Hindi News »Business» RBI May Hike Rates Again In Aug On Rise In Inflation Says Analysts

आरबीआई ब्याज दरों में 0.25% और इजाफा कर सकता है: एनालिस्ट; महंगाई का दबाव बढ़ने की आशंका

मई में रिटेल महंगाई दर बढ़कर 4.87% हुई, 4 महीने में सबसे ज्यादा

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 13, 2018, 05:30 PM IST

  • आरबीआई ब्याज दरों में 0.25% और इजाफा कर सकता है: एनालिस्ट; महंगाई का दबाव बढ़ने की आशंका
    +1और स्लाइड देखें
    आरबीआई की अगली पॉलिसी समीक्षा बैठक 31 जुलाई से 1 अगस्त तक होगी।- फाइल

    • आरबीआई ब्याज दरें तय करते वक्त रिटेल महंगाई दर को ध्यान में रखता है
    • आरबीआई ने साढ़े चार साल बाद 6 जून को रेपो रेट 0.25% बढ़ाई

    मुंबई. बाजार विश्लेषकों का मानना है कि आरबीआई अगली पॉलिसी समीक्षा में एक बार फिर ब्याज दरों में 0.25% का इजाफा कर सकता है। एनालिस्ट ने महंगाई दर में इजाफे को देखते हुए ये आशंका जताई है। आरबीआई ने हाल ही में 6 जून की बैठक में रेपो रेट 0.25% बढ़ाई थी।

    आरबीआई अगस्त की बैठक में दरें बढ़ा सकता है
    - ब्रोकरेज फर्म बीएनपी पारिबास के एनालिस्ट के मुताबिक आने वाले महीनों में महंगाई दर और बढ़ सकती है। ऐसे में ब्याज दरों में 0.25% की बढ़ोतरी की उम्मीद है।
    - यूबीएस सिक्योरिटीज का कहना है कि क्रूड मौजूदा स्तरों पर बना रहता है और महंगाई दर बढ़ती है तो आरबीआई अगस्त की पॉलिसी समीक्षा में ब्याज दरें बढ़ा सकता है।
    - डॉएचे बैंक ने भी महंगाई को वजह बताते हुए दरों में 0.25% इजाफे की बात कही है।
    आरबीआई की सख्ती से ग्रोथ पर असर पड़ेगा: सीआईआई
    - उद्योग संस्था कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (सीआईआई) का कहना है कि मॉनेटरी पॉलिसी में आरबीआई की सख्ती से कारोबारी लागत बढ़ेगी जिससे निवेश में कमी आएगी। इकोनॉमी की ग्रोथ के लिए ये अच्छे संकेत नहीं हैं।
  • आरबीआई ब्याज दरों में 0.25% और इजाफा कर सकता है: एनालिस्ट; महंगाई का दबाव बढ़ने की आशंका
    +1और स्लाइड देखें
    आरबीआई ने 6 जून की समीक्षा बैठक में महंगाई का अनुमान बढ़ाया है।- फाइल
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×