विज्ञापन

सिर से पैर तक जब शरीर का कोई अंग फड़के तो क्या हो सकता है उसका मतलब?

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 05:00 PM IST

समुद्र शास्त्र में अंग फड़कने से संबंधित कई बातें बताई गई हैं, जो हमें भविष्य में होने वाली घटनाओं के बारे में बताती है।

samudra shastra, jyotish, astrology, ang fadkna, Oceanography, समुद्र शास्त्र, अंग फड़कना
  • comment

रिलिजन डेस्क। ज्योतिष शास्त्र के कई विभाग हैं। समुद्र शास्त्र भी उन्हीं में से एक है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रफुल्ल भट्ट के अनुसार, समुद्र शास्त्र में मानव शरीर के विभिन्न अंगों के अाधार पर व्यक्ति के नेचर व फ्यूचर के बारे में बताया गया है।

समुद्र शास्त्र में अंगों के फड़कने से संबंधित भी कई बातें बताई गई हैं, जो हमें भविष्य में होने वाली अच्छी-बुरी घटनाओं के बारे में संकेत करती है। इन्हीं बातों को हमारे समाज में शकुन-अपशकुन से जोड़कर देखा जाता है। आज हम आपको समुद्र शास्त्र में लिखे कुछ ऐसे ही संकेतों के बारे में बता रहे हैं-

1. समुद्र शास्त्र के अनुसार, जिस व्यक्ति को ठोड़ी फड़फड़ाती है, उसे स्त्री सुख मिलता है। साथ ही धन लाभ की संभावना भी रहती है।
2. मस्तक (माथा) फड़कने से भौतिक सुख (अच्छे कपड़े, खाना, घूमना) की प्राप्ति संभव है। कनपटी फड़के तो इच्छाएं पूरी होती हैं।
3. दाहिनी आंख व भौंह फड़के त सभी इच्छाएं पूरी हो सकती हैं। बाईं आंख व भौंह फड़के तो शुभ समाचार मिल सकता है।
4. दोनों गाल यदि फड़के तो धन की प्राप्ति हो सकती है। मुंह का फड़कना पुत्र की ओर से शुभ समाचार का सूचक होता है।
5. फोंठ फड़फड़ाए तो घनिष्ठ मित्र या रिश्तेदार से मिलना होता है।
6. दाहिनी ओर का कंधा फड़के तो धन-संपदा मिलने के योग बनते हैं। बाईं ओर का कंधा फड़के तो सफलता मिल सकती है।
7. हथेली में यदि फड़फड़ाहट हो तो व्यक्ति किसी विपदा में फंस सकता है। हाथों की उंगलियां फड़के तो दोस्त से मिलना होता है।
8. दाईं ओर का बाजू फड़के तो धन व यश लाभ तथा बाईं ओर की बाजू फड़के तो खोई हुई चीज मिलने के योग बनते हैं।
9. दाईं ओर की कोहनी फड़के तो किसी के विवाद हो सकता है। बाईं ओर की कोहनी फड़के तो धन की प्राप्ति संभव है।
10. पीठ फड़के तो विपदा में फंसने की संभावना रहती है। दाहिनी ओर की बगल फड़के तो आंखों का रोग हो सकता है।
11. पसलियां फड़के तो समस्या आ सकती है, छाती में फड़फड़ाहट मित्र से मिलने का सूचक होती है।
12. दिल का ऊपरी भाग फड़के तो झगड़ा होने की संभावना होती है। नितंबों को फड़कने पर प्रसिद्धि व सुख मिलता है।
13. दाहिने पैर का तलवा फड़के तो परेशानी आ सकती है। बाईं ओर का फड़के तो यात्रा पर जाना पड़ सकता है।

X
samudra shastra, jyotish, astrology, ang fadkna, Oceanography, समुद्र शास्त्र, अंग फड़कना
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें