खाद्य सामग्री पहुंचा रही हैं मालगाड़ियां

Gangapur News - कोरोना वायरस लॉक डाउन के दौरान यात्री ट्रेन नहीं चलाई जा रही हैं लेकिन जरुरी चीजों की आपूर्ति बनाए रखने के लिए...

Mar 27, 2020, 07:40 AM IST

कोरोना वायरस लॉक डाउन के दौरान यात्री ट्रेन नहीं चलाई जा रही हैं लेकिन जरुरी चीजों की आपूर्ति बनाए रखने के लिए मालगाडिय़ों का संचालन किया जा रहा है।

रेलवे बोर्ड ने मालगाडिय़ों से अनाज, नमक, खाद्य तेल, शक्कर, प्याज, कोयला व पेट्रोलियम पदार्थों को प्राथमिकता से पहुंचाने के निर्देश दिए हैं। इंडियन रेलवे में सबसे अधिक प्राथमिकता नॉर्थ ईस्ट की तरफ की मालगाडिय़ों को दी जा रही है।

मालगाडिय़ों के संचालन के लिए रेलवे ड्राइवर, गार्डों को ड्यूटी पर लगाया गया है। मालगाडिय़ों में जरुरी वस्तुओं के लदान के लिए टर्मिनल स्टेशनों पर सामान को उतारने का काम जारी है। खाद्य तेल, चीनी, अनाज, नमक, प्याज को सबसे अधिक संख्या में लदान कर एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजा जा रहा है।

पेट्रोलियम पदार्थ भी टैंकर वैगन से भेजा जा रहा है। दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पर स्थित गंगापुर सिटी, कोटा, सवाई माधोपुर से भी पास हो रही हंै। कोटा रेल मंडल का परिचालन विभाग भी मालगाडिय़ों को प्राथमिकता दे रहा है। अधिकांश ट्रेनों को थ्रू पास किया जा रहा है।

गंगापुर से दिल्ली 6 घंटे में पहुंच रही मालगाड़ी

गंगापुर सिटी से दिल्ली की दूरी 296 किमी है। मेल एक्सप्रेस व पैसेंजर ट्रेनों के संचालन के समय मालगाडिय़ों को बीच-बीच में रोक दिया जाता था। इससे मालगाडिय़ों लगभग 7-8 घंटे में दिल्ली पहुंचती थी लेकिन अब मालगाडिय़ों को थ्रू पास किया जा रहा है। मालगाड़ी गंगापुर सिटी से 6 घंटे में दिल्ली पहुंच रही है। गुरुवार को 25 ही मालगाडिय़ों का संचालन हुआ।

सांसद जौनपुरिया आज सवाई में

गंगापुर सिटी | टोंक सवाई माधोपुर सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया 27 मार्च को सवाई माधोपुर जिले के दौरे पर रहेंगे। युवा भाजपा नेता दर्शनसिंह गुर्जर ने बताया कि सांसद सुबह 9 बजे सर्किट हाउस सवाई माधोपुर पहुंचेंगे जहां कलेक्टर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी और कार्यकर्ताओं से बातचीत कर कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव पर चर्चा कर फीड़बैक भी लेंगे।

पहल }रेलवे बोर्ड ने कोरोेेेेेेना वायरस के चलते लोगों को मालगाड़ी से खाद्य सामग्री पहुंचाने के दिए निर्देश

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना