--Advertisement--

16 जून को विवाहित महिला करेगी 5 उपाय तो पति और संतान के दुख हो सकते हैं दूर

देवी मां के स्वरूपों की पूजा करने से कुंडली के सभी दोष दूर हो सकते हैं।

Danik Bhaskar | Jun 15, 2018, 01:45 PM IST

रिलिजन डेस्क। 16 जून, शुक्रवार को ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया है। हिन्दी पंचांग के अनुसार इस तिथि को रंभा तीज कहा जाता है। इस दिन अलग-अलग देवियों की पूजा की जाती है। उज्जैन के इंद्रेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी पं. सुनील नागर के मुताबिक रंभा तीज पर देवी मां के अलग-अलग स्वरूप जैसे पार्वतीजी, लक्ष्मीजी, दुर्गाजी और अप्सरा रंभा की पूजा करने से घर-परिवार में सुख-शांति बढ़ सकती है और पति-पत्नी के बीच प्रेम बढ़ता है। आमतौर पर इस दिन विवाहित महिलाएं विशेष पूजा-पाठ करती हैं। जानिए रंभा तीज के कुछ खास उपाय, जो महिलाओं को करना चाहिए...

पहला उपाय

रंभा तीज पर सुबह जल्दी उठना चाहिए और उठते ही माता पार्वती, देवी लक्ष्मी और सरस्वतीजी का ध्यान करना चाहिए।

दूसरा उपाय

दैनिक कार्यों के बाद लाल कपड़े पहनें और सूर्य देव के सामने खड़े होकर दीपक जलाएं। सूर्य को जल चढ़ाएं। सूर्य मंत्र ऊँ सूर्याय नम: का जाप करें।

तीसरा उपाय

इस दिन महिलाएं देवी पार्वती और लक्ष्मी को गेहूं, फूल, मौसमी फल आदि चीजें चढ़ाएंगी तो बड़ी-बड़ी परेशानियां भी दूर हो सकती हैं। रंभा तीज पर माता पार्वती की विधिवत पूजा करनी चाहिए।

चौथा उपाय

पूजा करते समय देवी मंत्र ऊँ महाकाल्यै नम:, ऊँ महालक्ष्म्यै नम:, ऊँ महासरस्वत्यै नम: का जाप करते रहना चाहिए। मंत्र जाप की संख्या कम से कम 108 होनी चाहिए।

पांचवां उपाय

किसी गरीब सुहागिन को सुहाग का सामान जैसे लाल साड़ी, चूड़ियां, कुमकुम, पायल, बिंदी आदि चीजों का दान करना चाहिए।

ये उपाय करने से घर में सुख-समृद्धि बढ़ सकती है और देवी कृपा से सभी परेशानियां दूर हो सकती हैं।

Related Stories