• Hindi News
  • Rajasthan
  • Hanumangarh
  • Hanumangarh News rajasthan news impact of kareena on wheat harvesting farmers are not getting laborers even combine machines from punjab

गेहूं की कटाई पर काेराेना का प्रभाव, किसानों काे नहीं मिल रहे मजदूर, पंजाब से भी नहीं अाई कंबाइन मशीनें

Hanumangarh News - काेराेना वायरस के संक्रमण काे राेकने के लिए पूरा देश लाॅकडाउन है। इस स्थिति में सबसे अधिक मार किसानों पर पड़ने...

Mar 27, 2020, 07:46 AM IST
Hanumangarh News - rajasthan news impact of kareena on wheat harvesting farmers are not getting laborers even combine machines from punjab

काेराेना वायरस के संक्रमण काे राेकने के लिए पूरा देश लाॅकडाउन है। इस स्थिति में सबसे अधिक मार किसानों पर पड़ने का अंदेशा है। इस समय रबी सीजन की फसलें पकाव पर पहंुच चुकी है। सरसों का कटाव भी शुरू हाे चुका है। 10 अप्रैल के अास-पास गेहूं व जाै की फसल पककर तैयार हाे जाएगी। एक सप्ताह बाद चने की कटाई भी शुरू हाे जाएगी। राज्य सरकार ने किसानों काे फसल कटाई में विशेष सावधानी बरतने व अधिकांश कार्य मशीनाें से करवाने की अपील की है। काेराेना वायरस का खाैफ के साथ किसानों काे फसल कटाई की चिंता सता रही है। जिले में इस बार करीब 6 लाख हैक्टेयर में गेहूं, सरसाें, चना, जाै व तारामीरा की िबजाई हुई है। किसानों के सामने सबसे बड़ा संकट यह है कि फसल कटाई के लिए उन्हें न ताे पर्याप्त संख्या में मजदूर मिल रहे हैं अाैर न ही मशीनाें की व्यवस्था है। सरसों की कटाई ताे जैसे-तैसे काश्तकार कर लेंगे, लेकिन सबसे ज्यादा दिक्कत गेहूं की कटाई काे लेकर अाएगी। काश्तकाराें के अनुसार चार से पांच व्यक्ति एक दिन में एक बीघा सरसों की कटाई कर देते हैं, जबकि गेहूं की कटाई के लिए बड़ी संख्या में श्रमिकाें की अावश्यकता हाेती है। वर्तमान में जाे माहाैल चल रहा है उसमें काेई भी मजदूर गेहंू की कटाई के लिए तैयार नहीं हाे रहा। गेहूं की कटाई के लिए यहां कंबाइन भी बहुत कम है। हर बार सीजन में हनुमानगढ़ जिले पंजाब से 300 से 500 कंबाइन मशीनें अाती है। इस बार लाॅकडाउन के चलते एक भी कंबाइन नहीं अाने की संभावना है। काश्तकाराें काे हर समय यही िचंता सता रही है।

{सावधानीपूर्वक कृषि जिंसाें की खरीद कर सकेंगे व्यापारी

खाद्य प्रसंस्करण प्लांटाें की सप्लाई चैन सुचारू रखने के लिए राज्य सरकार ने अनाज मंडियाें में जिंसाें की खरीद करने की अनुमति दी है। इसमें किसानों व व्यापारियाें काे िवशेष सावधानी बरतने की हिदायत दी गई है। कृषि उपज मंडी समिति के सचिव सीएल वर्मा ने बताया कि अगर काेई किसान मंडी में जिंस लेकर अा गया ताे व्यापारी एक मीटर की दूरी पर खड़े रहकर बाेली लगा सकते हैं। समर्थन मूल्य पर खरीद संबंधी अभी तक काेई गाइडलाइन जारी नहीं हुई है। हालांकि लाॅक डाउन के मद्देनजर अब अनाज मंडी में काेई भी किसान जिंस लेकर नहीं अा रहे हैं।


पकाव के 15 दिन में नहीं हुअा गेहूं का कटान ताे किसानों काे हाेगा भारी परेशान

10 अप्रैल के अास-पास गेहूं की फसल पककर तैयार हाे जाती है। पकाव के 15 दिनाें के अंदर अगर कटान नहीं हुअा ताे गेहूं की बलियां टूटकर गिर जाएगी। इससे काश्तकाराें काे भारी नुकसान हाेगा। समय पर कटाई नहीं हाेने से उत्पादन अाधा भी नहीं रहेगा। इस बार जिले में 2 लाख 46 हजार 830 हैक्टेयर में गेहूं की िबजाई हुई है। 5 से 7 मजदूर एक दिन में एक बीघा की ही कटाई कर पाते हैं। लिहाजा लाखाें की संख्या में मजदूर मिलने पर ही हाथ से कटाई हाे सकती है। िपछले 5-7 सालाें से पर्याप्त संख्या में मजदूर नहीं मिलने के कारण ज्यादातर किसान कंबाइन से ही गेहूं िनकलवाते हैं। कंबाइन मशीनें भी ज्यादातर पंजाब से अाती है। इस बार पंजाब में कर्फ्यू लगा हुअा है। इस स्थिति में पंजाब से कंबाइन मशीनें नहीं अा पाएगी। किसान फसलाें की कटाई कैसे करवा पाएंगे यह बड़ा सवाल है।


फसल कटाई में जुटे, दूरी भी बनाकर रखी।

गेहूं की कटाई काे लेकर प्रशासन काे करनी हाेगी व्यवस्था


कटाई के दाैरान सावधानी बरतने की अपील की जा रही


पंजाब से अाने वाली कंबाइन मशीनाें काे अनुमति देना खतरे से खाली नहीं

किसानाें की मांग पर सरकार द्वारा पंजाब से अाने वाली कंबाइन मशीनाें काे अनुमति भी दी जाती है ताे यह किसी खतरे से खाली नहीं है। वर्तमान में दूसरे राज्य या अन्य जिलाें से अाने वाले लाेगाें की जांच कर 14 दिन अाइसाेलेशन में रखा जाता है। एेसे में एक कंबाइन मशीन पर ही चार से पांच जनाें का स्टाफ हाेता है। उनकी जांच अाैर हाेम अाइसाेलेशन में रखने की प्रक्रिया में ही सीजन निकल जाएगा। अगर बगैर जांच प्रक्रिया के अनुमति मिली ताे बड़े खतरे का अंदेशा रहेगा। एेसे में राज्य सरकार ने इस संबंध में अब तक काेई गाइडलाइन जारी नहीं की है। सिर्फ यही अनुमति दी है कि सावधानीपूर्वक किसान फसल काट सकते हैं। ज्यादातर कार्य मशीनाें से किया जाए। जबकि यहां पर्याप्त संख्या में मशीनें नहीं है।

Hanumangarh News - rajasthan news impact of kareena on wheat harvesting farmers are not getting laborers even combine machines from punjab
Hanumangarh News - rajasthan news impact of kareena on wheat harvesting farmers are not getting laborers even combine machines from punjab
Hanumangarh News - rajasthan news impact of kareena on wheat harvesting farmers are not getting laborers even combine machines from punjab
X
Hanumangarh News - rajasthan news impact of kareena on wheat harvesting farmers are not getting laborers even combine machines from punjab
Hanumangarh News - rajasthan news impact of kareena on wheat harvesting farmers are not getting laborers even combine machines from punjab
Hanumangarh News - rajasthan news impact of kareena on wheat harvesting farmers are not getting laborers even combine machines from punjab
Hanumangarh News - rajasthan news impact of kareena on wheat harvesting farmers are not getting laborers even combine machines from punjab

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना