घर-घर में आज गूंजेंगे गौर-गौर गौमती, ईसर पूजे पार्वती के गीत

Jaipur News - सोशल रिपोर्टर. जयपुर महिलाओं ने कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते सामाजिक दूरियां बनाते हुए इस साल गणगौर की...

Mar 27, 2020, 07:51 AM IST

सोशल रिपोर्टर. जयपुर

महिलाओं ने कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते सामाजिक दूरियां बनाते हुए इस साल गणगौर की पूजा शुक्रवार को सामूहिक सामूहिक रूप से न करके अपने अपने घरों में ही करने का निर्णय लिया है । इससे पूर्व गुरुवार को महिलाओं ने बगैर घेवर खाये ही सिंजारा मनाया| हाथों और पैरों में घर पर ही मेहंदी रचाई | ईसर गणगौर की प्रतिमाएं बनाई । हर साल सिंजारे पर गली, मोहल्ले, मॉल और बाजारों में जहाँ देर रात तक महिलाओं की रौनक रहती थी, वहीं आज कोरोना के भय के चलते ये जगह सूनी पड़ी रही|

राधा निकुंज की पूजा वर्मा, अरिहंत नगर की मोनिका शर्मा, शिवानी, प्रशांता और सुमन अग्रवाल ने बताया कि

हर साल हम धूमधाम और धींगा मस्ती के बीच गणगौर पर्व बनाती थी लेकिन इस साल कोरोना वायरस के डर व सामाजिक दूरियां बनाए रखने के लिए हमें समूह में पर्व मनाने की बजाये अकेले ही गणगौर पूजन का निर्णय लेना पड़ा है| ना तो हम सुबह एक साथ गणगौर पूजन के लिए जल के कलश, दूब और फूल आदि लेने जाएंगी और न ही शाम को गणगौर को विदा करने के लिए सवारी निकलेंगी| हम सब अपने अपने घर में गणगौर का पूजन करेंगे| शाम को घर में ही टब-बाल्टी आदि में गणगौर का विसर्जन करेंगे|

आजादी के बाद पहली बार जनानी ड्योढ़ी से नहीं निकलेगी गणगौर की सवारी

जयपुर | कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते आजादी के बाद पहली बार सिटी पैलेस से शुक्रवार को गणगौर की सवारी नहीं निकलेगी। हालांकि, पूर्व राजपरिवार की महिलाएं सिटी पैलेस के अंदर हरवर्ष की भांति विधि-विधान से गणगौर माता की पूजा करेंगी। पैलेस के अंदर ही गणगौर को सामाजिक दूरियां बनाते हुए परिक्रमा कराई जाएगी। आजादी के पहले से ही पैलेस की जनानी ड्योढ़ी से हर साल गाजे बाजे से गणगौर माता की सवारी निकलती आई है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना