Hindi News »Self-Help »Career Tips» RRB Exam, रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड परीक्षा, रेलवे में नौकरी, RRB का पेपर कैसे पास करें, Jobs In Railway, Common Mistakes During Exam Preparation

RRB 2018 Exam : एग्जाम की तैयारियों के दौरान होती हैं ये 5 मिस्टेक्स, कहीं आप तो नहीं कर रहें?

यहां यह जानना जरूरी है कि इस तरह की प्रीपरेशन के दौरान अक्सर किस तरह की गलतियां होती हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 19, 2018, 07:32 PM IST

RRB 2018 Exam : एग्जाम की तैयारियों के दौरान होती हैं ये 5 मिस्टेक्स, कहीं आप तो नहीं कर रहें?

RRB 2018 Exam :रेलवे इतिहास की सबसे बड़ी एग्जाम आयोजित करने जा रहा है जिसमें 90 हजार पदों पर भर्ती की जाएगी। इनमें से करीब 63 हजार पद ग्रुप डी और शेष 27 हजार पद ग्रुप-सी यानी असिस्टेंट लोको पायलट (ALP) और टेक्नीशियन के हैं। इस Railway Exam में भाग लेने के लिए करीब पौने तीन करोड़ कैंडिडेट्स ने अप्लाई किया है। अब जबकि कई कैंडिडेट्स ने रेलवे परीक्षा की तैयारियां शुरू कर दी हैं, यहां यह जानना जरूरी है कि इस तरह की प्रीपरेशन के दौरान अक्सर किस तरह की गलतियां होती हैं। ताकि आप इन गलतियों को समझकर उन्हें दोहराने से बच सकें।

मिस्टेक नंबर 1 : प्लानिंग पूरी, एग्जीक्यूशन अधूरा
एग्जाम के लिए अप्लाई करने के बाद से ही कई कैंडिडेट्स इसकी प्लानिंग में जुट जाते हैं। प्लानिंग अच्छी बात है। लेकिन प्रॉब्लम तब होती है जब प्लानिंग तो कर लेते हैं, लेकिन इस पर एग्जीक्यूशन नहीं करते हैं। जैसे अगर रेलवे एग्जाम की ही बात करें तो आपने प्लानिंग तो कर ली कि आप रोजाना हर सब्जेक्ट को दो-दो घंटे देंगे, लेकिन फिर किसी एक सब्जेक्ट पर ही ज्यादा फोकस कर लिया।

मिस्टेक नंबर 2 : बहुत ज्यादा सामग्री कलेक्ट करना
जब भी कोई एग्जाम होती है तो पहले ही मार्केट में उससे संबंधित ढेर सारी बुक्स आ जाती हैं। ऑनलाइन भी बहुत सारा मेटर उपलब्ध रहता है। ऐसे में कई कैंडिडेट्स बहुत सारी बुक्स भी ले आते हैं और ऑनलाइन उपलब्ध सामग्री भी कलेक्ट कर लेते हैं। कई लोग कोचिंग क्लासेस से भी मटेरियल ले आते हैं। लेकिन इसका कोई फायदा नहीं होता, बल्कि इतनी सामग्री देखकर कन्फ्यूजन ही बढ़ता है।

मिस्टेक नंबर 3 : मॉक टेस्ट पर फोकस नहीं करना
कई कैंडिडेट्स ऐसे होते हैं तो स्टडी तो खूब करते हैं, लेकिन मॉक टेस्ट पर ध्यान नहीं देते। जबकि मॉक टेस्ट इस तरह से बनाए जाते हैं कि उन्हें सॉल्व करने वाले को ऐसा एहसास हो कि वह रियल में एग्जाम ही दे रहा हो। इसलिए रियल एग्जाम का एक्सपीरियंस लेने के लिए अधिक से अधिक मॉक टेस्ट पर फोकस करना चाहिए।

मिस्टेक नंबर 4 : कई एग्जाम पर एक साथ फोकस करना
यह भी एक कॉमन मिस्टेक है। अगर आप बेहतर रिजल्ट चाहते हैं तो आपको एक ही समय पर एक या दो एग्जाम पर ही फोकस करना चाहिए और वह भी सेम पैटर्न वाली। एग्जाम को जुआ नहीं मानते हुए केवल यही सोचें कि आप जो भी एग्जाम लिखने जा रहे हैं, उसमें आपको पास होना ही है। जब आप ऐसा सोच लेंगे तो फिर एक ही एग्जाम पर फोकस कर पाएंगे।

मिस्टेक नंबर 5 : एक ही टॉपिक पर अटके रहना
कई कैंडिडेट पढ़ाई तो बहुत करते हैं, लेकिन इस दौरान वे काफी समय भी वेस्ट कर देते हैं। कई बार तो कैंडिडेट एक ही टॉपिक पर अटके रहते हैं। वे उस टॉपिक से संबंधित सारे कॉन्सेप्ट क्लियर करने की कोशिश करते हैं। लेकिन यहां ध्यान रखना है कि किसी भी टॉपिक के कॉन्सेप्ट क्लियर करने से ज्यादा जरूरी यह है कि आप उस टॉपिक से कितने नंबर ला पाते हों। अगर कोई टॉपिक बहुत ज्यादा समझ में नहीं आ रहा हो तो उसमें उलझने के बजाय बेहतर यह होगा कि उसे छोड़कर आगे बढ़ा जाए।


रेलवे एग्जाम का ऑनलाइन मॉक टेस्ट : रजिस्ट्रेशन करने के लिए यहां क्लिक करें -

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Career Tips

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×