पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रिम्स का मोबाइल डेंटल वैन आज से शुरू, लोगों का फ्री में होगा इलाज

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रांची.   मरीजों को फ्री में जांच की सुविधा देने के लिए रिम्स डेंटल इंस्टीट्यूट मोबाइल डेंटल क्लिनिक सेवा शुरू करने जा रहा है। विश्व स्वास्थ दिवस पर 7 अप्रैल को इसका उद््घाटन डोरंडा स्थित अर्बन हेल्थ ट्रेनिंग सेंटर में स्वास्थ मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी करेंगे। रिम्स डेंटल कॉलेज के प्रिंसिपल पंकज गोयल ने बताया कि यह सेवा रांची जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूल, कॉलेज और स्वास्थ केंद्रों तक जाएगी। इस क्लिनिक में दांत संबंधी इलाज के साथ दवाएं भी दी जाएंगी। 

 

5 डॉक्टरों की टीम रहेगी

मोबाइल डेंटल क्लिनिक एक एयर कंडिशनर वैन है। इसमें दो डेंटल चेयर, एक डेंटल एक्सरे, अल्ट्रा सोनिक स्केलर, एयर रोटर, कंप्रेसर आदि व्यवस्था रहेगी। पांच दांत के डॉक्टरों की टीम इसमें लगी मशीनों से बेहतर इलाज करेंगे। आमतौर पर टाॅर्च से मुंह की बीमारियां देखी जाती हैं। लेकिन इस वैन में डेंटल चेयर की मदद से मुंह के सभी हिस्सों को देखा जा सकता है।

 

उद्देश्य: जहां व्यवस्था नहीं, वहां देंगे सेवा

रिम्स डेंटल कॉलेज के प्रो. नरेंद्रनाथ सिंह ने बताया कि मोबाइल डेंटल क्लिनिक में दांत और मुंह से संबंधित बीमारियों का इलाज होगा। इसमें प्राथमिक उपचार के साथ-साथ दांत की भराई, दांत की सफाई, दांत की कटाई, दांत निकालने आदि की व्यवस्था है। दवा भी मुफ्त में दी जाएगी। इसका फोकस वहां है, जहां इलाज की उचित व्यवस्था नहीं है।

 

कॉस्टिक : कई लोग दांतों का कीड़ा मारने के लिए कॉस्टिक का उपयोग करते हैं। इससे दांतों के ऊपरी परत को नुकसान होता है। कई बार कैंसर का खतरा रहता है।

न्यूरिक : न्यूरिक एसिड का उपयोग टॉयलेट साफ करने में किया जाता है। शहर व गांव में घूम कर कई लोग ऐसे एसिड से दांतों की सफाई करते हैं। यह मसूड़ों के लिए ठीक नहीं है।

खबरें और भी हैं...