--Advertisement--

20 मई को रवि पुष्य का शुभ योग, परेशानियों से बचने के लिए घर लाएं सूर्य यंत्र

ज्योतिष में पुष्य नक्षत्र को बहुत ही शुभ माना गया है। रविवार को पुष्य नक्षत्र होने से रवि पुष्य का शुभ योग बन रहा है।

Danik Bhaskar | May 19, 2018, 10:16 AM IST

रिलिजन डेस्क। इन दिनों ज्येष्ठ का अधिक मास चल रहा है, जो 13 जून तक रहेगा। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रफु्ल्ल भट्ट के अनुसार, 20 मई, रविवार को अधिक मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी व षष्ठी तिथि है। इस दिन पुष्य नक्षत्र पूरे दिन रहेगा।

ज्योतिष में पुष्य नक्षत्र को बहुत ही शुभ माना गया है। रविवार को पुष्य नक्षत्र होने से रवि पुष्य का शुभ योग बन रहा है। इस दिन आगे बताए गए उपाय करने से सूर्य दोष में कमी आ सकती है और आपकी समस्याओं का समाधान हो सकता है…

1. जिन लोगों की कुंडली में सूर्य नीच की स्थिति में हो वे यदि रवि पुष्य पर सूर्य यंत्र की स्थापना कर पूजा करें तो इससे उनकी कुंडली के दोष कम हो सकते हैं और विशेष लाभ भी मिलता है।


2. रवि पुष्य के शुभ योग में सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद सूर्य को तांबे के लोटे से अर्घ्य दें। पानी में कुंकुम तथा लाल रंग के फूल भी मिलाएं तो और भी शुभ रहेगा। अर्घ्य देते समय ऊं घृणि सूर्याय नम: मंत्र का जाप करते रहें। इस प्रकार सूर्य को अर्घ्य देने से मन की हर इच्छा पूरी हो सकती है।


3. ज्योतिष के अनुसार, तांबा सूर्य की धातु है। रवि पुष्य के शुभ योग में तांबे का सिक्का या तांबे का चौकोर टुकड़ा नदी में प्रवाहित करने से सूर्य दोष कम होता है।

4. इस रविवार लाल कपड़े में गेहूं व गुड़ बांधकर दान करने से भी व्यक्ति की हर इच्छा पूरी हो सकती है।

5. रवि पुष्य के योग में गुड़ और कच्चे चावल नदी में प्रवाहित करना शुभ रहता है।

6. सूर्यदेव को प्रसन्न करना हो तो इस रविवार पके हुए चावल में गुड़ और दूध मिलाकर खाएं। इस उपाय से भी सूर्यदेव प्रसन्न होते हैं और शुभ फल प्रदान करते हैं।

Related Stories