--Advertisement--

आरबीआई आज करेगा ब्याज दरों का ऐलान, इस बार भी बढ़ोतरी की आशंका, जून में 0.25% बढ़ाया था रेपो रेट

रेपो रेट बढ़ने से लोन महंगा होने की आशंका बढ़ जाती है

Dainik Bhaskar

Aug 01, 2018, 01:16 PM IST
RBI likely to raise interest rates today
मुंबई. आरबीआई की मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) बुधवार को ब्याज दरों का ऐलान करेगी। महंगाई दर में लगातार बढ़ोतरी को देखते हुए कमेटी इस बार फिर ब्याज दरों में इजाफा कर सकती है। चार से छह जून तक चली पिछली समीक्षा बैठक में रेपो रेट 0.25% बढ़ाई गई थी। साढ़े चार साल बाद इस दर में इजाफा किया गया था। इस बार भी दरें बढ़ाई जाती हैं तो अक्टूबर 2013 के बाद ये पहली बार होगा कि लगातार दूसरी समीक्षा बैठक में ब्याज दरें बढ़ेंगी। फिलहाल रेपो रेट 6.25% और रिवर्स रेपो रेट 6% है।
रेपो रेट क्या है : जिस दर पर आरबीआई बैंकों को कर्ज देता है। बैंक इस कर्ज से ग्राहकों को लोन देते हैं। रेपो रेट बढ़ने से लोन महंगा होने की आशंका बढ़ जाती है। इसमें कटौती की जाती है तो लोन सस्ता होने की उम्मीद बढ़ती है।
रिवर्स रेपो रेट क्या है : बैंकों को अपने जमा पर आरबीआई से मिलने वाली ब्याज दर रिवर्स रेपो रेट कहलाती है। बाजार में कैश फ्लो ज्यादा होने पर आरबीआई रिवर्स रेपो रेट बढ़ा देता है। रिवर्स रेपो रेट बढ़ने पर बैंक आरबीआई के पास ज्यादा नकदी जमा करते हैं।
सीआरआर : बैंकों को अपनी कुल नकदी का एक तय हिस्सा आरबीआई के पास रखना होता है। इसे कैश रिजर्व रेश्यो (सीआरआर) कहते हैं। आरबीआई जब दरों में बदलाव किए बगैर कैश फ्लो घटाना चाहे तो सीआरआर बढ़ाता है। सीआरआर बढ़ने से बैंकों के पास लोन देने के लिए कम रकम बचती है।

X
RBI likely to raise interest rates today
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..