जरूरी चीजों की होम डिलीवरी में प्रशासन फिलहाल फेल, लोगों में रोष

Karoli News - डेराबस्सी हलके में कर्फ्यू लागू होने के चौथे दिन भी प्रशासन लोगों को जरुरी वस्तुओं की होम डिलीवरी में फिलहाल फेल...

Mar 27, 2020, 08:21 AM IST

डेराबस्सी हलके में कर्फ्यू लागू होने के चौथे दिन भी प्रशासन लोगों को जरुरी वस्तुओं की होम डिलीवरी में फिलहाल फेल साबित हो रहा है। जरुरी वस्तुओं में राशन, सब्जियां, दूध और दवाइयां बांटने की व्यवस्था पूरी तरह लचर साबित हो रही है। जिन लोगों ने इन वस्तुओं की होम डिलीवरी सप्लाई के नाम पर प्रशासन से बेतहाशा पास इकट्ठे कर लिए हैं, वे फोन ही नहीं उठाते या फिर होम डिलीवरी करने से आनाकानी कर रहे हैं। इसके अलावा ज्यादतर सब्जियां या राशन विक्रेताओं सेशिकायत है कि वे कालाबाजारी को बढ़ावा दे रहे हैं। लोगों में प्रशासन की इस व्यवस्था पर के खिलाफ रोष पनपने लगा है।

उल्लेखनीय है कि प्रशासन ने लोगों को राशन, सब्जी, दूध व दवाइयां प्राप्त करने में कोई दिक्कत न आए इसके लिए होम डिलीवरी के बंदोबस्त को अमलीजामा पहनाया जा रहा है। सुबह 6 से 9 बजे तक सब्जी व दूध की सप्लाई का समय तय है जबकि राशन व दवाइयों के लिए 8 से 11 बजे तक का नया समय तय किया गया है। सब्जी की सप्लाई के लिए गलियों में घूम घूमकर रेहड़ी आदि में बेचने वालों को छूट दी गई है, परंतु सप्लाई फेल होने से लोग फिर सब्जीमंडी की ओर रुख कर रहे हैं। राशन के लिए थोक करियाना मर्चेंट्स की सूची जारी की जा चुकी है जो अागे गली मोहल्लों समेत वार्ड में रिटेलर्स को सप्लाई देंेगे। दोधियों समेत काउंटर्स पर दूध बेचने वालों को छूट दी गई है। अब जरुरी वस्तुअों की होम डिलीवरी कुछ सीमित थोक सप्लायर्स के हवाले की गई है।

होमडिलवरी से आनाकानी, कालाबाजारी को बढ़ावा

लोगों ने बताया कि करीब ढ़ाई सौ रु की दस केलो वाली आटे की थैली 300 से 400 में बिक रही है। इस तरह सब्जियांें में टमाटर फिर 80 से ₹100 जा पहुंचा है। यही हाल प्याज, आलू और अन्य सब्जियों का हो रहा है। इनके विक्रेता कालाबाजारी को दे रहे हैं। इस तरह की शिकायतें आगे प्रशासन को भी पहुंचा दी गई है परंतु अभी तक इसके बारे में न कोई कोई पुख्ता इंतजाम हुए हैं, न ही इन पर नकेल कसने के लिए कोई कारगर नीति तैयार हो रही है।

_photocaption_होम डिलवरी फेल रहने पर सब्जी मंडी में जुटने के लिए मजबूर लोग।*photocaption*

}जरूरी वस्तुओं के सप्लायर्स की नंबर सहित सूची नहीं पहुंची

राशन के लिए जीरकपुर के 15 और डेराबस्सी के 18 करियाना स्टोर्स के अलावा 8 करियाना स्टोर्स लालडू के शामिल हैं। दवाइयों के लिए 8 से 11 की बजाय अब 8 से एक बजे का समय निर्धारित करते हुए डेराबस्सी में 9 केमिस्टों की सूची उनके फोन नंबर सहित जारी की गई है। इसी प्रकार दोधियों को कर्फ्यू दौरान दूध सप्लाई करने के लिए पास जारी किए जा रहे हैं। प्रशासन ने यह सूचियां तो जारी कर दी परंतु इन्हें आगे जनता तक पहुंचाने के लिए कोई बंदोबस्त नहीं किया। यहां तक कि बार बार मांगने के बावजूद भी मीडिया के पास भी स्थानीय प्रशासन ने कोई अपडेटड सूचियां तक सर्कुलेट नहीं की। अफसरों द्वारा यही कहा जा रहा है कि वेवसाइट पर मौजूद है, वहां से उठा लें जबकि वेबसाइट पर जारी सूचियां में आए रोज बदलाव लोगों के लिए सिरदर्द बना हुआ है। देहात के गरीब तबके व प्रवासी श्रमिकों के लिए ऑनलाइन डाटा का कोई मतलब नहीं है। उनके लिए न तो लिस्टों की हार्ड कॉपी कहीं सार्वजनिक की गई हैं और उनतक पहुंचाने की कोई व्यवस्था है। यह भी समस्या है कि जरुरी वस्तुओं की सूचना तैयार करते हुए हर क्षेत्र को कवर करने के लिए दुकानदार शामिल नहीं किए गए।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना