Hindi News »Business» Sahara Saves Maharashtra Aamby Valley After Two Buyers Offer To Buy Company Properties

सहारा ग्रुप के एम्बे वैली प्रोजेक्ट को नहीं मिला खरीदार, लिक्विडेटर ने कोर्ट में दी जानकारी

कोर्ट ने सेबी-सहारा खाते में 1000 करोड़ जमा करने के आदेश दिए

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jul 12, 2018, 07:55 PM IST

सहारा ग्रुप के एम्बे वैली प्रोजेक्ट को नहीं मिला खरीदार, लिक्विडेटर ने कोर्ट में दी जानकारी
नई दिल्ली. सहारा ग्रुप के महाराष्‍ट्र में स्थित एम्‍बे वैली टाउनशिप को खरीदने के लिए कोई आगे नहीं आया। बॉम्बे हाईकोर्ट की ओर से नियुक्त लिक्विडेटर ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में यह जानकारी दी। सुप्रीम कोर्ट ने टाउनशिप की निगरानी के लिए रिसीवर नियुक्त कर लिक्विडेटर को नीलामी प्रक्रिया शुरू करने के लिए कहा था, ताकि इससे मिलने वाली रकम से निवेशकों का पैसा चुकाया जा सके।
सहारा ग्रुप ने कोर्ट को बताया कि सांई रिदम रियलटर्स प्राइवेट लिमिटेड और प्राइम डाउन टाउन रिएल एस्टेट फर्म मुंबई के वसई इलाके में उसकी प्रॉपर्टी खरीदना चाहते हैं। इसके बाद अदालत ने दोनों फर्मों को सेबी-सहारा खाते में 1,000 करोड़ रुपए जमा करवाने के निर्देश दिए।
सहारा के वकील विकास सिंह ने कहा कि वसई की संपत्ति बेचने से जो 1,000 करोड़ रुपए मिलेंगे वो सेबी-सहारा खाते में जमा करवा दिए जाएंगे। इस पर बेंच ने दोनों फर्मों को 99 करोड़ रुपए का डिमांड ड्राफ्ट डिपॉजिट करने को कहा। बाकी राशि जमा करवाने के लिए कोर्ट ने समय सीमा तय कर दी। दोनों फर्मों को 200 करोड़ रुपए 15 अगस्त तक और 682.8 करोड़ रुपए 12 सितंबर तक जमा करवाने होंगे। अगर चूक हुई तो इसे कोर्ट की अवमानना समझा जाएगा और जमा राशि जब्त कर ली जाएगी। सहारा ग्रुप ने न्यूयॉर्क में अपना होटल बेचने की जानकारी भी अदालत को दी। कोर्ट ने कहा कि इस सौदे की पूरी डिटेल और इससे मिली राशि किस काम में ली गई। इसकी जानकारी दी जाए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×