चैत्र नवरात्र तीसरा दिन : मां चंद्रघंटा

Shriganganagar News - भास्कर की पहल : घर बैठे अापकाे हर दिन माता रानी के करवाएं जाएंगे दर्शन** महिषासुर ने देवाताओं पर विजय प्राप्त...

Mar 27, 2020, 09:55 AM IST

भास्कर की पहल : घर बैठे अापकाे हर दिन माता रानी के करवाएं जाएंगे दर्शन**

महिषासुर ने देवाताओं पर विजय प्राप्त कर इंद्र का सिंहासन हासिल कर लिया और स्वर्गलोक पर राज करने लगा। इससे सभी देवतागण परेशान हो गए। महिषासुर से छुटकारा पाने के लिए देवतागण त्रिदेव ब्रह्मा, विष्णु और महेश के पास गए। महिषासुर के अत्याचार के कारण अब देवता पृथ्वी पर विचरण कर रहे हैं और स्वर्ग में उनके लिए स्थान नहीं है। देवगणों के शरीर से निकली ऊर्जा भी उस ऊर्जा से जाकर मिल गई। वहां एक देवी का अवतरण हुआ। यह देवी मां चंद्रघंटा के नाम से जानी गईं। भगवान शंकर ने देवी को त्रिशूल और भगवान विष्णु ने चक्र प्रदान किया। इंद्र ने वज्र और ऐरावत हाथी से उतरकर एक घंटा दिया। सूर्य ने अपना तेज और तलवार दिया और सवारी के लिए शेर दिया। देवी ने एक ही झटके में ही दानवों का संहार कर दिया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना