वायरस सबके लिए खतरनाक, जुम्मे की नमाज के लिए ज्यादा भीड़ ना करें एकत्र

Bhiwadi News - कोरोना वायरस ने जिस तरह पूरे विश्व को अपनी चपेट में लेकर सब कुछ चौपट कर दिया है, ऐसे हालात में सरकार भी लोगों से एक...

Mar 27, 2020, 07:06 AM IST

कोरोना वायरस ने जिस तरह पूरे विश्व को अपनी चपेट में लेकर सब कुछ चौपट कर दिया है, ऐसे हालात में सरकार भी लोगों से एक जगह एकत्रित नहीं होने और घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील लगातार कर रही है। तिजारा ब्लॉक में 80 से अधिक मुस्लिम बाहुल्य आबादी के गांव हैं। जिनके लोग हर जुम्मे (शुक्रवार) को नमाज अदा करने के लिए अपने आसपास की जामा मस्जिदों पर जाते रहे हैं। अब चूंकि वायरस का खतरा काफी बढ़ गया है, जिसे देखते हुए पुलिस-प्रशासन सहित मुस्लिम धर्म के जानकार भी समाज के लोगों से अपील कर रहे हैं कि वो जुम्मे की नमाज के लिए जामा मस्जिदों पर ज्यादा संख्या में एकत्रित न हो।

अपने आसपास की मस्जिदों में ही कम से कम संख्या में एकत्रित होकर नमाज अदा करें वो ही सभी के लिए हितकर है। तिजारा के मौलवी मुरसलीम ने बताया कि इस बीमारी ने पूरी दुनिया को खतरे में डाल रखा है। हम सभी से अपील करते हैं कि लोग अपने घरों में ही रहें। सरकार के निर्देशों की पालना करें। नमाज अदा करने के लिए गांवों से आसपास के कस्बों या शहरों की ओर नहीं आए। अपने आसपास की नमाज अदा कर लें। ज्यादा भीड़ न एकत्रित करें। नमाज अदा करते समय निर्धारित दूरी बनाए रखने का भी पालना करें। इसी में सभी की भलाई है। उन्होंने बताया कि इसके लिए समाज के लोगों को बार-बार कहा भी जा रहा है। तिजारा की तहसील वाली मस्जिद के हाजी दीनमोहम्मद ने बताया कि उन्होंने इस संबंध में समाज के लोगों को पहले ही आगाह कर दिया है। गुरुवार को इसके लिए मस्जिद से अनाउंसमेंट भी करा दिया गया है।

प्रशासन और पुलिस ने
भी की अपील


वहीं एसडीएम खेमाराम यादव ने बताया कि इसको लेकर क्षेत्र के सभी इमामों और मुसलमान समाज के प्रमुख लोगों से अधिकारी संपर्क बनाकर उन्हें इस संबंध में जागरुक कर रहे हैं। ताकि मस्जिदों पर भीड़ एकत्रित न हो। एएसपी अरुण मच्या ने बताया कि पुलिस भी अपने स्तर पर इसको लेकर गुरुवार को अपने-अपने इलाके की मस्जिदों के प्रमुखों से संपर्क साधकर उन्हें इस बारे में बता रही है। उम्मीद है कि लोग पुलिस प्रशासन की अपील पर गौर कर इस बीमारी से बचने के लिए घरों से बाहर नहीं निकलेंगे। भिवाड़ी के चौपानकी इलाके में सर्वाधिक मुस्लिम बाहुल्य गांव हैं। जहां गुरुवार को चौपानकी थाना प्रभारी मुकेश कुमार ने जाकर समझाइश की और लोगों को ज्यादा संख्या में एकत्रित होकर नमाज अदा नहीं करने के लिए समझाया।

मुस्लिम देशों में बंद
हैं मस्जिदें


भिवाड़ी में पूर्व में एएसपी रहे आरपीएस अधिकारी नाजिम अली खान ने बताया कि इस महामारी के कारण जब मुस्लिम देशों की मस्जिदों में नमाज नहीं पढ़ी जा रही। हमें भी हदीस और नबी के बताए रास्ते के अनुसार ऐसे हालातों में एक जगह एकत्रित होने से बचना चाहिए। मुस्लिम समाज के लोग घरों में ही रहें। ऐसे नाजुक वक्त में नमाज घर में रहकर भी पढ़ी जा सकती है, इसके हवाले हमारे हदीस में मिलते हैं।

दूसरे राज्यों से आ रहे मेवात के ट्रक ड्राइवर बढ़ा रहे स्वास्थ्य िवभाग की मुसीबत

भिवाड़ी| कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए जहां पहले स्वास्थ्य विभाग की टीम विदेश से आने वालों की जांच के लिए दौड़ रही थी, वहीं अब देश के दूसरे राज्यों से लौट कर आ रहे लोगों की जांच के लिए भी मशक्कत करनी पड़ रही है। भिवाड़ी व तिजारा के मेवात इलाके के लोग ट्रकों पर ड्राइवरी का धंधा काफी संख्या में करते हैं। जिनकी जांच में और उन्हें फिर होम क्वारेंटाइन करने में विभाग को काफी जद्दोजहद करनी पड़ रही है। इनमें मिलकपुर तुर्क में महाराष्ट, गुजरात से आए नौ ट्रक चालक, शाहबाद के दो ट्रक चालक व उनके साथ आई दो महिलाओं, हिंगवाडा के दो ट्रक चालक, कलगांव में दस महिला पुरुषों, चौपानकी की जमशेद कॉलोनी में बिहार से आए 9 जनों को तथा चौपानकी में दो जनों सहित अन्य को होम क्वारेंटाइन किया गया है। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार ग्रामीण क्षेत्र होने के कारण ये लोग क्वारेंटाइन की महत्ता को नहीं समझ रहे और टीम के जाने के बाद घरों से बाहर आ जाते हैं। जो अन्य लोगों सहित उनके परिवार के लिए भी खतरा है। ऐसे ही मामले में शाहबाद, मिलकपुर तुर्क व जैरोली गांव में सामने आए। जिनको वापस टीम और पुलिस ने जाकर समझाया लेकिन ये अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे बताए। ऐसे लोगों को प्रशासन अपनी निगरानी में क्वारेंटाइन करने की योजना बना रहा है।

भिवाड़ी. चौपानकी इलाके में समझाइश करते पुलिस अधिकारी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना