कोरोना का कहर : पंचायत चुनाव पर दिखेगा असर, टलेगा मतदान

Shriganganagar News - सुप्रीमकाेर्ट के दिशा - निर्देश के बाद अप्रेल के तीसरे सप्ताह में प्रस्तावित पंचायती राज चुनाव पर भी पर संकट...

Mar 27, 2020, 08:27 AM IST

सुप्रीमकाेर्ट के दिशा - निर्देश के बाद अप्रेल के तीसरे सप्ताह में प्रस्तावित पंचायती राज चुनाव पर भी पर संकट खड़ा हाे गया है। काेराेना संक्रमण के खतरे अाैर 21 दिन के लाॅक डाउन की वजह से चुनाव का टलना तय माना जा रहा है। पंचायत चुनाव काे टालने के लिए राज्य सरकार सुप्रीमकाेर्ट से दिशा निर्देश मांग सकता है। माना जा रहा है कि जिस तरह से काेराेना वायरस के खतरे काे देखते हुए राज्य सरकार ने जयपुर, जाेधपुर अाैर काेटा के निकाय चुनाव स्थगित कराने के लिए हाईकोर्ट में जाकर गुहार लगाई थी। ठीक उसी तरह से पंचायत चुनाव स्थगित कराने के लिए राज्य सरकार अागे अाएगी।

अप्रैल में अागे अा सकती है सरकार

अप्रैल के दूसरे सप्ताह में राज्य सरकार काेराेना वायरस पर रिव्यू करके चुनाव स्थगित कराने की दिशा में काम कराएगी। उधर राज्य निर्वाचन अायाेग चुनाव स्थगित कराने के लिए पार्टी बनेगा या नहीं ? इस पर संशय है । लेकिन माना जा रहा है कि निर्वाचन अायाेग पहले की तरह इस बार भी अागे नहीं अाएगा। एेसा इसलिए क्योंकि प्रदेश के कई वरिष्ठ नेता पंचायत चुनाव में निर्वाचन अायाेग की भूमिका पर सवाल खड़े कर चुके है।

पंचायत समिति व जिला प्रमुख पदाें पर पॉलिटिकल पार्टियों की रहेगी अहम भूमिका

प्रदेश में 3600 से ज्यादा ग्राम पंचायताें, पंचायती समिति व जिला परिषदों के चुनाव हाेने है। इनमें पार्टी के टिकट पर जिला प्रमुख, सदस्य अादि का चयन हाेना है। एेसे में राजनीतिक पार्टियाें की इसमें भूमिका अहम रहेगी। जिस पार्टी की प्रदेश में सरकार हाेती है, उसे पार्टी काे पंचायत चुनावाें में फायदा मिलता है। प्रदेश की करीब 3600 ग्राम पंचायत, सभी पंचायत समितियाें अाैर जिला परिषदाें में चुनाव समय पर नहीं हाेने की वजह से रिसीवर लगे हुए है। पिछले दाे महीने से रिसीवर ही समस्य विकास कार्य काे देख रहे हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना