• Hindi News
  • Rajasthan
  • Banswara
  • Banswara News rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones

24 घंटे में 30 हजार लोग गुजरात-मुंबई से लौटे अब अपनों को अपनों से संक्रमण का खतरा

Banswara News - 1994 सितंबर में सूरत में प्लेग की महामारी फैलने से लोगों ने पलायन किया था 1994 का सितंबर। गुजरात का सूरत शहर। प्लेग...

Mar 27, 2020, 06:46 AM IST
Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones
}1994 सितंबर में सूरत में प्लेग की महामारी फैलने से लोगों ने पलायन किया था

1994 का सितंबर। गुजरात का सूरत शहर। प्लेग से अचानक मौतें शुरू होने से लोग दहशतजदा हो गए थे। लोगों ने उस समय सूरत ही नहीं अहमदाबाद, बड़ौदा आदि जिलों में काम करने वालों ने पलायन शुरू कर दिया था। ऐसी ही डर की तस्वीर 2002 में गुजरात दंगों के दौरान बनी थी। उस समय भी लोगों ने गुजरात से रातों रात पलायन किया था। पर, इस बार का पलायन उन दाेनाें पलायनाें से बड़ा है। डर इस समय गुजरात और राजस्थान के रतनपुर बॉर्डर पर लोगों के चेहरों पर देखा जा रहा है। हर किसी की जुबां पर एक ही दुआ है कि हे भगवान हमको सुरक्षित घर पहुंचा दें। लोगों को उनके छोटे-छोटे बच्चों के साथ बॉर्डर पार करते देखा। प्लेग महामारी और गुजरात दंगों के बाद सबसे बड़ा पलायन है। 22 मार्च से अब तक करीब 50 हजार लोग परिवार सहित बॉर्डर पार राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश अपने घरों की ओर निकले हैं। महज 24 घंटों के दौरान ही 30 हजार लोगों ने बॉर्डर पार किया है। भास्कर िरपाेर्टर बुधवार रात 12 बजे से गुरुवार दाेपहर 12 बजे तक रतनपुर बाेर्डर पर थे। खास यह कि रात 12 बजे िजतनी भीड़ थी, उतनी ही दोपहर 12 बजे भी दिखी। 22 मार्च से अब तक रतनपुर बॉर्डर को गुजरात से आने वाले करीब 50 हजार लोगों ने राजस्थान, उत्तरप्रदेश व मध्यप्रदेश अपने घर जाने के लिए इसको पार किया है। बॉर्डर पर लोगों का पंजीयन किया जा रहा है। यहां आने वाले अनेक संक्रमित भी है, जिनको स्वास्थ्य विभाग ने होम आईसोलेशन की सील उनके हाथ पर भी लगाई है। अभी भी रतनपुर बॉर्डर पर हर समय पांच सौ से छह सौ लोगों की मौजूदगी है।

घर पहुंचाने के लिए 50 बसें लगाई

डूंगरपुर | गुजरात के अहमदाबाद, सूरत व अन्य जिलों से रतनपुर बॉर्डर पहुंचने वाले लोगों को उनके घर पहुंचाने के लिए डूंगरपुर, बांसवाड़ा, उदयपुर की करीब 50 रोडवेज व निजी बसों को लगाया गया। लोगों के पंजीयन कराने के लिए 26 काउंटर लगाए हैं।

दर्द की तस्वीर }18 साल पहले 2002 में गुजरात दंगों में ऐसे ही रातों-रात लौटे थे लोग

दिव्यांग है फिर भी 150 किमी पैदल चलकर पहुंचे रतनपुरअहमदाबाद से देवल गामड़ी निवासी जवा भाई गमेती भी परिवार के साथ पैदल ही निकल पड़े। जवा भाई ने बताया कि वह दोनों पैर से दिव्यांग है तथा अपनी प|ी साजू, 6 माह का बेटा व 12 साल की बेटी के साथ रतनपुर बॉर्डर पहुंचे। अहमदाबाद के सेटलैट एरिया के घरों में काम कर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं। जवा भाई गमेती के साथ उसकी बेटी भी कंधे पर भारी बैग लिए हुए अहमदाबाद से पैदल ही रतनपुर बार्डर पहुंचे हैं। इन्हांेने बताया कि रास्ते में दुकानें बंद होने के कारण परेशानियों का सामना भी करना पड़ा।

800 किमी पैदल चलकर चौथे दिन डूंगरपुर पहुंचा दंपती

मुंबई के कासीमीरा क्षेत्र में चाय की होटल चलाने वाले पिंडावल निवासी नीतेश उपाध्याय, विमल परमार ने बताया कि मुंबई में 21 को ही बंद हो गया था, 22 को जनता कफ्र्यु लगने के बाद ही पूरी मुंबई बंद है। यहां कोरोना को लेकर लोग काफी डरे हुए हैं, सड़कों पर आना तो दूर, घर के दरवाजे बंद कर कैद हो गए हैं। हम लोग वहां से 22 की सुबह डरते हुए निकले, रास्ते में पुलिस ने लाठियां भी मारी। किसी तरह से गुजरात सीमा में पहुंचे। रास्ते में क अनेक लोगों ने सहयोग भी किया। जेब में पैसे नहीं थे तो खाना भी खिलाया। दिन रात पैदल चलते रहे।

महामारी के संकट में अपने के बीच पहुंचे तो अच्छा हैअहमदाबाद में अपने पति राकेश के साथ चाय की होटल चलाने वाली सोनम यादव कहती है वो मूलरूप से मथुरा निवासी है। संकट की इस घड़ी में वह बच्चों सहित मथुरा अपने परिवार के बीच सुरक्षित पहुंच जाए, यही सबसे अच्छा है। पता नहीं आगे क्या हो...। सरकार अपना काम कर रही है लेकिन बीमारी तो बीमारी है। सोनम ने बताया कि उसके एक वर्ष का बच्चा है। वाहन बंद हो गए तो पति ने उससे पैदल ही मथुरा चलने की कहा था लेकिन बच्चो छोटा होने से उसकी हिम्मत नहीं हुई। अब बस शुरू हो गई है। इसलिए मथुरा के लिए रवाना हो गए।

ऐतिहासिक सफलता के 23 वर्ष

हर शुक्रवार बड़ी खबर

विशेष

रतनपुर बॉर्डर पर अन्य राज्यों से आ रहे लोगों की स्क्रीनिंग करती मेडिकल टीम।

चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कहा... बांसवाड़ा-डूंगरपुर में बड़ी चिंता


}800 किलोमीटर तक की पैदल यात्रा कर परिवार सहित लौट रहे हैं लोग।

}बुधवार रात 2 बजे से उन्होंने बिस्किट वितरण शुरू किया है। गुरुवार सुबह 11 बजे तक करीब 20 हजार लोगों को बिस्किट वितरण किया गया।

} हिम्मतनगर के जीएमआरएस मेडिकल कॉलेज व नर्सिंग स्टाफ ने हाइवे पर पैदल जा रहे लोगों को भोजन कराया। मोतीपुरा व सहकारी जिंक एरिया हाईवे न 8 पर गुजरने वाले को भोजन कराया।

भास्कर

रतनपुर बॉर्डर से लाइव : 22 मार्च से अब तक 50 हजार लोग रतनपुर बॉर्डर पहुंचे, 75 डॉक्टर, 60 नर्सिंगकर्मी की टीम जुटी**

Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones
Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones
Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones
Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones
Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones
Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones
X
Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones
Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones
Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones
Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones
Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones
Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones
Banswara News - rajasthan news 30 thousand people returned from gujarat mumbai in 24 hours now the risk of infection from loved ones

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना