--Advertisement--

सैमसंग ने नोएडा में ही क्यों लगाया दुनिया का सबसे बड़ा मोबाइल मैन्यूफेक्चरिंग प्लान्ट? 8 खास बातें और फोटोज

सैमसंग के नोएडा प्लांट की स्थापना 1995 में की गई थी और 1997 में यहां पर टीवी का प्रोडक्शन शुरू हुआ था।

Danik Bhaskar | Jul 09, 2018, 06:50 PM IST

गैजेट डेस्क. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून-जे-इन ने साेमवार को सैमसंग के नोएडा स्थित नए प्लांट का उद्घाटन किया । कंपनी का दावा है कि ये दुनिया का सबसे बड़ा मोबाइल मैनुफैक्चरिंग प्लांट होगा। कंपनी का नोएडा स्थित प्लांट 1995 में खोला गया था और यहां सालाना 6 करोड़ 70 लाख मोबाइल फोन्स का प्रोडक्शन किया जाता है, लेकिन अब इनकी संख्या बढ़कर 12 करोड़ के आसपास पहुंच जाएगी। आइए जानते हैं इस फैक्ट्री से जुड़ी 8 खास बातें...

सवाल 1. सैमसंग ने भारत में ही क्यों लगाई सबसे बड़ी फैक्ट्री?

जवाब : इंटरनेशन डेटा कॉर्पोरेशन की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के बाद भारत दुनिया का दूसरे नंबर का सबसे बड़ा स्मार्टफोन मार्केट है। इसके अलावा भारत में स्मार्टफोन यूज करने वालों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। 2017 के अंत तक भारत में 29 करोड़ 90 लाख लोग स्मार्टफोन यूजर्स थे, जो 2018 के आखिरी तक बढ़कर 34 करोड़ पहुंचने की उम्मीद है। वहीं 2022 तक भारत में स्मार्टफोन यूज करने वालों की संख्या 44 करोड़ के पार पहुंचने का अनुमान है। इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखकर सैमसंग ने भारत में सबसे बड़ी फैक्ट्री लगाई।

सवाल 2. इसमें कितना खर्चा आया?
जवाब :
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सैमसंग ने इस प्लांट में 4,915 करोड़ रुपए खर्च किए हैं।

सवाल 3. सैमसंग की ये फैक्ट्री कितने एकड़ में फैली है?
जवाब :
नोएडा के सेक्टर-81 में बनी सैमसंग की ये फैक्ट्री 35 एकड़ में फैली हुई है। यहां पर मोबाइल, टीवी और रेफ्रिजरेटर का प्रोडक्शन किया जाएगा।

सवाल 4. इस फैक्ट्री की स्थापना कब हुई थी?
जवाब :
सैमसंग की नोएडा फैक्ट्री की स्थापना 1995 में की गई थी। 1997 में यहां पर टीवी का प्रोडक्शन शुरू हुआ और 2003 में रेफ्रिजरेटर भी बनाए जाने लगे। इसके बाद 2005 में सैमसंग ने पैनल टीवी का प्रोडक्शन भी यहां पर शुरू किया और 2007 में मोबाइल फोन्स बनाने भी शुरू कर दिए।

सवाल 5. अभी तक हर महीने यहां कितने मोबाइल फोन्स बनते थे?
जवाब :
अभी तक यहां पर हर महीने 50 लाख फोन्स बनते थे और सालाना करीब 6 करोड़ 70 लाख मोबाइल फोन्स का प्रोडक्शन किया जाता था।

सवाल 6. अब क्या फायदा होगा? क्या रोजगार भी मिलेगा?
जवाब :
इससे सबसे बड़ा फायदा सैमसंग को होगा, क्योंकि अब यहां पर हर महीने 1 करोड़ 20 लाख मोबाइल यानी सालाना 12 करोड़ मोबाइल फोन्स का प्रोडक्शन किया जा सकेगा। कहा जा रहा है कि इस फैक्ट्री से 15 हजार लोगों को भी रोजगार मिलेगा।

सवाल 7. क्या यहां बने मोबाइल बाहर भी एक्सपोर्ट किए जाएंगे?
जवाब :
हां, नोएडा की फैक्ट्री में बने मोबाइल फोन्स, टीवी और रेफ्रिजरेटर न सिर्फ भारत में बिकेंगे बल्कि सार्क देशों और बाकी देशों में भी इन्हें एक्सपोर्ट किया जाएगा।

सवाल 8. भारत में सैमसंग के कितने मैनुफैक्चरिंग प्लांट हैं?
जवाब :
भारत में सैमसंग के नोएडा को मिलाकर दो मैनुफैक्चरिंग प्लांट हैं। सैमसंग का दूसरा प्लांट तमिलनाडु के श्रीपेरुंबुदूर में बना है। इसके अलावा 5 रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेंटर और नोएडा में एक डिजाइनिंग सेंटर भी है। कुल मिलाकर सैमसंग के भारत में 70 हजार से ज्यादा कर्मचारी हैं।