--Advertisement--

आरकॉम की याचिका पर आज सुनवाई करेगा अपीलेट ट्रिब्यूनल, दिवालिया प्रक्रिया से जुड़ा है मामला

ऑरकॉम के खिलाफ एरिक्सन की याचिका को एनसीएलटी ने मंजूर किया था

Dainik Bhaskar

May 29, 2018, 12:09 PM IST
एरिक्सन के मुताबिक आरकॉम पर उसके 1,150 करोड़ रुपए बकाया हैं।- फाइल एरिक्सन के मुताबिक आरकॉम पर उसके 1,150 करोड़ रुपए बकाया हैं।- फाइल

नई दिल्ली. रिलायंस कम्युनिकेशंस (आरकॉम) की याचिका पर नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्रिब्यूनल (एनसीएलएटी) आज सुनवाई करेगा। कंपनी ने सोमवार को रेग्युलेटरी फाइलिंग में इसकी जानकारी दी। आरकॉम ने नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) के फैसले को अपीलेट ट्रिब्यूनल में चुनौती दी है।

एरिक्सन ने दिवालिया प्रक्रिया शुरू करने की अपील की थी

स्वीडन की टेलीकॉम उपकरण निर्माता कंपनी एरिक्सन ने आरकॉम के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया शुरू करने की याचिका दायर की थी जिसे एनसीएलटी ने मंजूरी कर लिया। इस फैसले के खिलाफ रिलायंस कम्युनिकेशंस ने अपनी दो सहयोगी कंपनियों रिलायंस टेलीकॉम लिमिटेड (आरटीएल) और रिलायंस इंफ्राटेल लिमिटेड (आरआईटीएल) के साथ मिलकर अपील दायर की। आरकॉम की याचिका में अपील की गई कि मामले की तुरंत सुनवाई की जाए।

क्या है पूरा मामला

2014 में एरिक्सन ने आरकॉम के नेटवर्क को संभालने के लिए 7 साल की डील की थी। एरिक्सन का आरोप है कि आरकॉम ने उसका 1,150 करोड़ रुपए बकाया नहीं चुकाया है। पिछले साल सितंबर में एरिक्सन ने बकाया वसूली के लिए एनसीएलटी में याचिका दायर की थी।

स्वीडन की कंपनी एरिक्सन ने 2014 में आरकॉम का नेटवर्क संभालने के लिए डील की थी।- फाइल स्वीडन की कंपनी एरिक्सन ने 2014 में आरकॉम का नेटवर्क संभालने के लिए डील की थी।- फाइल
X
एरिक्सन के मुताबिक आरकॉम पर उसके 1,150 करोड़ रुपए बकाया हैं।- फाइलएरिक्सन के मुताबिक आरकॉम पर उसके 1,150 करोड़ रुपए बकाया हैं।- फाइल
स्वीडन की कंपनी एरिक्सन ने 2014 में आरकॉम का नेटवर्क संभालने के लिए डील की थी।- फाइलस्वीडन की कंपनी एरिक्सन ने 2014 में आरकॉम का नेटवर्क संभालने के लिए डील की थी।- फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..