--Advertisement--

शेयर बाजार रिकॉर्ड ऊंचाई पर: सेंसेक्स पहली बार 36548 पर बंद, निफ्टी 5 महीने बाद 11000 के ऊपर

कारोबार के दौरान सेंसेक्स ने 36699.53 का उच्च स्तर छुआ

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 05:05 PM IST

- पांच कारोबारी दिनों में सेंसेक्स को 973.86 का फायदा हुआ

- गुरुवार को एनर्जी, ऑयल एंड गैस और बैंकिंग शेयरों में ज्यादा खरीदारी

मुंबई. शेयर बाजार गुरुवार को रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया। सेंसेक्स 282.48 अंक की तेजी के साथ 36,548.41 पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान ये 36,699.53 तक चढ़ा। इससे पहले इंट्राडे में सेंसेक्स का उच्च स्तर 36,443.98 और क्लोजिंग स्तर 36,283.25 है जो 29 जनवरी को रहे। निफ्टी की क्लोजिंग 74.90 प्वाइंट ऊपर 11,023.20 पर हुई। इंट्राडे में इसने 11,078.30 का हाई बनाया। निफ्टी 31 जनवरी के बाद सबसे उच्च स्तर पर बंद हुआ। उस दिन 11,027.70 पर क्लोजिंग हुई। कच्चे तेल के रेट कम होने, डॉलर के मुकाबले रुपए में सुधार और मजबूत विदेशी संकेतों से बाजार में तेजी आई। एनर्जी, ऑयल एंड गैस और बैंकिंग शेयरों में जोरदार खरीदारी हुई।

शेयर बाजार में बढ़त की 5 वजह : पहली- बुधवार को ब्रेंट क्रूड 6.9% गिरकर 73.40 डॉलर प्रति बैरल रहा। दो साल में ये एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट है। लीबिया ने तेल सप्लाई फिर से शुरू करने का ऐलान किया जिसके बाद क्रूड के रेट गिरे। भारतीय तेल कंपनियों और ऑटो कंपनियों को इसका फायदा होगा। दूसरी- अमेरिका और चीन व्यापार विवाद सुलझाने के लिए बातचीत शुरू कर सकते हैं। इस खबर से भी शेयर बाजार में मजबूती आई। दुनिया की दो बड़ी अर्थव्यवस्था होने के नाते इन दोनों देशों के फैसलों का असर एशियाई शेयर बाजारों पर भी पड़ता है। तीसरी- डॉलर के मुकाबले रुपया गुरुवार को 19 पैसे मजबूत होकर 68.58 खुला। इससे शेयर बाजार के सेंटीमेंट में सुधार हुआ। चौथी- विदेशी निवेशकों (एफआईआई) ने बुधवार को 636.27 करोड़ के शेयर खरीदे। घरेलू निवेशकों (डीआईआई) ने भी 15.33 करोड़ की खरीदारी की। पांचवी- बैंकिंग सेक्टर के शेयरों में तेजी आई। यस बैंक 2% से ज्यादा चढ़ा। एसबीआई, आईसीआईसीआई, एक्सिस और इंडसइंड बैंक के शेयरों में भी 1.5% उछाल आया।

क्रूड सस्ता होने से तेल कंपनियों के शेयर चढ़े : कारोबार के दौरान हिंदुस्तान पेट्रोलियम (एचपीसीएल) का शेयर 4% से ज्यादा चढ़ा। आईओसी और बीपीसीएल में 3% से ज्यादा उछाल आया। हालांकि मुनाफावसूली की वजह से इन शेयरों को कुछ बढ़त गंवानी पड़ी। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के रेट घटने से इन कंपनियों के लिए इंपोर्ट सस्ता होगा। इसी उम्मीद में इनके शेयरों में अच्छी खरीदारी हुई। हालांकि उपभोक्ताओं को इसका फायदा नहीं मिला। तेल कंपनियों ने गुरुवार को पेट्रोल-डीजल के रेट बढ़ाए। दिल्ली में पेट्रोल 6 पैसे महंगा होकर 76.59 रुपए लीटर हुआ। डीजल में 7 पैसे की बढ़ोतरी की गई। अब ये 68.30 रुपए हो गया।