Hindi News »Business» Rupee Down To All Time Low On Monday 13 August Due To Turkey Crisis

रुपया 69.93 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर, अमेरिका की वजह से तुर्की की करंसी कमजोर हुई और दूसरी मुद्राओं पर असर पड़ा

तुर्की मुद्रा लीरा में शुक्रवार को 20% तक गिरावट आई

DainikBhaskar.com | Last Modified - Aug 13, 2018, 07:25 PM IST

रुपया 69.93 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर, अमेरिका की वजह से तुर्की की करंसी कमजोर हुई और दूसरी मुद्राओं पर असर पड़ा

- बैंकों, आयातकों की ओर से डॉलर की खरीदारी तेज


मुंबई. रुपया डॉलर के मुकाबले सोमवार को 1.10 रुपए गिरकर 69.93 पर बंद हुआ। यह अब तक का सबसे निचला स्तर है और 5 साल में एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट है। इससे पहले अगस्त 2014 में एक ही दिन में 1.48 रुपए (2.4%) गिरावट आई थी।

रुपए की ओपनिंग भी सोमवार को 41 पैसे की कमजोरी के साथ 68.42 के रिकॉर्ड लो पर हुई। कुछ ही देर में यह 69.62 तक फिसल गया। इसके बाद कुछ रिकवरी आई लेकिन मिडसेशन में 69.86 का निचला स्तर छुआ और 69.93 पर क्लोजिंग हुई। रुपया शुक्रवार को 15 पैसे की गिरावट के साथ 68.83 पर बंद हुआ था। तुर्की मुद्रा लीरा में कमजोरी की वजह से एशियाई देशों की करंसी पर असर देखा गया। लीरा में डॉलर के मुकाबले 12% तक गिरावट दर्ज की गई। यह शुक्रवार को भी 20% तक कमजोर हुआ था।

रुपए के 5 निचले स्तर

तारीखडॉलर के मुकाबले रुपया
13 अगस्त 201869.93
20 जुलाई 201869.12
28 जून 201869.10
24 नवंबर 201668.86
28 अगस्त 201368.80

एशियाई मुद्राओं में रुपया सबसे कमजोर :लीरा में कमजोरी का असर ज्यादातर एशियाई देशों की मुद्राओं पर देखा गया। जापानी येन को छोड़ बाकी देशों की करंसी में गिरावट दर्ज की गई। भारतीय रुपया सबसे ज्यादा 1.06% टूटा। इस साल रुपए में 8% से ज्यादा गिरावट आ चुकी है।

अमेरिका-तुर्की के बीच तनाव से करंसी पर असर :अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को तुर्की से स्टील और एल्युमिनियम के आयात पर शुल्क दोगुना करने की घोषणा की। ट्रम्प ने यह कदम ऐसे समय उठाया है जब तुर्की पहले ही आर्थिक संकट से गुजर रहा है और अमेरिका के साथ कूटनीतिक विवादों में उलझा हुआ है। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, हमारे मजबूत डॉलर के तुलना में तुर्की की करेंसी कमज़ोर है। तुर्की के साथ हमारे संबंध ठीक नहीं। इस बयान के बाद लीरा में तेज गिरावट आई। जुलाई में तुर्की की महंगाई दर 15.9% पहुंच गई। देश का कर्ज जीडीपी के 5% के स्तर पर है।

अमेरिका-तुर्की में विवाद की वजह : अमेरिका के पादरी एंड्रयू ब्रनसन को लेकर दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ा। तुर्की ने अक्टूबर 2016 में एंड्रयू को गिरफ्तार किया था। उन्हें रिहा नहीं करने पर अमेरिका ने आर्थिक प्रतिबंध लगाने की धमकी दी थी। तुर्की की अर्थव्यवस्था की हालत लगातार बिगड़ रही है। उसकी मुद्रा लीरा इस साल डॉलर के मुकाबले 40% कमजोर हो चुकी है। बिगड़ती अर्थव्यवस्था के बीच तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन ने पिछले हफ्ते कहा कि विदेशी ताकतों की वजह से उनकी मुद्रा में गिरावट जारी है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×