25 साल से कम उम्र के ये बदमाश अब तक 300 वाहन चुरा चुके

Jaipur News - सवाई मानसिंह हॉस्पिटल के पास से देर रात तीन बाइकों व एक स्कूटी पर जा रहे 10 संदिग्ध लड़कों का पीछा कर मोतीडूंगरी थाना...

Dec 04, 2019, 09:46 AM IST
सवाई मानसिंह हॉस्पिटल के पास से देर रात तीन बाइकों व एक स्कूटी पर जा रहे 10 संदिग्ध लड़कों का पीछा कर मोतीडूंगरी थाना पुलिस ने पकड़ा। उनसे पूछताछ की तो सभी वाहन चोरी के मिले। इनके अलावा बदमाशों के पास 18 बाइक और मिले। बाइक चुराने वालों में एक नाबालिग व 9 बालिग हैं। 25 साल से कम आयु इन बदमाशों ने शहर के कई इलाकों से बाइक चुराई है। चोरी के वाहनो को बेचने के लिए बदमाश एग्जीबिशन लगाते थे। जहां 8-10 हजार में हर तरह की बाइक को बेचते थे। जो बाइक नहीं बिकती उसे कटवा देते थे। पूछताछ में बताया- बहुत गाड़ियां चुराई हैं, गिनती 300 पार तो होगी।

एग्जीबिशन लगा महंगी बाइकें भी 8-10 हजार में बेच देते थे नाबालिग सहित 10 वाहन चोर गिरफ्तार, 22 बाइक बरामद

करौली-भरतपुर के हैं ये वाहन चोर... जो गाड़ी नहीं बिकती थी, उसे कटवा देते थे

23 साल का विकास गैंग का मास्टरमाइंड

1

गिरफ्तार वाहन चोर विकास उर्फ विक्रम उर्फ खज्जी (23), संतराम गुर्जर (19), बच्चू सिंह (22), मुखराम गुर्जर (21) निवासी भरतपुर, विक्रम सिंह (20), लवकुश (22), वीरसिंह (20), रामपाल उर्फ वाल्मीकि (22), बबलू उर्फ भागसिंह (21) करौली के रहने वाले हैं।

2

5

4

3

6

एक आरोपी नाबालिग है, इसलिए उसकी तस्वीर नहीं दी गई है।

7

9

8

अभी जेल से निकले और फिर वाहन चुराने लगे

डीसीपी राहुल जैन ने बताया कि बच्चू सिंह और विक्रम मुख्य आरोपी हैं। हाल ही जेल से बाहर आए हैं। स्टैंडिंग वारंटी भी हैं। विक्रम सिंह पर 12 मुकदमे दर्ज हैं। करौली, भरतपुर, धौलपुर सहित कई इलाकों में बदमाशों ने बाइक चाेरी की वारदात को अंजाम दिया है। मालवीय नगर, महेश नगर, सोढ़ाला, सदर और मानसरोवर से भी बाइक चोरी करना स्वीकारा है। चोरी की बाइकों को एक जगह एकत्रित कर एग्जीबिशन लगाते थे। बिना कागजों के ही बाइक बेचते थे। जो बाइक नहीं बिकती उसे कटवा कर पार्टस बेचते।

जयपुर से 22 बाइक चुराईं

एडिशनल डीसीपी मनोज चौधरी ने बताया कि बदमाश पेचकस से किसी भी बाइक का लॉक तोड़ देते हैं। चोरी की गाड़ी खरीदे वाले को बिना कागजात 10 हजार रुपए में नई बाइक दे देते थे। जो बाइक नहीं बिकती उसे काटकर कबाड़ में बेच देते थे। इन्होंने अकेले जयपुर से 22 बाइक चुराई हैं।

ऐसे पकड़े गए वाहन चोर

एसएमएस हॉस्पिटल के आसपास से बाइक चोरी, मोबाइल व चैन स्नैचिंग जैसी वारदात बढ़ रही थीं। स्पेशल टीम का गठन किया गया। सोमवार रात चार बाइकों पर सवार 10 लड़के नजर आए। इनका पीछा कर पकड़ा तो सभी वाहन चोरी के मिले। यह गैंग वारदात करने की फिराक में ही घूम रहा था।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना