--Advertisement--

सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार शरीर की बनावट और हाथ-पैरों में मौजूद खास निशान बनाते हैं राजयोग

सिर के बाल से लेकर पैरों के तलवों तक, सामुद्रिक शास्त्र में शरीर के हर अंग और उसकी बनावट का खास महत्व होता है।

Danik Bhaskar | Jul 17, 2018, 12:38 PM IST
रिलिजन डेस्क. राजयोग सिर्फ कुंडली में नहीं होता। सामुद्रिक शास्त्र के जातकभरणम ग्रंथ के अनुसार शरीर की बनावट और हाथ-पैरों में मौजूद खास निशान भी राजयोग बनाते हैं। हथेली के बीच में तिल, चाैड़ी छाती, गहरी नाभि और लंबी नाक, ये सब चीजें राजयोग की निशानियां हैं। इनके अलावा और भी निशान है जो बहुत कम स्त्री-पुरुषों के हाथ और पैरों में होते हैं। राजयोग से जीवन में हर तरह का सुख मिलता है। हमेशा किस्मत साथ देती है। राजयोग के कारण कम उम्र में और थोड़ी सी मेहनत में ही इंसान बड़ा आदमी बन जाता है। राजयोग बनाने वाले शुभ निशान पुरुषों के शरीर के दाएं हिस्से में और स्त्रियों के शरीर के बाएं हिस्से में होते हैं।
- सामुद्रिक शात्र के अनुसार जिस व्यक्ति की छाती चौड़ी, नाक लंबी होती है और नाभि गहरी होती है ऐसा आदमी कम उम्र में ही बड़ा आदमी बन जाता है। ऐसे व्यक्ति के पास 2 से ज्यादा प्रॉपर्टी होती है और ऐसा इंसान हर तरह का सुख भोगता है।
- जिस स्त्री के बाएं हाथ की हथेली के बीच में तिल, ध्वजा, मछली, वीणा, चक्र या कमल जैसी आकृतियां बनती हैं वो लक्ष्मी समान मानी गई हैं। ऐसी महिलाएं जहां भी जाती हैं वहां पैसे और सुख की कोई कमी नहीं रहती।
- जिस व्यक्ति की हथेली के बीचो-बीच तिल होता है वह बेहद धनवान और समाज में प्रतिष्ठित इंसान होता है। इसके अलावा जिन लोगों के पैरों के तलवे पर तिल, चंद्रमा या वाहन जैसा दिखने वाला निशान होता है उसे कई वाहन का सुख मिलता है और कई देशों की यात्रा भी करने वाला होता है।
- सामुद्रिक शास्त्र की रचना करने वाले महर्षि समुद्र के अनुसार जिस व्यक्ति के पैर के तलवे में अंकुश, कुंडल या चक्र का निशान होता है वह एक अच्छा शासक, बड़ा बिजनेसमैन, अधिकारी या नेता बनता है।
- जातकभरण ग्रंथ के अनसुार जिसके हाथों या पैरों में छत्र, मछली, अंकुश या वीणा जैसे दिखने वाले निशान होते हैं, वह कम समय में पैसा और प्रतिष्ठा कमा लेता है।
- जिस स्त्री या पुरुष के पैर में पहिए या चक्र के अलावा कमल, बाण, रथ या सिंहासन जैसा निशान होता है उसे पूरे जीवन भूमि-भवन जैसी सुख सुविधाएं मिलती हैं। उसके घर में लक्ष्मी का सदा वास रहता है।