Hindi News »Business» Rupee Touch Record Low 0f 69.12 Per Dollar In Intra Day

रुपया अब तक के सबसे लो 69.12 तक लुढ़का, निचले स्तरों से रिकवर हुआ; 68.84 पर क्लोजिंग

रुपए का पिछला रिकॉर्ड लो 69.10 है जो इसने 28 जून को छुआ

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jul 21, 2018, 01:46 PM IST

रुपया अब तक के सबसे लो 69.12 तक लुढ़का, निचले स्तरों से रिकवर हुआ; 68.84 पर क्लोजिंग

- रुपए में डॉलर के मुकाबले लगातार तीसरे दिन गिरावट

- रुपया गुरुवार को 43 पैसे कमजोर हुआ

मुंबई. रुपया डॉलर के मुकाबले शुक्रवार को 69.12 तक गिर गया। ये अब तक का सबसे निचला स्तर है। इससे पहले 28 जून को इसने 69.10 का निचला स्तर छुआ था। रुपए की शुरुआत गुरुवार के मुकाबले 4 पैसे ऊपर 69.01 पर हुई लेकिन कुछ ही देर में गिरावट शुरू हो गई। हालांकि बाद में रिकॉर्ड निचले स्तर से रुपए में रिकवरी आई। ये 21 पैसे बढ़त के साथ 68.84 पर बंद हुआ। गुरुवार को डॉलर के मुकाबले ये 43 पैसे कमजोर होकर 69.05 पर बंद हुआ जो अब तक का सबसे निचला क्लोजिंग स्तर रहा। पहली बार रुपए की क्लोजिंग 69 के ऊपर हुई। चीन समेत दूसरे एशियाई देशों की करेंसी में भी डॉलर के मुकाबले इस साल कमजोरी रही है लेकिन रुपए पर सबसे ज्यादा असर हुआ है। सात महीने में ये 8% गिर चुका है।

रुपए में गिरावट की वजह :अमेरिकी डॉलर के मुकाबले चीन की मुद्रा युआन 0.28% कमजोर होकर 6.7943 पर आ गई। ये वैल्यू एक साल में सबसे कम है। युआन में गिरावट से रुपए पर भी असर पड़ा। कारोबारियों के मुताबिक अमेरिकी फेडरल रिजर्व बैंक के चेयरमैन के बयान और घरेलू राजनीतिक वजहों से भी रुपए में गिरावट आई है। फेडरल रिजर्व के चेयरमैन जेरोम पावेल ने बुधवार को अमेरिकी संसद के में कहा कि वहां की अर्थव्यवस्था बेहतर हो रही है। इस बयान के बाद अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ने की संभावना बन गई है। ऐसे में अमेरिकी डॉलर में दुनियाभर की करेंसी के मुकाबले तेजी देखी जा रही है। देश के राजनीतिक घटनाक्रम से भी मुद्रा बाजार पर असर हुआ है।

रुपया कमजोर होने से चार असर : पहला- भारतीयों के लिए विदेश यात्रा महंगी हो जाएगी। दूसरा- विदेश में पढ़ाई का खर्च भी बढ़ जाएगा। यात्रा और पढ़ाई इसलिए महंगी होगी क्योंकि करेंसी एक्सचेंज के लिए डॉलर के मुकाबले ज्यादा रुपए चुकाने होंगे। तीसरा- भारत के लिए क्रूड का इंपोर्ट महंगा हो जाएगा। इससे महंगाई बढ़ सकती है। चौथा- आईटी और फार्मा कंपनियों को रुपए की कमजोरी से फायदा होगा क्योंकि इनका बिजनेस एक्सपोर्ट से जुड़ा है।

पांच साल में रुपए के चार निचले स्तर

तारीखडॉलर के मुकाबले रुपया
20 जुलाई 201869.12
28 जून 201869.10
24 नवंबर 201668.86
28 अगस्त 201368.80

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×