विज्ञापन

शनिवार को हनुमान जी को चोला चढ़ाते समय करें इस मंत्र का जाप, दुर हो सकतीं हैं सभी बाधाएं

Dainik Bhaskar

Jul 20, 2018, 04:00 PM IST

शनिवार को हनुमानजी की पूजा-अर्चना की जाती है ताकि भगवान सुख हो जाएं और भक्तों की मनोकामना पूरी करें।

remedies on saturday for lord hanuman bless
  • comment

रिलिजन डेस्क. शनिवार को हनुमानजी का दिन माना जाता है और इस दिन की पूजा-अर्चना की जाती है ताकि भगवान सुख हो जाएं और भक्तों की मनोकामना पूरी करें। शनिवार को अक्सर ही देखा जाता है कि हनुमान जी को चमेली के तेल में सिंदूर मिलाकर (चोला) चढ़ाया जाता है। चोला चढ़ाते समय अगर आप एक खास मंत्र का जाप करेंगे जो आपके काम में आ रहीं रूकावटें दूर हो सकतीं हैं।

मंत्र-
सिन्दूरं रक्तवर्णं च सिन्दूरतिलकप्रिये।
भक्तयां दत्तं मया देव सिन्दूरं प्रतिगृह्यताम।।

विधि
- सुबह जल्दी उठकर हनुमान मंदिर पर जाकर अच्छे मन से चोला चढाना चाहिए और इसके बाद भगवान की आरती करनी चाहिए।
- चोला चढाते समय नीचे दिए मंत्र का जाप करने से मन चाहे फल की प्राप्ती होती है।

- चोला चढाने के बाद हनुमान चालीसा पाठ करें या सुनें। इसके बाद धूप व तेल के दीप से श्री हनुमान की आरती करें व दु:खों की मार से रक्षा की प्रार्थना करें।
- श्री हनुमान की ऐसी उपासना नियमित रूप से भी करें तो शांत मन से पैदा ईश्वर व खुद के प्रति विश्वास व्यावहारिक रूप से मनचाही सफलता व यश दिलाने वाला साबित होगा।

रामायण में बताया है चोला चढाने का महत्व
- एक बार भगवान राम की सभा में हनुमानजी अपने पूरे शरीर पर सिंदूर लगाकर चले गए। जब श्रीराम ने हनुमान जी को इस हालत में देखा तो हैरान रह गए।

- जब राम जी ने उनसे ऐसा करने का कारण पूछा तो उन्होने बताया कि मैनें इसे माता सीता को मांग में सजाते हुए देखा था। और जब मैंने कारण पूछा तो उन्होंने कहा कि इससे मुझे रामजी का स्नेह प्राप्त होता है और उनकी आयु लंबी होती है।

- हनुमानजी की इस बात को सुनकर श्री राम भाव विभोर हो गए और हनुमान जी को गले से लगा लिया। तभी से हनुमान जी को सिंदूर चढाया जाता है।

- चमेली के तेल में सिंदूर मिलाकर चोला चढ़ाने से हनुमान जी प्रशन्न होते हैं। और अपने भक्तों की समस्याओं को दूर करते हैं।

X
remedies on saturday for lord hanuman bless
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन