OMG

--Advertisement--

भीषण गर्मी से सनबर्न का शिकार हो रहे लोग, गर्मी में कटी-फटी जींस पहनने का नतीजा

घुटने से लेकर जांघों तक जीन्स जितना फटी हो, उतना ही फैशनेबल मानी जाती है लेकिन इसके दुष्परिणाम तेजी से सामने आ रहे हैं।

Danik Bhaskar | May 16, 2018, 04:46 PM IST
इंटरनेशनल. कटे-फटे जींस पहनने का ट्रेंड तेजी से बढ़ रहा है। घुटने से लेकर जांघों तक अब जीन्स जितना फटी हो, उतना ही फैशनेबल मानी जाती है। लेकिन इसके दुष्परिणाम भी तेजी से सामने आ रहे हैं। गर्मी में कटे-फटे जींस पहनने वाले लोग अब सनबर्न का शिकार हो रहे हैं। कुछ समय से सोशल मीडिया पर सनबर्न की भयानक तस्वीरें सामने आ रही हैं। जिसके बाद भीषण गर्मी में कटे-फटे जींस न पहनने की सलाह भी दी जा रही है। आखिर क्या है सनबर्न...
- सनबर्न का मतलब है सूर्य की रोशनी से चमड़ी का जल जाना। कई बार सूर्य की रोशनी हमारा रंग काला ही नहीं करती बल्कि उसे बुरी तरह झुलसा देती है। ऐसे में हमारी स्किन का रंग काला या लाल हो जाता है। ये सब सूरज की अल्ट्रावाइलेट किरणों और अत्याधिक एक्सपोजर की वजह से होता है।
इस वजह से खतरनाक हैं कटी-फटी जींस
- सनबर्न में चमड़ी के साथ कई बार टिशू को भी नुकसान पहुंचता है। ऐसे में स्किन बुरी तरह झुलस जाती है। कटी-फटी जींस इसलिए खतरनाक साबित हो रही हैं क्योंकि कटे हुए स्थान पर स्किन सीधे अल्ट्रावाइलेट किरणों के कॉन्टेक्ट में रहती हैं। लोग लंबे समय तक धूप में रहते हैं पर उन्हें अहसास नहीं होता कि उनके शरीर के कुछ अंग खतरनाक अल्ट्रवाइलेट रेडिएशन का शिकार हो रहे हैं। सोशल मीडिया पर वायरल फोटोज में साफ नजर आ रहा है कि किस तरह लोगों की जांघ, घुटने और पैर सूर्य की किरणों से झुलस गए। एक्सपर्ट की मानें तो कई बार ये सनबर्न बॉडी सेल्स को भी नुकसान पहुंचा सकता है जिससे कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी भी हो सकती है।