महिला डॉक्टर की कहीं नहीं लगाई थी ड्यूटी, प्रभारी ने पत्र लिखा तो सीएमएचओ ने उन्हें ही एपीओ किया

Behror News - कस्बे के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी अधिकारी डॉ केपी सिंह को अस्पताल में कार्यरत अन्य डॉक्टर को...

Mar 27, 2020, 09:06 AM IST

कस्बे के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी अधिकारी डॉ केपी सिंह को अस्पताल में कार्यरत अन्य डॉक्टर को कोरोना वायरस ड्यूटी में लगाने का पत्र लिखना भारी पड़ गया। मामले में बीसीएमओ की शिकायत पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने सीएचसी प्रभारी को ही एपीओ कर दिया। इतना ही नहीं किसी भी तरह की ड्यूटी में नहीं लगाई गई महिला डॉक्टर के पति को ही सीएचसी का चार्ज भी सौंप दिया। दरअसल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी अधिकारी डॉ केपी सिंह को 26 फरवरी से कोरोना वायरस रोकथाम की ड्यूटी में लगाया गया था। उन्हें जापानी औद्योगिक क्षेत्र स्थित जापानी कंपनियों में विदेशी संदिग्ध की जांच का काम सौंपा गया।

इसके बाद 21 मार्च को उन्हें आरआरटी टीम और 23 मार्च को क्विक रिस्पांस टीम की ड्यूटी में भी लगा दिया गया। अब प्रभारी डॉ केपी सिंह का कहना है कि उन्होंने दोहरी-तिहरी ड्यूटी को लेकर बीसीएमओ डॉ गजराज सिंह को पत्र लिखा। इसमें नीमराना अस्पताल में तैनात विशेषज्ञ डॉक्टर की कहीं ड्यूटी नहीं होने की जानकारी देते हुए उन्हें कोरोना संबंधी ड्यूटी में लगाने का आग्रह किया था। डॉ सिंह का आरोप है कि बीसीएमओ को यह आग्रह इतना नागवार गुजरा कि उन्होंने इसकी शिकायत सीएमएचओ अलवर को कर दी। बीसीएमओ की शिकायत पर सीएमएचओ डॉ. ओपी मीणा ने उन्हें एपीओ कर दिया और अलवर हाजरी देने के आदेश दिए हैं। जिस महिला विशेषज्ञ डॉक्टर को कोरोना वायरस ड्यूटी में लगाने का आग्रह किया। उसी के चिकित्सक पति को प्रभारी अधिकारी का चार्ज सौंपा।


सीएचसी प्रभारी सहयोग नहीं कर रहे थे। मुझे बीसीएमओ से जो शिकायत मिली उसके तथा पूर्व की चार्ज नहीं लेने की शिकायत के चलते एपीओ किया है। महिला विशेषज्ञ डॉक्टर की ड्यूटी नहीं लगने सहित सभी मामलों की जांच कराएंगे।
-डॉ ओपी मीणा, सीएमएचओ अलवर

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना