर्णिया सिटी के राजा पृथ्वीचंद उच्च माध्यमिक विद्यालय की छात्रा ने जिले के साथ अपने परिवार वालों का भी नाम रोशन किया है। पुष्पिता की इस कामयाबी की चर्चे आज पूरे शहर में है।

किस विषय में कितना मार्क्स : पुष्पिता पॉल को सभी विषयों में डी मार्क्स आया है। इसमें इतिहास में 96, होम साइंस में 90, भूगोल में 91, एलएल इंग्लिश में 96, एनआरबी में 41, एमबीएआर इंग्लिश में 48 नंबर है।

बनना है आईएएस : पुष्पिता ने कहा कि मुझे आईएएस ऑफिसर बनना है। इसके लिए मैं काफी मेहनत करूंगी। मेरे पापा ने मुझे काफी मेहनत कर पढ़ाया है। उनका भी सपना है कि मैं आईएएस ऑफिसर बन उनका मान बढ़ाऊं। पुष्पिता की मां सविता पॉल ने अपनी बेटी पर विश्वास जताते हुए कहा कि मेरी बेटी एक दिन यह सपना जरूर सच करेगी, यह मेरा विश्वास है।

दीक्षा एप से बच्चे घर पर ही कर सकेंगे पढ़ाई, सीबीएसई ने लांच किया एप

पूर्णिया| सीबीएसई से संबंधित स्कूलों के बच्चे अब छुट्‌टी के दौरान भी पढ़ाई जारी रखेंगे। बोर्ड का मानना है कि स्कूलों में छुटि्टयों के कारण बच्चों ने नए सेशन की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। उनकी पढ़ाई को जारी रखने के लिए ऑनलाइन व्यवस्था की गई है। इसके के लिए सीबीएसई की दीक्षा एप मदद करेगा। इस एप में एनसीआरटी के ई-बुक का पूरा मैटेरियल डाला गया है। इससे बच्चे घर बैठकर भी पढ़ सकते हैं। इससे बच्चों की पढ़ाई बाधित नहीं होगी और समय रहते उनका सिलेबस भी पूरा हो सकेगा। सीबीएसई के द्वारा अपने संबंधित स्कूलों के माध्यम से बच्चों व अभिभावकों को इसकी जानकारी दे रही है। कोरोना वायरस के चलते सभी स्कूलों में छुटि्टयां है। बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो इसको लेकर बच्चों व अभिभावकों के स्कूलों में मौजूद मोबाइल नंबर पर मैसेज कर जानकारी दी जा रही है। कुछ शिक्षकों की ओर से बच्चों की सहायता के लिए लेक्चर व नोट्स बनाकर व्हाट्सएप ग्रुप में भेजा रजा रहा है।

मां और पिता के साथ पुष्पिता।

X
Purnia News - pushpita supported father by working part time became district topper

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना