ग्रामीण अंचलों में दुकानाें के अागे साेशल डिस्टेंसिंग के लिए बन रहे सुरक्षा के गाेले

Zila News News - काेराेना वायरस के संक्रमण की राेकथाम काे लेकर चल रहे लाॅक डाउन एवं धारा 144 की सख्ती से पालना काे लेकर प्रशासन पूरी...

Mar 27, 2020, 09:45 AM IST

काेराेना वायरस के संक्रमण की राेकथाम काे लेकर चल रहे लाॅक डाउन एवं धारा 144 की सख्ती से पालना काे लेकर प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है। साथ ही लाॅक डाउन के दाैरान लाेगाें की जरूरताें का भी पूरा ध्यान रखा जा रहा है। जरूरतमंद लाेगाें काे नगरपालिका एवं ग्राम पंचायताें के अपने- अपने क्षेत्र में फूड पैकेट बांटे जा रहे है ताकि काेई भूखा नहीं रहे। शहर में दुकानाें के बाहर भीड़ नहीं हाे, इसके लिए नगरपालिका प्रशासन ने साेशल डिस्टेंसिंग के लिए पांच- पांच गाेले बनाए गए, ताकि लाेग सामान खरीदते समय एक दूसरे के सम्पर्क में नहीं अा सके।

डीएसपी नेहा अग्रवाल ने बताया कि बाहर से आने वाले वाहनों की जांच की जा रही है। विधायक आलोक बेनीवाल ने भी शहरवासियों से जागरूकता का परिचय देते हुए घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील की है। प्रशासन द्वारा आवश्यक सेवाओं जैसे परचून की दुकानों को सुबह 7 से 10 बजे तक दुकानें खोलने की समय सीमा तय की गई थी। इसके चलते सुबह 10 बजे तक किराना की दुकान पर सामान खरीदने वाले ग्राहकों का तांता लगा रहा। पुलिस के बार-बार सोशल डिस्टेंसिस का हवाला दिया गया। दुकानदारों ने सरकारी एडवाइजरी का पालन करते हुए अपनी दुकानें 10 बजे बंद कर दी थी, लेकिन उपखंड अधिकारी के सोशल मीडिया पर पूरे दिन आवश्यक सेवाओं की दुकानों की खोले जाने के आदेशों के प्रसारित होने के बाद किराना व दूध की डेयरी के दुकानदारों ने अपनी दुकानें दोपहर करीब 12 बजे खोल ली, लेकिन मीडिया में सुबह 10 बजे तक समय सीमा की खबर प्रकाशित होने के बाद ग्राहक बहुत कम संख्या में ही किराना की दुकान पर सामान खरीदने पहुंचे। पुलिस ने माइक से बार-बार लोगों के घर चले जाने की घोषणा की, लेकिन बावजूद इसके कुछ लोग नहीं माने जिन्हें जबरदस्ती घर भेजा गया। प्रशासन का कहना है कि कालाबाजारी की सूचना मिलने के बाद पूरे दिन आवश्यक सेवाओं के खोले जाने के आदेश जारी किए गए। उपखंड अधिकारी नरेंद्र कुमार मीणा ने बताया कि अगर कोई दुकानदार अनावश्यक अधिक कीमत पर सामान बेचते पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सब्जी खरीदने वालों की भीड़

शहर की सब्जी मंडी में आगामी दिनों में सब्जी नहीं होने के डर के चलते सब्जी खरीदने वालों की भीड़ उमड़ रही है। सुबह 7 बजे से ही रिटेल सब्जी खरीदने वाले लोगों का तांता लग जाता है। सब्जी खरीदने वालाें ने बताया कि हम ऐसी सब्जी अधिक ले जा रहे है जो कई दिनों तक खराब नहीं होती है। इधर सब्जी मंडी के अाढतियां गुड्डू सैनी व नाथू लाल सैनी ने कहा कि शाहपुरा की सब्जी मंडी में फ़िलहाल सब्जी की कोई कमी नहीं है। उपखंड अधिकारी नरेंद्र कुमार मीणा व अधिशासी अधिकारी ऋषिदेव अाेला ने कहा कि घर के लिए सब्जी खरीदने वालों को सब्जी मंडी में आने की कोई जरूरत नहीं है। सब्जी खरीदने वाले अपने समीप के दुकानदारों से ही सब्जी खरीदें लोगों को इतनी ही सब्जी खरीदनी चाहिए। जितनी उन्हें कुछ दिनों की जरूरत है अधिकतर लोग डर के चलते हुए अधिक सब्जी ले जा रहे है। दैनिक भास्कर में खबर प्रकाशित होने के बाद सब्जी मंडी में अधिकांश दुकानदार अपने मुंह पर मास्क लगाते नजर आए। झंडी प्रसाद पेट्रोल पंप के मालिक पवन भगेरिया ने बताया कि उनके यहां पेट्रोल व डीजल उन्हीं लोगों को दे रहे हैं जो मास्क पहन कर आ रहे है। उनके कर्मचारी भी लोगों को मास व सेनिटाइजर के लिए जागरूक कर रहे हैं पेट्रोल व डीजल लेने आने वाले लोगों के हाथों को भी सेनिटाइजर किया जा रहा है।

लाेगाें काे बांटे फूड पैकेट

ईअाे ऋषिदेव अाेला व जेईएन अनिल जाेनवाल ने बताया कि काेराेना वायरस के संक्रमण काे राेकने के लिए लाॅक डाउन के चलते कई घुमन्तु, बेसहारा सहित अार्थिक रूप से कमजाेर लाेगाें की परेशानी काे देखते हुए नगरपालिका की अाेर से फूड पैकेट वितरण किए जा रहे है। अब तक एेसे 192 परिवाराें काे चिन्हित किया जा चुका है, जिनकाे पांच किलाे अाटा सहित अन्य खाद्य सामग्री इनकी बस्तियाें में जाकर वितरण किया गया है। पांच दिन के बाद फिर से फूड पैकेट बांटे जाएंगे। जेईएन जाेनवाल ने बताया कि जरूरतमंदाें की सहायता के लिए बबलू ठेकेदार ने 5100, देवेंद्र ठेकेदार ने 5100 एवं त्रिवेणी सत्संग मंडल समिति के काेषाध्यक्ष श्यामसुंदर जाेशी ने 21 हजार, चिंटू व महेंद्र अग्रवाल ने 11 हजार, राजेश अग्रवाल ने 10 किलाे हल्दी व एक हजार की सहायता प्रदान की है।

तैनात रही पुलिस

लाॅक डाउन व धारा 144 की पालना करवाने के लिए शहर के सभी प्रमुख सड़काें पर भारी मात्रा में पुलिस जाब्ता तैनात रहा। पुलिस ने प्रतिबंध के बावूजद अाने वाले निजी वाहन चालकाें पर सख्ती बरती रही। एेसे वाहन चालकाें काे वापस अपने घर भेज दिया। पुलिस ने लाेगाें से बेवजह नहीं घूमने की अपील भी की। राजपुरा माेड़, मंडी तिराहा, जयपुर तिराहा, पीपली तिराहा, दिल्ली राेड सहित कई स्थानाें पर पुलिस तैनात रही। पुलिस कर्मचारी ई रिक्शा के माध्यम से शहर में बार बार चक्कर लगाकर लाेगाें काे अपने घराें में ही रहने की अपील करती रही। पुलिस ने कहा कि जनता अगर लाॅक डाउन का सख्ती से पालन कर ले ताे इस महामारी पर नियंत्रण पाया जा सकता है।

एक मीटर की दूरी बनाए रखें तो हरा सकेंगे कोरोना वायरस को

बांसखो| कोरोना से बचाव ही इसका उपचार है और सरकार बार-बार इस बात के लिए प्रचार प्रसार पर बहुत ज़ोर दे रही है। बचाव का सबसे बढ़िया तरीका भीड़भाड़ से बचाव और बार -बार हाथ धोना तथा हाइजीन मेंटेन करना है।

इससे भी जरूरी एक दूसरे से सुरक्षित दूरी बनाकर इस संक्रमण से बचा जा सकता है। दुकानों पर जरूरी सामान के लिए लोगों का आना जाना लगा रहता है।

देवगांव| दुकानों के आगे गोले बनाते चिकित्सा प्रभारी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना