बीरमसर में लॉकडाउन की पालना कराने पहुंची पुलिस से मारपीट, 6 आरोपी गिरफ्तार, जेल भेजा

Churu News - बीरमसर गांव में बुधवार शाम लॉकडाउन की पालना कराने पहुंचे पुलिसकर्मियों के साथ कुछ लोगों ने मारपीट की। पुलिस ने 6...

Mar 27, 2020, 09:41 AM IST
Sardarshar News - rajasthan news police in birmasar to lockdown beat 6 accused arrested and sent to jail

बीरमसर गांव में बुधवार शाम लॉकडाउन की पालना कराने पहुंचे पुलिसकर्मियों के साथ कुछ लोगों ने मारपीट की। पुलिस ने 6 लोगों को राजकार्य में बाधा सहित विभिन्न धाराओं में गिरफ्तार किया। उनके स्वास्थ्य की जांच कराई। गुरुवार शाम मजिस्ट्रेट के आदेश पर जेल भेजा। गांव के व्यक्ति ने कंट्रोल रूम चूरू को सूचना दी कि गांव के चौक में 20-30 लोग बिना मास्क लगाए एकत्रित हैं, अपने घर नहीं जा रहे हैं।

कंट्रोल रूम से लॉकडाउन की पालना करवाने के लिए पुलिस थाना को निर्देशित किया, जिस पर पुलिस ने बीरमसर चौकी इंजार्च हैड कांस्टेबल हेमराज सहित तीन जवानों की टीम को गांव भेजा। पुलिस जब गांव के गुवाड़ में पहुंची, तो वहां एक व्यक्ति को छोड़कर कोई व्यक्ति नहीं मिला। पूछताछ करने पर पता चला कि कुछ लोग गांव में आगे चौक पर एकत्रित हैं, जिस पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस को देखकर कुछ लोग, तो वहां से भाग गए, लेकिन 15-20 लोग वहीं पर डटे रहे। पुलिस ने उनकी समझाइश की, तो गांव के लोग उनके साथ मारपीट करने लगे। बीरमसर चौकी इंचार्ज हेमराज ने राजकार्य में बाधा पहुंचाने सहित विभिन्न धाराओं के तहत नामजद मामला दर्ज करवाया। उसके बाद पुलिस ने पुलिस ने बीरमसर निवासी फारूक, मुस्ताक, पीरू खां, आसिफ कायमखानी, रमेशकुमार, श्रीराम प्रजापत को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार किए गए छह लोगों में से रमेश व श्रीराम रिश्ते में पिता-पुत्र हैं।

एमपी-गुजरात से आए 11 लोगों को जांच करवाकर गांव भेजा


चूरू | कलेक्ट्रेट पर तैनात पुलिस ने मध्यप्रदेश और गुजरात से आए 11 लोगों को रोककर पूछताछ की। डीबी अस्पताल में उनकी जांच करवाकर उनके गांव भेजा। मध्यप्रदेश से पिकअप में सवार सात युवक तारानगर जा रहे थे। कलेक्ट्रेट सर्किल पर पुलिस ने उनकी गाड़ी रोककर पूछताछ की, तो बताया कि वे गुजरात में काम करते हैं और कोरोना के चलते तारानगर जा रहे हैं। पुलिस ने सातों युवकों को अस्पताल भिजवाया, जहां पर जांच कर उनको घर में ही रहने के लिए पाबंद कर भेजा गया। इसी तरह पैदल आ रहे एक महिला सहित चार लोगों काे रोककर पूछताछ की, तो उन्होंने कहा कि वे गुजरात से अपने गांव कोहिणा, तारानगर जा रहे हैं। बताया कि गुजरात सरकार बाहर जाने वालों को फ्री में बार्डर पार करा रही है। वहां से वे किसी साधन से जयपुर तक आए। जयपुर से किसी साधन से चूरू आए, उसने ओवरब्रिज के पास उतार गया। ओवरब्रिज से पैदल आ रहे हैं। इनको भी अस्पताल भेज जांच कराई। उसके बाद गांव के लिए रवाना कर दिया गया।

2 दिन पहले धोखाधड़ी के मामले में मिली जमानत, आरोपी सहित जमानती चूरू में फंसे, एसडीएम से अनुमति दिलवाकर जम्मू-कश्मीर के लिए रवाना किया

चूरू | लॉकडाउन के चलते चूरू में धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार एक आरोपी और उसकी जमानत करवाने जम्मू कश्मीर से आए तीन अन्य लोग भी वाहन की सुविधा नहीं मिलने पर फंस गए। दो दिन तक जम्मू कश्मीर जाने का साधन नहीं मिलने पर गुरुवार को एसडीएम से अनुमति दिलवाकर वाहन करवाकर चूरू से रवाना किया गया। एड. शेरसिंह पूनिया ने बताया कि जम्मू कश्मीर के निसार अहमद को सदर थाना पुलिस धोखाधड़ी के मामले में 17 मार्च को गिरफ्तार किया था। 20 मार्च को जमानत करवाई गई। 24 मार्च को मुंसिफ कोर्ट से आरोपी को जमानत पर जेल से रिहा करवाया गया। उसकी जमानत करवाने के लिए जम्मू कश्मीर से तीन लोग आए थे। जमानत मिलने के बाद आरोपी सहित चारो लोग वाहन नहीं मिलने के कारण चूरू में ही फंस गए। उनकी ऐसी हालत को देखकर गुरुवार को एसडीएम अवि गर्ग से अनुमति लेने की कार्रवाई की गई। गुरुवार शाम को एसडीएम से अनुमति मिलने के बाद चारों को चूरू से वाहन किराए पर करवाकर जम्मू कश्मीर के लिए रवाना किया गया।


एक ट्रक व दो पिकअप में आए 70 लोगों को रोका, जांच कराई, घर में रहने को पाबंद कर भेजा

रतनगढ़ | लॉकडाउन में रोजी-रोटी की तलाश में क्षेत्र के लोग, जो बाहर गए हुए हैं, वे अपने घर आने की जुगत में लगे हुए हैं। ऐसे ही लोगों को गुरुवार की शाम रतनगढ़ पुलिस ने बस स्टैंड व घंटाघर के पास रोका। एक ट्रक व दो पिकअप में आए 70 लोगों की अस्पताल में स्वास्थ्य जांच की गई। इनमें तीन महिलाएं व पांच बच्चे भी शामिल हैं। ये लोग रतनगढ़ तहसील के गांव गोलसर व चांपासी तथा सरदारशहर तहसील के गांव देराजसर के रहने वाले हैं। पुलिस ने इन लोगों से पूछताछ की, तो इन्होंने बताया कि वे लोग मजदूरी के लिए गुजरात गए हुए थे। लॉकडाउन में वहां सभी फैक्ट्रियां बंद पड़ी है, इसलिए गांव जा रहे हैं। ट्रक में महिलाओं व बच्चों सहित 30 लोग तथा दो पिकअप में 20-20 लोग थे। इनमें से एक व्यक्ति खांसी से पीड़ित भी पाया गया, जिसे दवा दी। इनको 28 दिनों तक घर में रहने के लिए पाबंद किया गया है। एसडीएम गौरव सैनी के निर्देश पर टीम ने स्वास्थ्य की जांच की। गुजरात से आए लोगों ने बताया कि एक हजार किमी का सफर तय करके रतनगढ़ पहुंचे। यहां तक किसी ने नहीं रोका। इधर, मेडिकल स्टोर संचालक राजेश बैद, मुन्ना राजपुरोहित, अनिरूद्ध प्रजापत, इरफान अली ने नाश्ता करवाया।

लॉकडाउन में बाहर निकलने की सजा...

उदासर. लॉकडाउन में बिना कारण बाहर घर से निकलने वालों पर पुलिस सख्ती दिखाने लग गई है। भीमसर गांव में गुरुवार को बिना कारण व मास्क लगाए युवकों को पुलिस ने मुर्गा बनाया और घर में रहने की हिदायत देकर छोड़ा। लॉकडाउन में घर में रहिए, समाज के दुश्मन मत बनिए।

X
Sardarshar News - rajasthan news police in birmasar to lockdown beat 6 accused arrested and sent to jail

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना