• Hindi News
  • Rajasthan
  • Baran
  • Atru News rajasthan news 122 teams alert in atru region screening 45000 people and survey of houses so far

अटरू क्षेत्र में 122 टीमें अलर्ट, अब तक 45 हजार लोगों की स्क्रीनिंग और घरों का सर्वे

Baran News - कोरोनावायरस के चलते लॉकडाउन का असर कस्बे में अब दिखाई देने लगा है। इसमें पुलिस की भूमिका अहम नजर आ रही है। पुलिस...

Mar 27, 2020, 06:25 AM IST
Atru News - rajasthan news 122 teams alert in atru region screening 45000 people and survey of houses so far

कोरोनावायरस के चलते लॉकडाउन का असर कस्बे में अब दिखाई देने लगा है। इसमें पुलिस की भूमिका अहम नजर आ रही है। पुलिस की ओर से समझाइश के साथ सख्ती भी बरती जा रही है। जिसके चलते लोगों में अब जागृति आ रही है और आमजन भी सोचने पर मजबूत हो गया कि आखिर कोई न कोई बात जरूर है इसीलिए प्रशासन इतनी सख्ती बरत रहा है। धीरे-धीरे लोगों ने घरों से निकलना भी कम कर दिया है। कस्बे के मुख्य बाजार में सन्नाटा पसरा हुआ है। इस दौरान पुलिसकर्मी आने-जाने वाले वाहन चालकों से पूछताछ करते नजर आए तथा उनसे समझाइश की। नहीं मानने वालों के साथ सख्ती भी बरती गई। वहीं कोरोना महामारी को लेकर चिकित्सा विभाग अलर्ट है। ब्लाॅक चिकित्सा अधिकारी डाॅ. जेपी यादव ने बताया कि चिकित्सा विभाग की 122 टीमें फील्ड में हैं। अब तक 13 हजार परिवारों के 45 हजार लोगों की स्क्रीनिंग की गई है। जिनमें से 404 लोगों को आईसोलेट किया गया है तथा 38 सौ घरों का सर्वे किया गया है। बाहर से आने वाले चार अंतरराष्ट्रीय एवं चार अंतरराज्यीय लोगों को निगरानी में रखा गया है। सभी लोगों की स्क्रीनिंग की जा रही है। कोरोना की रोकथाम को लेकर आठ पीएचसी, दाे सीएचसी एवं 46 सब सेंटरों पर 122 टीमें लगातार क्षेत्र में नजर रखे हुए हैं। वहीं बड़ौरा सरपंच नरेंद्र मीणा ने बताया कि ग्राम पंचायत में चार परिवारों को पाबंद किया है। गांव में दो परिवार जयपुर से, एक परिवार कर्नाटक से और एक परिवार जोधपुर से आया है। जोधपुर से आने वाले अजहर पुत्र बशीर खां की तबीयत खराब है, जिसे झालावाड़ रैफर किया है। ग्राम पंचायत बड़ौरा में डॉक्टर की व्यवस्था नहीं है। तकरीबन 40 व्यक्ति बाहर से आ चुके हैं। अभी तक कोई मेडिकल जांच नहीं हुई है। सिर्फ पाबंद ही किया जा रहा है।

हरनावदाशाहजी. कस्बे में गुरुवार को लॉकडाउन के चलते विवेकानंद सर्किल पर सुबह से सन्नाटा पसरा रहा। केवल आवश्यक सेवाओं के अलावा अन्य प्रतिष्ठान बंद रहे। वहीं किराना व्यापारी, दूध डेयरी तथा मेडिकल स्टोर समेत अन्य आवश्यक सेवाओं के लिए प्रतिष्ठान के सामने सफेद रंग से करीब एक मीटर की दूरी पर गोले बनाकर सोशल डिस्टेंस बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इस दौरान सामग्री खरीदने आने वालों को इंतजार करने के लिए गोल घेरे में खड़े रहने की हिदायत दी जा ही है, ताकि कोरोनावायरस के संक्रमण से बचा जा सके।

लॉकडाउन का मुनाफाखोर उठा रहे फायदा: किशनगंज. कोरोनावायरस के चलते क्षेत्र में जारी लॉकडाउन के दौरान कई मुनाफाखोर मौके का फायदा उठाने में लगे हुए हैं। कस्बे में गुरुवार को कई किराना व्यापारियों को खाद्य सामग्री की वस्तुओं पर अधिक दाम वसूलते देखा गया। जिसकी शिकायत लोगों ने एसडीएम गौरव मित्तल से भी की। कस्बे में एक किराना व्यापारी के खाद्य सामग्री पर अधिक राशि वसूलने के मामले से लोगों ने एसडीम को अवगत कराया। इस पर एसडीएम ने सम्बंधित दुकानदार के पास पुलिस भेजकर पाबंद करवाया। ग्रामीणों ने बताया कि शक्कर 45 रुपए किलो, तेल 110 रुपए किलो व आटा 30 रुपए किलो तक बाजार में बेचा जा रहा है। जिससे गरीब तबके के लोगों के सामने समस्या खड़ी हो रही है। एसडीएम मित्तल ने कहा कि यदि कोई व्यापारी खाद्य सामग्री पर निर्धारित दर से अधिक मूल्य वसूलता पाया गया या किसी ग्राहक ने अधिक राशि वसूलने की शिकायत की तो दुकानदार के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। वहीं लॉकडाउन के तहत वाहनों के चलने पर लगाए गए प्रतिबंध से सामानों के आगे से अधिक दर से आने का बहाना बनाकर दुकानदारों की ओर से वसूले जा रहे अधिक दामों को लेकर एसडीएम गौरव मित्तल को दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग को लेकर रानीबड़ौद के ग्रामीणों ने ज्ञापन सौंपा।

जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध करवाने को लेकर की एसडीएम से चर्चा: किशनगंज. कोरोनावायरस के चलते लॉकडाउन में गरीब, मजदूर, दिहाड़ी वर्ग के लोगों का रोजगार पूरी तरह बंद होने के कारण ऐसे परिवारों के सामने भोजन का संकट आ खड़ा हुअा है। इसको देखते हुए कस्बे के कई भामाशाह सामने आए हैं। शिक्षक गोपीवल्लभ, नेमीचंद चौरसिया ने गुरुवार को एसडीएम गौरव मित्तल से मिलकर ऐसे गरीब व दिहाड़ी मजदूर वर्ग के परिवारों के लिए भोजन के पैकेट वितरित करने को लेकर चर्चा की। वहीं कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन व धारा 144 की पालना नहीं करने व बेवजह सड़कों पर घूमने वालों के खिलाफ प्रशासन व पुलिस अब सख्त हो गए हैं। जिसको लेकर गुरुवार को थानाक्षेत्र में पुलिस ने सख्ती बरतते हुए रामगढ़, रेलावन में अतिरिक्त पुलिस जवानों को लगाया है। जिससे गुरुवार को रामगढ़, रेलावन सहित कस्बे के बाजार सूने नजर आए। निर्धारित समय पर आवश्यक सेवाओं की दुकानें बंद होने के बाद भी घूमने वालों पर सख्ती दिखाते हुए पुलिस के जवानों ने डंडे भी बरसाए। लॉकडाउन की पालना के तहत पुलिस की ओर से दुपहिया वाहन चालकों व राहगीरों पर सख्ती दिखाते हुए डंडे बरसाने का लोगों ने विरोध किया है। लोगों का कहना है कि पुलिस के जवान पहले मारते हैं, बाद में बात करते हैं। वर्तमान में खेती-किसानी का काम जोरों पर चल रहा है। खेती के कामों को लेकर आते-जाते किसानों पर पुलिसकर्मी बेवजह डंडे बरसा रहे हैं।

कोयला. कस्बे में गुरुवार को लॉकडाउन का असर देखने को मिला। कहीं भी भीड़ एकत्रित नहीं रही। किराने की दुकानों व सब्जी मार्केट में भी भीड़ देखने को नहीं मिली। पुलिस ने लोगों को कहीं भी एकत्रित नहीं होने दिया।

भंवरगढ़. कोरोनावायरस को लेकर कस्बा बंद होने तथा मजदूरी नहीं मिलने के कारण मजदूरों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। जरूरतमंदों व गाड़िया लुहार जाति के 40 परिवारों को मदद के लिए पूर्व सरपंच धर्मराज चौधरी आगे आए हैं। इन्होंने 40 परिवारों को खाद्य सामग्री व मास्क का वितरण किया।

सीसवाली. कस्बे में गुरुवार को आवश्यक वस्तुओं की दुकानें 12 बजे तक खुली। लोगों ने जरूररत के समान खरीदे। लोगों ने बताया कि दुकानदार कई सामग्री को अधिक मूल्य में बेच रहे हैं। जबकि छोटे दुकानदारों का कहना है कि थोक दुकानदार उन्हें जिस भाव में सामग्री देंगे, उसी के अनुसार बेच रहे हैं। किराना के थोक व्यापारियों ने बताया कि प्रशासन ने ऊपर से माल पहुंचाने की व्यवस्था नहीं की तो दो-तीन दिन में उनके पास उपलब्ध स्टॉक खत्म हो जाएगा। वहीं कस्बे में कोटा, बारां दिखाने वाले पेंशनर्स या लंबी बीमारियों के मरीजों की दवाइयां नहीं मिल रही हैं, जिससे उनको चिंता हो रही है। प्रशासन दवाइयां लेने के लिए कोटा, बारां जाने की स्वीकृति नहीं दे रहा है, जिससे पेंशनर व वरिष्ठजन ज्यादा चिंतित हैं। कस्बे के आसपास कहीं पर भी सहकारी उपभोक्ताओं की दुकानें नहीं होने से पेंशनर्स को ज्यादातर दवाइयां कोटा या बारां में ही मिलती हैं।

निशुल्क होगा गेहूं का वितरण: बारां. कलेक्टर इंद्रसिंह राव ने बताया कि अतिरिक्त खाद्य आयुक्त सुरेश गुप्ता के अनुसार प्रदेश में कोरोनावायरस से उत्पन्न विशेष परिस्थितियों के तहत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना में शामिल राज्य के समस्त लाभार्थी परिवारों को 2 माह अप्रैल एवं मई में निशुल्क गेहूं वितरित करवाया जाएगा। इस पर होने वाला व्यय राज्य सरकार की ओर से वहन किया जाएगा।

हार्वेस्टर व कंबाइन पर रोक नहीं: बारां. कलेक्टर इंद्रसिंह राव ने बताया कि जिले में फसल कटाई के तहत उपयोग में आने वाले हार्वेस्टर व कंबाइन पर रोक नहीं है। इस संबंध मंे सभी एसडीएम व पुलिस प्रशासन को निर्देश जारी किए हैं।

बारां. जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट बांटती समाजसेविका उर्मिला भाया।

शाहाबाद. किराने की दुकान पर बनाए गए गोले में खड़े ग्राहक।

छबड़ा. कस्बे में लोगों की स्क्रीनिंग करते चिकित्साकर्मी।

अटरू. कोरोना को लेकर घर-घर सर्वे करती चिकित्सा विभाग की टीम।

Atru News - rajasthan news 122 teams alert in atru region screening 45000 people and survey of houses so far
Atru News - rajasthan news 122 teams alert in atru region screening 45000 people and survey of houses so far
Atru News - rajasthan news 122 teams alert in atru region screening 45000 people and survey of houses so far
Atru News - rajasthan news 122 teams alert in atru region screening 45000 people and survey of houses so far
X
Atru News - rajasthan news 122 teams alert in atru region screening 45000 people and survey of houses so far
Atru News - rajasthan news 122 teams alert in atru region screening 45000 people and survey of houses so far
Atru News - rajasthan news 122 teams alert in atru region screening 45000 people and survey of houses so far
Atru News - rajasthan news 122 teams alert in atru region screening 45000 people and survey of houses so far
Atru News - rajasthan news 122 teams alert in atru region screening 45000 people and survey of houses so far

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना