अलवर तिराहे पर भूखे प्यासे बंदरों के लिए एसडीएम काे व्यवस्था करने के दिए निर्देश

Zila News News - लॉकडाउन के चलते उपखंड क्षेत्र के अलवर तिराहे पर फल-फ्रुट की व अन्य दुकानें बंद रहने से बंदरों की खाने-पीने की...

Mar 26, 2020, 10:05 AM IST

लॉकडाउन के चलते उपखंड क्षेत्र के अलवर तिराहे पर फल-फ्रुट की व अन्य दुकानें बंद रहने से बंदरों की खाने-पीने की व्यवस्था नहीं होने से हालत खस्ता हो रही है। विधायक इंद्राज गुर्जर की पहल के बाद बुधवार को भामाशाह आगे आने लगे है। विधायक के निर्देश पर जवानपुरा सरपंच जयराम पलसानियां ने बंदरों को पानी पिलाने के लिए टैंकर से पानी डलवाया। पंचायत द्वारा लॉक डाउन के दौरान नियमित एक पानी का टैंकर डलवाया जाएगा। उपखंड प्रशासन के निर्देश पर दो क्विंटल केले डालने की व्यवस्था भी शुरू कर दी गई। कई लोग बंदरों को खिलाने के लिए सब्जी आदि भी डाल रहे है।

मंगलवार शाम को जयपुर से पावटा की ओर लौट रहे विधायक इंद्राज गुर्जर ने अलवर तिराहे पर दो बंदरों की मौत व बंदरों की हालत देखते एसडीएम को नियमित बंदरों को खाने-पीने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए थे। बंदरों की हालत को देखते हुए विधायक ने विराटनगर व पावटा से केले व बिस्कुट,चने आदि मंगवाकर बंदरों को खाने के लिए डाला गया था।

विराटनगर.अलवर तिराहे पर बंदरों को खिलाने के लिए सब्जी डालते हुए।

मंगलवार शाम को जयपुर से पावटा की ओर लौट रहे विधायक इंद्राज गुर्जर ने अलवर तिराहे पर दो बंदरों की मौत व बंदरों की हालत देखते एसडीएम को नियमित बंदरों को खाने-पीने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए थे। बंदरों की हालत को देखते हुए विधायक ने विराटनगर व पावटा से केले व बिस्कुट,चने आदि मंगवाकर बंदरों को खाने के लिए डाला गया था।

उन्होंने बताया कि एक दिन एसडीएम कार्यालय कर्मचारी, एक दिन तहसील कार्यालय कर्मचारी, एक दिन पंचायत समिति कार्यालय कर्मचारी के द्वारा दो क्विंटल केले के लिए पाबंद किया है। इसके बाद प्रत्येक सरपंच व ग्राम विकास अधिकारी को एक-एक दिन इसकी व्यवस्था करने के लिए पाबंद किया गया है। विधायक द्वारा सोशल मीडिया पर भी बंदरों को खाने-पीने की व्यवस्था करने के लिए पोस्ट डाली गई। इसके बाद कई भामाशाहों ने बंदरों को खाने के लिए आवश्यक सामग्री डाली गई।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना