पौषी अमावस्या पर होगा साल का अंतिम सूर्य ग्रहण

News - इस साल का तीसरा और आखिरी ग्रहण पौषी अमावस्या 26 दिसंबर काे पड़ेगा। इस दिन सूरज लाल अंगूठी जैसा दिखाई देगा। यह ग्रहण...

Dec 04, 2019, 09:41 AM IST
Jaipur News - rajasthan news paushi will be the last solar eclipse of the year on amavasya
इस साल का तीसरा और आखिरी ग्रहण पौषी अमावस्या 26 दिसंबर काे पड़ेगा। इस दिन सूरज लाल अंगूठी जैसा दिखाई देगा। यह ग्रहण जयपुर सहित देशभर में दिखाई देगा। यह सूर्य ग्रहण धनु राशि में मूल नक्षत्र में होगा। वहीं, नए साल 2020 में छह ग्रहण होंगे। 26 दिसंबर के ग्रहण का सूतक काल 25 दिसंबर की रात 8:17 बजे से शुरू होगा। मान्यता के अनुसार सूतक लगने के बाद सभी शुभ कार्य वर्जित रहते हैं। मंदिरों के कपाट भी बंद रहेंगे। इस दौरान पूजा-पाठ या फिर किसी भी प्रकार के धार्मिक अनुष्ठान नहीं होगा। सिर्फ मानसिक जाप और भगवान नाम का स्मरण ही किया जा सकता है।

साल 2020 में कब-कब पड़ेंगे ग्रहण

10 जनवरी- चंद्रग्रहण(उपच्छायी)। इसमें चंद्रमा सिर्फ धुंधला दिखाई देगा। यह सिर्फ खगोलीय घटना होगी, ग्रहण के रूप में मान्य नहीं होग।

5 जून-चंद्रग्रहण, भारत में दिखाई देगा।

21 जून-खग्रास सूर्यग्रहण, भारत में दिखाई देगा।

5 जुलाई- चंद्रग्रहण(उपच्छायी), भारत में दिखाई नहीं देगा।

30 नवंबर- चंद्रग्रहण, भारत में कहीं-कहीं देगा लेकिन राजस्थान, दिल्ली, यूपी, एमपी, हरियाणा, पंजाब व गुजरात में दिखाई नहीं देगा।

14 दिसंबर- सूर्यग्रहण, भारत में दिखाई नहीं देगा।

(पं. रामवतार मिश्र के अनुसार)

ग्रहण का समय




ग्रहण की पौराणिक मान्यता

ज्योतिषाचार्य पं. रामवतार मिश्र ने बताया कि ग्रहण की पौराणिक मान्यता अमृत मंथन में देवताओं और दानवों के बीच युद्ध से जुड़ी है। वहीं, खगाेल शास्त्र के अनुसार पृथ्वी सूरज की परिक्रमा करती है और चांद पृथ्वी की। इस प्रक्रिया में चांद सूरज और धरती के बीच में आता तो सूरज की रोशनी रुक जाती है और अंधेरा फैल जाता है। इसे सूर्यग्रहण कहा जाता है। ज्यादातर में चांद सूरज के कुछ भाग को ढंकता है। जिसे खंड ग्रहण व जब चांद सूरज को पूरी तरह से ढंक लेता है, उसे पूर्ण ग्रहण कहते हैं। यह अमावस्या को होता है।

राशियों पर यह पड़ेगा प्रभाव

ज्य‍ोतिष की दृष्टि से भी सूर्य ग्रहण का विशेष महत्व बताया गया है। ज्योतिष के अनुसार यह सभी राशियों पर अलग-अलग प्रकार का प्रभाव डालता है। ज्योतिषाचार्य पं. रामवतार मिश्र के अनुसार यह ग्रहण मेष, वृष, सिंह, कन्या, मकर के लिए मध्यम फलप्रद, कर्क, तुला, कुंभ व मीन के लिए अच्छा तथा मिथुन, धनु और वृश्चिक राशि के लिए कष्टप्रद रहेगा। मिश्र का यह भी कहना है कि जिन राशियों को यह कष्टप्रद है उन्हें स्नान, दान करना चाहिए।

X
Jaipur News - rajasthan news paushi will be the last solar eclipse of the year on amavasya
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना