• Hindi News
  • Rajasthan
  • Nagour
  • Nawa News rajasthan news if food is not available for three days then 200 laborers loaded with household material on the head 800 km away on foot to mp

तीन दिन से भोजन नहीं मिला तो सिर पर गृहस्थी का सामान लाद 200 मजदूर 800 किमी दूर एमपी के लिए पैदल रवाना

Nagour News - रास्ते में भामाशाहों से मदद मिलने की उम्मीद के सहारे 20 दिन का सफर शुरू भास्कर टीम ने श्रमिकों से बातचीत की।...

Mar 27, 2020, 09:05 AM IST
Nawa News - rajasthan news if food is not available for three days then 200 laborers loaded with household material on the head 800 km away on foot to mp

रास्ते में भामाशाहों से मदद मिलने की उम्मीद के सहारे 20 दिन का सफर शुरू


भास्कर टीम ने श्रमिकों से बातचीत की। श्रमिकों ने बताया कि लगभग 200 मजदूर रवाना हुए है और सभी मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं। उनके गांव की दूरी लगभग 800 किमी है। कुचामन में रहने व खाने की व्यवस्था नहीं की गई तो पैदल ही रवाना हो गए। मजदूरों ने बताया कि लगभग 20 दिनों में घर पहुंच जाएंगे। पालिका के स्वास्थ्य निरीक्षक प्रदीप गौतम ने मजूदरों को भोजन करवाने के पश्चात उन्हें नावां ही रुकने की अपील की और कहा कि आपके यहां ही भोजन की व्यवस्था करवा दी जाएगी लेकिन मजूदरों ने कहां कि हमारे परिजन जो घरों में बैठे हैं, उनके लिए हमें लौटना पड़ेगा। मजदूरों को मीठड़ी में पूर्व सरपंच लोकेंद्र सिंह व ग्राम पंचायत की ओर से मजूदरों को भोजन करवाया गया। नावां के भींवड़ा नाडा बालाजी मंदिर के पास नावां नगरपालिका के स्वास्थ्य निरीक्षक प्रदीप गौतम ने सभी मजदूरों को भोजन करवाया।

एसडीएम बोले- नमक उत्पादक मजदूरों को निकालें नहीं, हमें बताएं, खाना देंगे

नावां एसडीएम ब्रह्मलाल जाट ने कहा कि सभी नमक व्यापारियों को अपने मजदूरों के राशन-पानी व रहने की व्यवस्था करनी है। नमक रिफाइनरी एसोसिएशन व उत्पादक संघ के पदाधिकारियों को भी यह निर्देश दिए गए है। यदि कोई सक्षम नहीं है तो मजदूरों को निकालने के बजाय प्रशासन को इसकी सूचना दें।

नावां सिटी | प्रधानमंत्री की ओर से पूरे देश में तीन सप्ताह का लॉकडाउन लगाने के पश्चात मध्यप्रदेश के मजूदरों की तीन दिन तक किसी ने भी भोजन व रहने की व्यवस्था नहीं की तो बुधवार की शाम सैकड़ों मजदूर नावां-कुचामन से अपने घरों की ओर रवाना हो गए। बुधवार की रात लगभग साढ़े दस बजे मजदूरों ने शहर के भींवड़ा नाडा बालाजी मंदिर के पास डेरा डाला। सूचना मिलने पर पालिका प्रशासन की ओर से भोजन की व्यवस्था की गई तथा मजदूरों को रुकने के लिए कहां गया। श्रमिकों ने भोजन करने के साथ ही रुकने से इंकार कर दिया और सुबह होते ही वापस रवाना हो गए। न पेट भरने का जुगाड़ और न ही रहने का ठिकाना तो भी मजदूरों ने सैकड़ों किलोमीटर पैदल ही यात्रा करने का निर्णय ले लिया।

X
Nawa News - rajasthan news if food is not available for three days then 200 laborers loaded with household material on the head 800 km away on foot to mp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना