• Home
  • Sports
  • Cricket
  • Ravi Shastri says team has played better overseas than Indian teams of last 15-20 years
--Advertisement--

कोहली की टीम का विदेशों में प्रदर्शन पिछले 10-15 साल की टीमों से बेहतर: इंग्लैंड से हार पर रवि शास्त्री

भारत इंग्लैंड के खिलाफ चौथा मैच 60 रन से हार गया था। इस मैच के साथ ही टीम ने 5 मैचों की सीरीज भी 1-3 से गंवा दी

Danik Bhaskar | Sep 05, 2018, 10:03 PM IST

लंदन. भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ खेली जा रही सीरीज गंवा दी है। लेकिन, भारतीय कोच रवि शास्त्री का मानना है कि मौजूदा टीम का विदेश में प्रदर्शन पिछले 15-20 सालों की टीमों से बेहतर हैं। भारत इंग्लैंड के खिलाफ चौथा मैच 60 रन से हार गया था। इस मैच के साथ ही 5 मैचों की सीरीज में भारत 1-3 से हार गया।

शास्त्री ने बुधवार को मीडिया से कहा, सीरीज में भारतीय खिलाड़ियों ने पूरा जोर लगाया। टीम का पूरा प्रयास मैच में अच्छा खेलना, प्रतिस्पर्धा करना और जीत हासिल करना रहा। अगर आप पिछले तीन साल देखें तो विदेशों में भारत ने 9 मैच और तीन सीरीज (वेस्टइंडीज और श्रीलंका के खिलाफ दो बार) जीतीं।

लक्ष्य पाने की कोशिश करते हैं : उन्होंने कहा, " पिछले 15-20 सालों में मैंने ऐसी भारतीय टीम नहीं देखी, जिसने इतने कम समय में ऐसा प्रदर्शन किया। जब आप मैच हारते हैं तो दुख होता है, हम अपना आंकलन करते हैं। इन स्थितियों से निकलने का हल निकालने की कोशिश करते हैं, लक्ष्य पाने की कोशिश करते हैं और अगर हमें खुद पर विश्वास होता है तो हम इसे पा भी लेते हैं।"

खिलाड़ियों ने सही शॉट चयन नहीं किया : शास्त्री ने कहा, "सीरीज का स्कोर 3-1 है। इसका मतलब हम सीरीज हार गए हैं। इस नतीजे से आप यह नहीं कह सकते कि सीरीज 3-1 से भारत के पक्ष में या दो-दो की बराबरी पर भी हो सकती थी। चौथे मैच में हारने के बाद खिलाड़ी को दुखी होना चाहिए। वे दुखी हैं, लेकिन टीम आसानी से हार मानने वाली नहीं है। हम चाय काल तक बेहतर स्थिति में थे, मुझे लगता है कि खिलाड़ियों को सही शॉट का चयन करना चाहिए था। लेकिन हमने मैच गंवा दिया। इस क्षेत्र में हमें काम करना होगा और टीम की जरूरत को भी समझना होगा।"

मोइन अली ने शानदार खेल दिखाया : शास्त्री ने कहा, "दोनों टीमों में मोइन अली एक बड़ा अंतर थे। मोइन ने अश्विन से अच्छी गेंदबाजी की। उन्होंने पिच की रफ जगहों का अच्छे से इस्तेमाल किया। अंतिम दिन के खेल के लिए आपको मोइन को श्रेय देना होगा। ईमानदारी से कहूं तो उन्होंने शानदार गेंदबाजी की।" शास्त्री ने चेतेश्वर पुजारा की तारीफ भी की। उन्होंने कहा, "जिस पिच पर बल्लेबाजों के लिए परिस्थितियां अच्छी नहीं थी, लेकिन पुजारा ने बेहतरीन खेल दिखाया।"