Hindi News »Business» RITES Shares List With 3 Percent Premium On Bourses

राइट्स का शेयर लिस्टिंग के पहले ही दिन 21% चढ़ा, बीएसई पर 224.40 तक उछला

एनएसई पर शेयर 224.50 के उच्च स्तर पर पहुंचा।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jul 02, 2018, 05:11 PM IST

राइट्स का शेयर लिस्टिंग के पहले ही दिन 21% चढ़ा, बीएसई पर 224.40 तक उछला
नई दिल्ली. राइट्स का शेयर सोमवार को लिस्टिंग के दिन ही 21.29% चढ़ गया। बीएसई और एनएसई पर इसकी लिस्टिंग करीब 3% ऊपर 190 रुपए पर हुई। कारोबार के दौरान बीएसई पर ये 224.40 तक और एनएसई पर 224.50 तक उछला। बीएसई पर इसकी क्लोजिंग 15% ऊपर 212.70 पर और एनएसई पर 11.21% ऊपर 211.30 पर हुई। इसका इश्यू प्राइस 185 रुपए था। 20 से 22 जून तक राइट्स का आईपीओ खुला था जिसका प्राइस बैंड 180-185 रुपए रखा था। इसे निवेशकों का काफी अच्छा रेस्पॉन्स मिला और ये 67 गुणा ज्यादा सब्सक्राइब हुआ। चालू वित्त वर्ष में लिस्ट होने वाला ये किसी सरकारी कंपनी का पहला इश्यू है। राइट्स रेलवे की कंसल्टेंसी फर्म है।
आरवीएनएल का इश्यू अगले महीने आ सकता है: एक अधिकारी के मुताबिक राइट्स के बाद रेल विकास निगम लिमिटेड (आरवीएनएल) चालू वित्त वर्ष में सरकारी कंपनी का दूसरा आईपीओ हो सकता है। मई में कंपनी को आईपीओ के लिए सेबी की मंजूरी मिल चुकी है। आरवीएनएल के जरिए सरकार की 500 करोड़ रुपए जुटाने की योजना है। आरवीएनएल में सरकार 10% हिस्सा बिक्री के लिए 2.08 करोड़ शेयर जारी करेगी।
दो अन्य सरकारी कंपनियों के आईपीओ जुलाई-सितंबर में आएंगे: सरकार इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉर्पोरेशन (आईआरएफसी) और इरकॉन इंटरनेशनल के आईपीओ की योजना पर काम कर रही है। जुलाई-सितंबर तिमाही के दौरान शेयर बाजार में दोनों कंपनियों की लिस्टिंग हो सकती है। इरकॉन ने अप्रैल में सेबी के पास अर्जी लगा दी थी। आईआरएफसी के जरिए सरकार को 1,000 करोड़ और इरकॉन के जरिए 500 करोड़ मिल सकते हैं।
विनिवेश से 80,000 करोड़ जुटाने का लक्ष्य: सरकार ने चालू वित्त वर्ष में 80,000 करोड़ का विनिवेश लक्ष्य रखा है। हालांकि एयर इंडिया को खरीदार नहीं मिलने से सरकार की कोशिशों को झटका लगा है। पिछले साल डिस्इन्वेस्टमेंट के जरिए सरकार ने 1.03 लाख करोड़ रुपए जुटाए थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×