राशन की दुकानों पर कालाबाजारी फलाें और दाल के दाम 40% बढ़े

Banswara News - काेराेना के चलते लॉकडाउन के कारण अब रोजमर्रा की चीजों की कालाबाजारी शुरू हा़े गई है। बंद का फायदा उठाकर किराणा...

Mar 27, 2020, 06:50 AM IST

काेराेना के चलते लॉकडाउन के कारण अब रोजमर्रा की चीजों की कालाबाजारी शुरू हा़े गई है। बंद का फायदा उठाकर किराणा की दुकान वाले हर सामान पर अाैने-पाैने दाम वसूल रहे हैं। गुरुवार काे भास्कर के 6 संवाददाताओं ने शहर के कई इलाकों में खुली किराणा की दुकानों पर इसकी पड़ताल की ताे सामने अाया कि राशन के सामान की कालाबाजारी शुरू हा़े गई है। नए बस स्टैंड अाैर पुराना बस स्टैंड क्षेत्र में कई व्यापारियों ने अपनी दुकान के बाहर सफेद गाेले बना रखे हैं। जिनमें निर्धारित दूरी में लाेग खड़े हैं। खास बात यह रही कि कई इलाकों में लाेग स्वत: ही बाहर नहीं निकले। जब लाेगाें से बात की गई ताे लाेगाें ने कहा कि किराणा, दूध डेयरी के साथ मैकेनिक अाैर अाटा चक्की की दुकान भी खुलनी चाहिए।

वितरण के लिए थोक व्यापारियों की सूची मांगी

जिला प्रशासन ने आमजन तक राशन की पहुंच सुगम बनाने के लिए मंडी के थाेक व्यापारियों सहित फल-सब्जी विक्रेताओं की सूची नगर परिषद के जरिए मंगवाई। इन सभी व्यापारियों काे फाेटाे परिचय पत्र जारी किए हैं। गुरुवार काे प्रशासन ने तहसीलदार के जरिए बांसवाड़ा शहर के किराणा व्यवसाइयाें से संपर्क कर उनके फाेटाे परिचय पत्र बनाने के लिए फाेटाे व अन्य जानकारियां एकत्रित की। शुक्रवार शाम तक इन सभी किराणा व्यवसाईयाें काे भी परिचय-पत्र जारी हाे जाएंगे।

अतिअावश्यक काम से शहर से बाहर जाने के लिए परिवहन विभाग में ऑनलाइन अावेदन करें

अति आवश्यक कार्य से शहर से बाहर अाने-जाने वाले लाेगाें काे वाहन पास जारी करने के लिए जिला परिवहन विभाग ने ऑनलाइन आवेदन सेवा शुरू की है। डीटीअाे अभय मुद्गल ने बताया कि ईमेल पर ऑनलाइन प्राप्त हाेने वाले इनके आवेदन के साथ लगे दस्तावेजों की जांच की जा रही है। वेरिफिकेशन के बाद वाकई जरूरतमंद पाए जाने वालाें काे एक घंटे के भीतर ही व्हीकल पास जारी कर उनके ईमेल एड्रेस या वाट्सएेप पर काॅपी डाली जा रही है। साथ ही फाेन कर सूचित भी किया जा रहा है। अति आवश्यक कार्य शहर से बाहर जाने की अनुमति के लिए [email protected] पर मेल कर सकते हैं।

प्रशासन ने मंगवाई अतिरिक्त सामग्री सब्जी और राशन की कमी नहीं हाेगी

भास्कर संवाददाता|बांसवाड़ा

लॉकडाउन के चलते जिलेभर में राशन, फल और सब्जियों की कमी होने लगी है। क्योंकि यहां ज्यादातर सामान पड़ोसी राज्यों से अाता है। इसके चलते कालाबाजारी और कीमतें बढ़ गई हैं। इसको लेकर प्रशासन ने विशेष प्रबंध किए हैं। एसडीएम पर्बतसिंह चूंडावत ने बताया कि किराणा का सामान, मंडी में सब्जियों ,अालू-प्याज सहित सहित अन्य आवश्यक सामग्री, फल व किराणा का सामान लाने के लिए कई ट्रकों काे पास जारी किए हैं। ताकि इनके दामों में बढ़ोतरी और कालाबाजारी नहीं हो। इसके लिए गुरुवार दोपहर बाद बांसवाड़ा व छाेटी सरवन एसडीअाे मध्य-प्रदेश की सीमा पर स्थित दानपुर चैक पोस्ट पर पहंुचे। वहां खड़े खाद्यान्न से भरे ट्रकों काे माैके पर ही पास जारी कर शहर में रवाना िकया। इसी तरह घाटाेल राेड पर सब्जियों से भरे तीन ट्रैक्टरों काे माैके पर ही पास बना शहर के लिए रवाना िकया। गुजरात, मध्य-प्रदेश सहित अन्य राज्यों से यह सामग्री शुक्रवार सुबह से शहर में पहुंचनी शुरू हाे जाएगी।

शक्कर प्रति बोरी 300 रुपए महंगी

शहर के पुराना बस स्टैंड अाैर नए बस स्टैंड क्षेत्र में दुकानदार मनमाने तरीके से दाम ताे वसूल ही रहे हैं, उसका बिल भी नहीं दे रहे हैं। जब कुछ दुकानदारों से इस बारे में पूछा ताे उन्होंने कहा कि होलसेल विक्रेताओं ने सभी सामानाें की कीमतों में बढ़ोतरी कर दी है, इसी कारण दुकानदार भी दाम बढ़ा रहे हैं। इधर, होलसेल विक्रेता संदीप कोठारी ने बताया कि हमने को दाम नहीं बढ़ाया है। अागे से ही दो तीन रुपए बढ़े हैं, वह हमने बढ़ाया हैं। जो पांच लीटर तेल 600 रुपए से अधिक बेच रहे हैं वह गलत है। हमने तो दुकानदारों को सोयाबीन पांच लीटर (चेतक) का 435 रुपए और (फॉर्च्यूनर) 525 रुपए में दिया है। लॉकडाउन के चलते साेयाबीन, मूंग माेबर, चना दाल में 10 से 15 रुपए का इजाफा हुअा है ताे चावल के दाम दोगुने हा़े गए हैं। पहले जहां 35 रुपए किलाे चावल बिक रहे थे, वह अब 75 रुपए हा़े गए हैं। इसी प्रकार पहले जाे 50 किलाे चीनी की बाेरी 1700 रुपए में मिलती थी, वह अब 2000 रुपए में बिक रही है।

परिवहन बंद, अावक नहीं इसलिए फलों के भाव 30-40 प्रतिशत बढ़े

लाॅकडाउन के चलते शहर में बाहर से अाने वाले फलों के ट्रक नहीं अा पा रहे हैं। इसी वजह से फलों के भावों में भी पिछले 5 दिन के दौरान 30 से 40 प्रतिशत उछाल अाया है। 22 मार्च जनता कर्फ्यू के पहले एपल 80-100 रुपए प्रति किलो, अनार 100 रुपए, अंगूर 60 रुपए प्रति किलो, संतरा 40 रुपए प्रति किलो थे, लेकिन 26 मार्च को एपल 120 रुपए, अनार 140, अंगूर 100 रुपए, संतरा 60 रुपए किलो बिके। मोहन कॉलोनी के फल विक्रेता वसीम खान ने बताया कि आगे से फलों की गाडिय़ां नहीं आने के कारण दाम बढ़ गए हैं। दो तीन दिन और गाडिय़ां नहीं आई तो मार्केट में फल नहीं मिलेंगे।

ऐसे बढ़े रेट

21 मार्च: सोयाबीन तेल 5 ली. 480 रु., 01 लीटर 93 रु., दाल- मूंग मोगर-100 रु. किलो, चना दाल 50 से 60 रु. किलो, वनस्पति चावल- 40 से 45 रु. किलो, चीना-34 रु. किलो।

26 मार्च: सोयाबीन तेल 5 ली. 670 रु., 1 लीटर 140 रु., दाल- मूंग मोगर-130-135 रु. किलो, चना दाल 70-75 रु. किलो, वनस्पति चावल- 70 रु. किलो, चीना-38-40 रु. किलो।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना