निवाई पालिकाध्यक्ष व पार्षदों ने जरूरतमंदों के लिए दिए 5 लाख

Tonk News - नगरपालिका चेयरमैन व पार्षदों ने दिहाड़ी मजदूरों व गरीब परिवारों को भोजन उपलब्ध करवाने के लिए करीब 5 लाख रुपये...

Mar 27, 2020, 09:06 AM IST

नगरपालिका चेयरमैन व पार्षदों ने दिहाड़ी मजदूरों व गरीब परिवारों को भोजन उपलब्ध करवाने के लिए करीब 5 लाख रुपये सहायता दी है। गुरूवार को पालिकाध्यक्ष राजकुमारी शर्मा व पार्षदों की नगरपालिका में एसडीएम जेपी बैरवा ने बैठक ली। बैठक में पालिकाध्यक्ष ने शहर में कोई भूखा नहीं रहे इसके लिए 1 लाख 51 हजार की नकद राशि व तीन माह का वेतन देने की घोषणा की । इसके अलावा पार्षद अंकुर गुप्ता ने भी 1 लाख 11 हजार रुपये की राशि दी। सभी पार्षदों ने भी सहायता राशि देने की घोषणा की गई। एसडीएम जेपी बैरवा ने बताया कि पालिकाध्यक्ष व पार्षदों ने करीब 5 लाख रुपये की राशि सहायता के लिए दी है।

एसडीएम ने बताया कि दिहाड़ी मजदूरों व गरीब परिवारों की सहायता के लिए अनेक भामाशाह व सामाजिक संगठन आगे आ रहे हैं। ऑयल मिल एसोसिएशन ने 2 लाख रुपये के फूड पैकेट, कृषि मण्डी व्यापार मंडल ने 300 फूड पैकेट, विष्णु बोहरा एण्ड ग्रुप ने 200 फूड पैकेट दिए हैं। इसी प्रकार नवयुवक मंडल व विजय शर्मा एण्ड ग्रुप की ओर से प्रतिदिन तैयार भोजन के 400 पैकेट वितरित किए जा रहे हैं। इसी प्रकार स्टार किड्स स्कूल व सेठ मूलचंद शिक्षण संस्थान ने भी मुख्यमंत्री सहायता कोष में 1100 रुपये का चेक दिया। राजस्थान आयुर्वेद नर्सेज ने भी एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री काेराेना आपदा कोष में देने की घोषणा की है।

सोलंगपुरा में पाबंदी के बावजूद खुल रही चाय की दुकान

टोंक | शहर के सोलंगपुरा सहित कुछ जगहों पर पुलिस गश्त के बाद लोग चोरी-छूपे चाय की दुकानें संचालित होने से वहां लोग एकत्र हो रहे हैं। पुलिस की गाडी आते हैं दुकान बंद कर दी जाती हैं अाैर वापस जाने पर दुकानें खोल दी जाती है। जहां एक-दो नही कई लोग एक साथ बैठकर चाय की चुस्कियां लेते नजर आ रहे हैं।

बनेठा | उपतहसील मुख्यालय सहित ग्रामीण अंचलो मे लाॅक डाउन के चार दिनो तक बंद का असर बरकरार था। मगर गुरूवार सुबह 7 से शाम 7 बजे तक दूध, फल, सब्जी सहित किराने की दुकानों के खोलने के आदेशों के बाद लाॅक डाउन का असर कम ही दिखा गया। दिनभर लोगों की बाजार, बस स्टैंड, छतरी चौराहे पर आवाजाही रही।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना