नहरी क्षेत्र में गिरे ओले, बारिश से पारा 110 गिरा

Jaisalmaer News - जैसलमेर में गुरूवार को पूरे दिन रिमझिम फुहारों का दौर चला। बुधवार रात भी बरसात होने के बाद गुरूवार को दिन भर...

Mar 27, 2020, 09:20 AM IST
Pokran News - rajasthan news hail fell in the canal area mercury fell 110 due to rain

जैसलमेर में गुरूवार को पूरे दिन रिमझिम फुहारों का दौर चला। बुधवार रात भी बरसात होने के बाद गुरूवार को दिन भर बादलों की आवाजाही बनी रही। बुधवार रात जहां नहरी क्षेत्र में कई जगह ओलों की बारिश हुई। मोहनगढ़ से करीब 30 किलोमीटर दूर डीएलएम चक में बुधवार रात जमकर ओलावृष्टि हुई जिससे क्षेत्र के किसानों को नुकसान हो गया। वहीं गुरूवार को भी पूरे जिले में हल्की फुहारों से मौसम में ठंडक घुल गई। मौसम विभाग के अनुसार गुरूवार को अधिकतम तापमान में 11 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। बुधवार को जहां अधिकतम तापमान 34.5 डिग्री सेल्सियस था वहीं गुरूवार को तापमान 23.5 डिग्री दर्ज किया गया। वहीं बरसात से किसानों के चेहरों पर चिंता की लकीरें उभर आई है। खेतों में खड़ी व कटी हुई फसल खराब होने से किसानों के मुंह तक आया निवाला छिन रहा है। जिससे किसान बेचैन भी हो रहे है। इस बरसात से जीरे व ईसब की फसल को नुकसान हो रहा है। पोकरण शहर सहित आसपास के ग्रामीण अंचलों में बुधवार की रात्रि को बूंदाबांदी का दौर शुरू हुआ। परमाणु नगरी में गुरूवार को अलसुबह से बूंदाबांदी का दौर शुरू हुआ जो दिनभर रूक-रूक के जारी रहा। दिनभर बूंदाबांदी होने के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त दिखा। वहीं लाठी क्षेत्र में पांच दिन से मौसम में बार-बार बदलाव आ रहा हैं। गुरुवार सुबह से ही उमस व गर्मी का असर देखने को मिला। सुबह बादलों की आवाजाही का दौर बना रहा। चार बजे के करीब घने बादल छाने शुरू हो गए। जिससे दिन में ही अंधेरा छा गया। शाम पांच बजे के बाद तेज गर्जन के साथ बारिश हुई।

जैसलमेर के किसानों काे होगा करोड़ों का नुकसान

अगर मौसम में यह बदलाव जारी रहा तो किसानों की फसलों को नुकसान होगा। जिससे इस बार किसान फिर से कर्ज में डूब जाएंगे। जिससे किसानों को करोड़ों रुपए का नुकसान होगा। आसमान में बादलों की आवाजाही के साथ ही बरसात से किसानों के चेहरे का रंग उड़ गया है। पूरे जिले में बदले मौसम को लेकर किसानाें के चेहरे पर चिंता की लकीरें उभर आई है।

{बुधवार को 1 एमएम व गुरूवार को 1.5 एमएम हुई बारिश

मौसम विभाग के अनुसार जैसलमेर में बुधवार को 1 एमएम व गुरूवार को 1.5 एमएम बारिश दर्ज की गई। हालांकि यह बरसात सिर्फ शहर की ही है। लेकिन इसके साथ ही ग्रामीण अंचलों में भी दिन भर फुहाराें का दौर चला। मोहनगढ़ व रामगढ़ सहित आस पास के क्षेत्र में रुक रूककर दिन भी रिमझिम बरसात चली।

मोहनगढ़ क्षेत्र के गांवों में चने की आकार के ओले गिरे, फसलें बर्बाद

{जीरा व ईसब पर मंडरा रहा है खतरा | जैसलमेर में बूंदाबांदी व लगातार बदल रहे मौसम से किसानों की खड़ी फसल फसलों पर खतरा मंडरा रहा है। किसानों को इस बार रबी की फसल में जीरा व ईसब की खेती कर अच्छी पैदावार होने की उम्मीद है। लेकिन मौसम के बदलाव से किसानों के चेहरों पर चिंता की लकीरें ला दी है।

मोहनगढ. मोहनगढ के पास नहरी क्षेत्र में गिरे ओले।

X
Pokran News - rajasthan news hail fell in the canal area mercury fell 110 due to rain

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना