• Hindi News
  • Bihar
  • Banka
  • Banka News restriction on the visit of devotees to all the goddess temples in the district

जिले के सभी देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं के दर्शन पर रोक

Banka News - चैत्र नवरात्र शुरू हो गया है। यह पहला मौका होगा जब देवी भक्त मंदिरों तक नहीं पहुंच पाए। कोरोना वायरस के संक्रमण...

Mar 27, 2020, 06:26 AM IST
Banka News - restriction on the visit of devotees to all the goddess temples in the district

चैत्र नवरात्र शुरू हो गया है। यह पहला मौका होगा जब देवी भक्त मंदिरों तक नहीं पहुंच पाए। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर एहतिहासिक चांदन नदी तट किनारे मां वासंती दुर्गा मंदिर में भी वीरानी रही। साथ ही यह पहली बार हुआ कि चैती दुर्गा पूजा में मां दुर्गा की प्रतिमा प्रतिष्ठापित नहीं की जाएगी। अष्ठमी के दिन मां के दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ती थी। लेकिन इस बार ऐसा नजारा देखने को नहीं मिलेगा। इसके अलावा एहतियात के तौर पर जिले भर के सभी देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं के दर्शन पर रोक लगा दी गई है। कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण के लिए जरूरी है, ताकि लोगों में सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे। मंदिरों तक पहुंचने से भक्तों को रोकने के लिए पुलिस ने प्वाइंट बना दिए हैं। दैनिक भास्कर भी लोगों से अपील करता है कि भक्त घरों पर रह कर ही देवी आराधना करें। देश के कोरोना के संकट का टालने के लिए प्रार्थना करें। नवरात्र के दूसरे दिन मंदिरों में पुजारी ब्रह्मचारिणी की पूजा की गई। श्रद्धालुओं ने अपने घरों में पूजा किया। वही यह पहला अवसर है जब कोरोना वायरस के चलते जिले के सभी देवी मंदिर भक्तों के लिए बंद रहेंगे। पुलिस व प्रशासन ने भक्तों ने मंदिरों तक न आने की अपील की है। लॉकडाउन के दौरान भी लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं। लोग अपने अपने घरों में मां की अराधना कर रहे हैं।

मां चंद्रघंटा की आज होगी पूजा

नवरात्रि में तीसरे दिन इसी देवी की पूजा का महत्व काफी होता है। इस देवी की कृपा से साधक को अलौकिक वस्तुओं के दर्शन होते हैं। दिव्य सुगंधियों का अनुभव होता है और कई तरह की ध्वनियां सुनाईं देने लगती हैं।

इन क्षणों में साधक को बहुत सावधान रहना चाहिए। इस देवी की आराधना से साधक में वीरता और निर्भयता के साथ ही सौम्यता और विनम्रता का विकास होता है। श्रद्धालुओं को मन, वचन और कर्म के साथ ही काया को विहित विधि-विधान के अनुसार परिशुद्ध-पवित्र करके चंद्रघंटा के शरणागत होकर उनकी उपासना-आराधना करना चाहिए। इससे सारे कष्टों से मुक्त होकर सहज ही परम पद के अधिकारी बन सकते हैं।

चांदन नदी तट किनारे वीरान पड़ा मां वासंती दुर्गा मंदिर।

X
Banka News - restriction on the visit of devotees to all the goddess temples in the district

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना