• Hindi News
  • Rajasthan
  • Pali
  • Pali News rajasthan news exodus from the disaster of kerena the wheels of the vehicles were stopped and the laborers walked on foot eating the food on demand along the way

काेराेना के खाैफ से पलायन : गाड़ियाें के पहिए थमे ताे घराें की अाेर पैदल चले मजदूर, रास्ते में मांग-मांगकर खा रहे खाना

Pali News - काेराेना संक्रमण काे राेकने के लिए गाड़ियाें के पहिए क्या थमे कि लाेग अब पैदल ही अपने घराें की अाेर निकल पड़े...

Mar 27, 2020, 09:11 AM IST
Pali News - rajasthan news exodus from the disaster of kerena the wheels of the vehicles were stopped and the laborers walked on foot eating the food on demand along the way

काेराेना संक्रमण काे राेकने के लिए गाड़ियाें के पहिए क्या थमे कि लाेग अब पैदल ही अपने घराें की अाेर निकल पड़े हैं। इसमें दिहाड़ी मजदूराें की संख्या ज्यादा है। अपने गंतव्य के लिए सड़काें पर निकले ताे खाने का संकट अा गया। एेसे में रास्ते में लाेगाें से खाना मांग-मांगकर खुद का अाैर परिवार का पेट भरने की नाैबत अा गई। चाैंकाने वाली बात यह है कि इनमें काेई संक्रमित है या नहीं इसकी जांच करने के लिए रास्ते में इनकाे राेकने वाला काेई नहीं है। गुरुवार काे जाेधपुर से 125 मजदूर बांसवाड़ा, प्रतापगढ़ जाने के लिए पैदल अाए। 10-12 मजदूर एक ट्रक में सवार हाेकर अाए ताे पणिहारी तिराहे पर खड़े पुलिसकर्मियाें ने उन्हें राेक दिया।

बाद में पता चला कि इनकी संख्या ज्यादा है। मजदूर बसंतीलाल, मांगीराम व खीमाबाई ने बताया कि जाेधपुर में वे मजदूरी करते हैं। पिछले दाे दिन से काम नहीं हाेने के कारण भूखे मर रहे थे। एेसे में सभी ने पैदल ही घर निकलने का फैसला ले लिया। यहां पुलिस ने पहले ताे ट्रक सीज कर दिया लेकिन संख्या ज्यादा देखी ताे सदर थाना प्रभारी भंवरलाल पटेल, हैड कांस्टेबल श्यामसिंह ने एसडीएम से कहने पर उनकाे एक राेडवेज में बांसवाड़ा, प्रतापगढ़ के लिए रवाना कर दिया। राेहट के अशाेक बाेस, रमजान चाैहान, अनवर खान पूरे रास्ते इनकाे बिस्किट व नमकीन वितरित करते पाली पहुंचे थे। इससे पहले प्रतापगढ़ अाैर बांसवाड़ा जिले के 170 मजदूर जाेधपुर से पैदल अाए। बुधवार रात काे साेनाई मांझी में भूपेंद्रसिंह साेनाई, मंजू बैंगल्स के सुखेश कुमार की मदद से रात्रि में भाेजन की व्यवस्था कराई अाैर गुरुवार सुबह साेनाई मांझी गांव में राहत कैंप में भाेजन सामग्री देकर उनकाे रवाना किया। यहां उनके स्वास्थ्य की जांच भी कराई गई।

जोधपुर में श्रमिकों को दाे महीने के लिए कंपनी ने निकाला, पचास लाेगाें के लिए एक कमरा दिया


सूरत से 150 जने यूपी की अाेर जा रहे है। कमलेश, जानकीराम व पव्वाराम ने बताया कि सभी वहां कंपनियाें मेंे काम करते हैं। कंपनी ने दाे महीने के लिए बाहर निकाल दिया। ठहरने की व्यवस्था एेसी थी कि एक-एक कमरे में पचास लाेगाें काे भूखे प्यासे रहना पड़ रहा था। स्थिति ज्यादा बिगड़ते देख वे पैदल ही यूपी की अाेर निकल गए। रास्ते में कहीं ट्रक या अन्य साधन मिले ताे टुकड़ाें-टुकड़ाें में पाली पहुंच गए। रास्ते में मांग-मांगकर खाना ले रहे हैं।

पाली .जाेधपुर से पैदल अाए मजदूराें काे पणिहारी तिराहे से राेडवेज बस से बांसवाड़ा व प्रतापगढ़ के लिए रवाना किया गया।

X
Pali News - rajasthan news exodus from the disaster of kerena the wheels of the vehicles were stopped and the laborers walked on foot eating the food on demand along the way

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना