खाताधारक से साइबर फ्रॉड पर आयोग ने बैंक पर लगाया हर्जाना

Jaipur News - जयपुर। राज्य उपभोक्ता आयोग ने जिला उपभोक्ता मंच चतुर्थ के आदेश से व्यथित होकर आयोग में आई अपील के एक मामले मेंं...

Mar 27, 2020, 07:55 AM IST

जयपुर। राज्य उपभोक्ता आयोग ने जिला उपभोक्ता मंच चतुर्थ के आदेश से व्यथित होकर आयोग में आई अपील के एक मामले मेंं एटीएम कार्ड ब्लॉक हो जाने के बाद खाते से पैसे कटे तो एक्सिस बैंक पर 10 हजार हर्जाना लगाया। साथ ही 1 लाख 3 हजार 453 रुपए लौटाने का आदेश दिया। आयोग ने यह फैसला अमर सिंह के परिवाद पर दिया है। परिवादी के अनुसार उसका खाता एक्सिस बैंक में था। कार्ड ब्लॉक हो जाने पर उसने बैंक कर्मचारी द्वारा चाही गई सूचना दे दी व नया एटीएम जारी करने की प्रार्थना की। कार्ड ब्लॉक होने और ओला से कोई संव्यवहार नहीं करने के बावजूद 1 लाख 3 हजार 453 रुपए खाते से कट गए। इसकी रिपोर्ट साइबर सेल पानीपेच में दर्ज करवाई व पुलिस थाना अशोक नगर थाना में धारा 66(सी) य, 66(डी), सूचना प्रौद्योगिकी (संसोधन) अधिनियम, 2008, भा.द.स. की धारा 419, 420 में एफआईआर दर्ज करवाई गई। उसके अनुसार बैंक खाते से कटे पैसे के लिए पूर्णतय बैंक जिम्मेदार है व मिलीभगत से परिवादी के बैंक खाते से राशि विड्रॉल हुई है क्योंकि बैंक परिवादी के उक्त बचत खाते का ट्रस्टी था। परिवादी ने उक्त कृत्य के लिए पर धोखाधड़ी, अनुचित व्यापार व्यवहार किया है। आयोग ने फैसले में कहा कि जिला मंच ने परिवाद इस आधार पर खारिज किया कि प्रकरण अनुसंधान का है। सिविल न्यायालय में जाना चाहिए जब कि प्रकरण के तथ्य स्पष्ट थे परिवादी का कार्ड ब्लॉक हो गया था बैंक को सूचना दे दी गई थी नया कार्ड बनाने का निवेदन कर दिया था, नेट बैंकिंग की सुविधा ले रखी थी, इसके बावजूद 1.3 लाख रुपए विड्रॉल हो गए जो निश्चित रूप से बैंक का सेवादोष था। जिला मंच ने जो परिवाद खारिज किया है वह सही नही है। जिला मंच का आदेश अपास्त करके अपील स्वीकार की जाती है और बैंक को कटे हुए पैसे लौटाने का आदेश दिया जाता है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना