कैथून में 434 और सुल्तानपुर में 350 के पार हुई ओपीडी, इटावा में लापरवाही पड़ सकती है भारी

Zila News News - कोरोनावायरस के प्रकोप के चलते जहां एक तरफ सभी लोग बचाव के लिए प्रयासरत है, वहीं दूसरी अाेर मौसमी बीमारियों के...

Mar 27, 2020, 07:47 AM IST
Itawah News - rajasthan news opd crosses 434 in kathun and 350 in sultanpur negligence may be heavy in etawah

कोरोनावायरस के प्रकोप के चलते जहां एक तरफ सभी लोग बचाव के लिए प्रयासरत है, वहीं दूसरी अाेर मौसमी बीमारियों के प्रकोप के चलते सीएचसी में लगातार मरीजों की ओपीडी बढती जा रही है। गुरुवार को यहां 435 मरीज पहुंचे। इस दौरान पर्ची काउंटर पर अधिक भीड़ हो जाने के कारण कुछ समय के लिए पर्ची काउंटर पर जाने वाले मुख्य गेट को बंद कर दिया गया। इस दौरान डाॅक्टरों के कमरों के बाहर मरीजों की लम्बी लम्बी कतारे लग गई और अपनी बारी आने का इंतजार करते रहे।

प्रशासन के दिशा निर्देशों के बावजूद सभी मरीज कतारों में पास पास खडे रहने से संक्रमण फैलने का खतरा बना हुआ है। मौसमी बीमारियां तेजी से बढती जा रही है। इस कारण मरीज कोरोना संक्रमण फैलने के खतरे को जानते हुए भी मजबूरन कतारों में लग कर अपना उपचार करवा रहे हैं। इसी प्रकार दवा वितरण दो काउंटरों पर हो रहा है, लेकिन वहां भी मरीजों के दबाव के चलते कतारें लगी रही। वहीं बाहर से आए सभी 60 लोग अपने घरों में ही 14 दिनों तक आइसोलेशन ले रहे है। चिकित्सा प्रभारी डॉ. विवेक गोयल ने बताया कि माैसमी बीमारियाें के राेगी अधिक अा रहे हैं। वहीं लाॅकडाउन को कामयाब बनाने के लिए पुलिस ने सभी रास्ते सील कर वहा पुलिस तैनात कर अनावश्यक आवागमन रोक दिया है। सीआई राजेश सोनी ने बताया कि कस्बे में फालतू लोगों के आवागमन रोकने के लिए रास्तों पर नाकाबंदी की है। जरूरी काम हाेने पर ही लाेगाें काे जाने दिया जा रहा है। पुलिस ने अकारण बाइक पर घूमने वालों पर कार्रवाई कर 50 बाइक काे जब्त किया है। वहीं लॉकडाउन के दौरान समोसे का ठेला लगाने पर अब्दुल सत्तार को गिरफ्तार किया है।

इटावा. नगर सहित क्षेत्र में सरकार व प्रशासन के इंतजामों के बाद भी लोगों की कोराना संक्रमण की रोकथाम को लेकर दिए निर्देशों की पालना नहीं करना भारी पड़ सकता है। जहां सरकार ने सोशल दूरी को लेकर निर्देश दिए है, लेकिन इटावा में गुरुवार को सब्जीमंडी सहित बाजारों में कई दुकानों के बाहर लोग बिना दूरी के ही सामानों की खरीद करते आये। इसके अलावा अस्पताल में भी पर्ची से लेकर चिकित्सक को दिखाने व दवा काउंटर तक लाइनें लगी रही। जिससे इस संक्रमण को लेकर जो सबसे बड़ी वजह है। इसको लेकर जबकि प्रशासन के अधिकारी लोगो को जागरूक करने व सोशल दूरी बनाने सहित इस आपदा को लेकर समय समय पर मिल रहे निर्देशो से जागरूक करने के बाद भी लोगो द्वारा आपस मे दूरी नही बनाकर कार्य करना किसी बड़ी आपदा बन सकती है।

सुल्तानपुर. कोरोना संक्रमण को लेकर लॉकडाउन के बीच लोग मौसमी बीमारियों को लेकर अस्पताल पहुंच रहे हैं। घरों पर रहने के अपील के बाद भी कई लोग बिना काम भी अस्पताल पहुंच रहे हैं। गुरुवार को ओपीडी 350 के पार पहुंच गई। यहां दवा वितरण केंद्र व पर्ची काउंटर पर लोगों की लंबी-लंबी कतारें देखी गई। जिनमें खांसी, जुकाम, बुखार के मरीजों के साथ-साथ कई लोग सामान्य होने के बाद भी अस्पताल में पहुंच रहे हैं। डॉक्टरों ने बताया कि अभी मौसम में परिवर्तन हो रहा है। इससे लोगों के शरीर में मामूली परिवर्तन होता है। ऐसे में लोग अस्पताल नहीं पहुंचे और घर पर भी उसका उपचार कर सकते हैं। इमरजेंसी केस हो तभी अस्पताल पहुंचे, ताकि अस्पताल परिसर में भी भीड़ ना हो और कोरोना संक्रमण फैलने से बचा जा सके। सीएचसी प्रभारी डॉ. परवेज खान ने बताया कि पर्ची काउंटर व दवा वितरण केंद्र पर भीड़ जमा न हो इसके लिए प्रत्येक एक मीटर की दूरी पर गोले बनाए जाएंगे। वहीं लॉकडाउन के बाद सभी लोग अपने घरों पर रहने को बाध्य हो गए हैं। जिसकी वजह से गरीब असहाय व रोजाना कमा कर खाने वाला व्यक्ति परेशान हो रहे हैं। ऐसे लोगों की मदद के लिए की गई अपील के बाद अब लोग आगे आ रहे हैं। करीबन सभी गांव में भामाशाह गरीब,असहाय लोगों की हर संभव मदद कर रहे हैं। कस्बे में टीम पूर्व सरपंच विनीत शर्मा के नेतृत्व में गली मोहल्ले में पहुंचकर भोजन के पैकेट बांटे जा रहे हैं। शर्मा ने बताया कि पहले खाद्य सामग्री के किट बांटे थे। अब खाने के पैकेट गरीब, असहाय, दिहाड़ी मजदूरों को बांट रहे हैं। किशोरपुरा पंचायत में सरपंच नीरज नागर, कोटड़ा दीपसिंह पंचायत में सरपंच संतोष बैरवा, टाकरवाडा में सरपंच महावीर गौतम, तोरण में सरपंच सत्यनारायण वर्मा समेत कई जगह पर भामाशाह, जनप्रतिनिधि व अधिकारी जरुरतमंद लोगों की मदद कर रहे हैं। वहीं मीणा समाज युवा मित्र हैल्प क्लब झाडगांव की अाेर से काेराेना वायरस से बचाव के लिए सरकारी काेष में 5392 रुपए जमा करवाए हैं। वहीं कोरोना संक्रमण के चलते मंडावरा गांव में 2 अप्रैल को रामनवमी पर आयोजित होने वाले जुलूस को स्थगित कर दिया गया है। रवि स्वामी ने बताया कि कोरोना वायरस व लॉकडाउन के चलते श्रीराम जन्मोत्सव समिति ने यह निर्णय लिया है। ताकि जुलूस में भीड़ एकत्रित न हो।

गणेशगंज. काेराेना वायरस काे लेकर पूरे देश में लाॅकडाउन है। वहीं समीपवर्ती रणोदिया गांव में ग्रामीण अभी भी गंभीर नहीं है। यह सरकार के आदेशों की भी धज्जियां उड़ा रहे हैं। यहां लाेग एक जगह जमा हो रहे हैं। गांव में ग्रामीण कई गुमटी व अन्य दुकानों पर बैठकर आपस में बातों के ठहाके लगाते नजर आ रहे हैं। इन्हें न स्वयं की परवाह है और न परिवार की। सरकार के घरों पर रहने के आदेश को यह लोग दरकिनार कर रहे हैं। जहां शहरों में सन्नाटा पसरा हुआ है, वहीं गांव में दिनभर लाेगाें का जमावड़ा देखा जा सकता है। इससे संक्रमण फैलने का अंदेशा बना हुआ है। वहीं क्षेत्र में शुक्रवार को गणगौर मनाया जाएगा। लाॅकडाउन के कारण इस बार सामूहिक रूप से उत्सव नहीं मनाया जाएगा। महिलाएं घरों पर ही गणगौर की पूजा करेंगी। इसकी तैयारियां जारी रही। गुरुवार को ईसर-गणगौर की प्रतिमाअों को सजाया गया। साथ ही महिलाओं ने घरों पर पूजा के लिए व्यंजन बनाए। लॉकडाउन के चलते सामूहिक पूजा व शोभायात्रा नहीं होगी। जहां पर गणगौर की पूजा अर्चना होगी, वहां पर एक-एक महिलाएं गणगौर की पूजा करेंगी।

कनवास. लाॅकडाउन के चलते गुरुवार काे कस्बे में हाट नहीं लगा। कस्बे में सुबह से ही पास के गांवों से सब्जीविक्रेता सब्जी लेकर पहुंचे, लेकिन प्रशासन की सख्ती से बाहर से आए सब्जी विक्रेताओं को वापस लौटा दिया गया। वहीं आवां चौराहा, धुलेट चौराहा, चमन चौराहा पर बैरिकेट्स लगाकर आने वाले सब्जी विक्रेताओं को रोका गया। साथ ही स्थानीय सब्जी विक्रेताओं ने गणेश चौक में सब्जी की दुकानें लगाने से कस्बेवासी सब्जी लेने के लिए उमड़ पड़े। जिसे देखकर पुलिस प्रशासन सख्त रहा अाैर भीड़ को खदेड़ता देखा गया। शाम को 6 बजे तक सभी किराने की दुकानों को बंद करवा कर व सब्जी विक्रेताओं को भी हटा दिया गया। किराना दुकानदारों ने भी एक मीटर की दूरी पर गोले बनाकर सोशल डिस्टेंसिंग शुरू कर ग्राहकों को सामान दिए। थानाधिकारी विष्णुसिंह दिनभर मय जाब्ते के गश्त करते रहे जिससे अनावश्यक कार्य से बाइक पर घूम रहे युवाओं को पाबंद कर करीब 12 बाइक जब्त की। लॉकडाउन के बावजूद लोग बाजार में बैठे रहते हैं और पुलिस प्रशासन को देखकर गलियों में दुबक जाते हैं। जिससे प्रशासन को सख्ती बरतनी पड़ रही है।

व्यापार संघ के प्रतिनिधियों के साथ प्रशासनिक अधिकारियों ने की बैठक: मंडाना. कस्बे में गुरुवार को थाने पर व्यापार संघ के प्रतिनिधियों के साथ प्रशासनिक अधिकारियों ने बैठक की। बैठक में व्यापार संघ अध्यक्ष अंशुल जैन, राजेन्द्र गुप्ता, ऐजाज अहमद, गुलाबचन्द रांका, सरपंच बबली मीणा, थानाधिकारी महेश कारवाल, नायब तहसीलदार राजेश शर्मा, डॉ. कमल भार्गव, पटवारी सोनू गोडाला शामिल रहे। कस्बे के गरीब मजदूर ऐसे परिवारों को चिन्हित किया जो वास्तविक रूप से रोजी रोटी से मजबूर है। लॉकडाउन के चलते सरकार ने लोगों को घरों में ही रहने को पाबन्द किया है। जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हो। इसके कारण प्रशासन, व्यापार संघ व पंचायत प्रशासन ने 53 ऐसे परिवार की सूची तैयार कर व्यापार संघ के सहयोग से इनको आटा, दाल, तेल उपलब्ध करवाया गया है। वहीं बाहर से आ रहे लोगों की कोरोना वायरस को लेकर स्क्रीनिंग की जा रही है। सीएचसी प्रभारी कमल भार्गव ने बताया कि 23 मार्च से 26 मार्च तक उप तहसील क्षेत्र के गांव-गांव में कोरोना संक्रमण को लेकर 80 लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। जो लोग बाहर से पेशे से या तो ड्राइवर है या बाहर कार्य कर रहे हैं, उनकी स्क्रीनिंग करने पर उनके अंदर खासी, जुकाम, बुखार आदि इस प्रकार के कोई लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं। गुरुवार को कस्बे में पता चला कि वार्ड नंबर 11 में रमेश चारण के घर रूपदान चारण भीलवाड़ा में पास का रहने वाला 5-6 दिन से रह रहा था। चिकित्सा टीम ने रमेश चारण के घर पहुंच कर पता किया तो वह व्यक्ति वहां नहीं मिला। वहां उपस्थित चम्पाबाई की स्क्रीनिंग की गई। वहीं मुन्ना अंसारी जो कि नेपाल से कानपुर होते हुए कोटा से मंडाना आया, उसकी भी स्क्रीनिंग की गई। परिजनों को निर्देश दिए कि इसे आइसोलेशन में रखा जाए। इसकी सूचना कंट्राेल रूम ग्राम विकास अधिकारी महावीर जैन को दी गई।

दीगोद. कोरोना वायरस से बचाव के लिए जारी लाॅकडाउन में जरूरतमंद लाेगाें की मदद के लिए पुलिस अागे अाई है। लॉकडाउन में सबसे ज्यादा परेशानी उन लोगों की बढ़ गई है और जो रोज कमाते खाते हैं। ऐसे में इन गरीब लोगों सहारा बनी है पुलिस। लॉकडाउन की घोषणा के बाद पुलिस ने क्षेत्र में गरीबों के लिए भोजन का इंतजाम किया। कुछ स्थानों पर खाने का सामान भी लॉकडाउन में फंसे लोगों को दिया गया।

देवली मांजी. स्वास्थ्य विभाग की चिकित्सक टीम ने गुरूवार को बालुहेडा चिकित्सा अधिकारी डॉ. अल्ताफ अहमद के नेतृत्व में ढोटी, हरिपुरामांजी, गोपालपुरा, रूपाहेड़ा व देवली में बाहर से आए लोगों की स्क्रीनिंग की गई। वहीं ग्रामीण एसपी राजन दुष्यंत ने गुरुवार को कस्बे का जायजा लिया और कोरोना वायरस को लेकर चल रहे लॉकडाउन की पालना करने के लिए कहा। कस्बे के आसपास खेतों में फसल काटने अन्य जिलों से आए मजदूर परिवारों को पुलिस टीम ने खाने के पैकेट व बच्चों को बिस्किट का वितरण किया।

गणेशगंज. रणोदिया गांव में लाॅकडाउन के बावजूद जमा होकर बातें करते लोग।

सुल्तानपुर. कस्बे की सीएचसी में पर्ची और दवा वितरण काउंटर पर लगी लोगों की भीड़।

इटावा. अस्पताल में लगी मरीजों की कतार, जिससे संक्रमण फैलने का है डर।

कैथून. अस्पताल में काउंटर पर लगी पर्ची बनवाने वालों की कतारें।

Itawah News - rajasthan news opd crosses 434 in kathun and 350 in sultanpur negligence may be heavy in etawah
Itawah News - rajasthan news opd crosses 434 in kathun and 350 in sultanpur negligence may be heavy in etawah
Itawah News - rajasthan news opd crosses 434 in kathun and 350 in sultanpur negligence may be heavy in etawah
Itawah News - rajasthan news opd crosses 434 in kathun and 350 in sultanpur negligence may be heavy in etawah
X
Itawah News - rajasthan news opd crosses 434 in kathun and 350 in sultanpur negligence may be heavy in etawah
Itawah News - rajasthan news opd crosses 434 in kathun and 350 in sultanpur negligence may be heavy in etawah
Itawah News - rajasthan news opd crosses 434 in kathun and 350 in sultanpur negligence may be heavy in etawah
Itawah News - rajasthan news opd crosses 434 in kathun and 350 in sultanpur negligence may be heavy in etawah
Itawah News - rajasthan news opd crosses 434 in kathun and 350 in sultanpur negligence may be heavy in etawah

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना